3 smugglers arrested with LSD drug

Local

घातक नशे के तीन सौदागर दबोचे

by Inextlive

Fri 13-Oct-2017 07:00:24

dehradun news,dehradun news today,dehradun news live,dehradun news headlines,dehradun latest news update,dehradun news paper today,dehradun news live today,dehradun city news,lsd narcotics,lsd druggs,lysergic acid diethylamide,lsd smuggler arrested,anti drug campaign of doon police,dehraun police

- आरोपियों से बरामद हुआ लिसर्जिक एसिड डायथिलेमाइड (एलएसडी)

- अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में बरामद एलएसडी की कीमत करीब 5 लाख रुपए

- हाई प्रोफाइल पार्टियों में यूज होता है यह घातक नशा

DEHRADUN: दून पुलिस ने ऋषिकेश त्रिवेणी घाट से लिसर्जिक एसिड डायथिलेमाइड (एलएसडी) नशे के तीन सौदागरों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से बरामद एलएसडी की कीमत अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में करीब भ् लाख रुपए बताया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक यह एक अलग तरह का नशा है, इस तरह का नशीला पदार्थ दूसरी बार पुलिस के हाथ लगा है।

एलएसडी है हाईप्रोफाइल नशा

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक एलएसडी नशे का यूज हाईप्रोफाइल पार्टियों में किया जाता है, यह अल्ट्रा मॉडर्न सॉफिस्टिकेटेड ड्रग्स है, जो मोस्ट पावरफुल साइकेडेलिक की श्रेणी में आता है। इस नशे को खास तौर से युवाओं द्वारा पब्स, रेव पार्टियों, कैम्पिंग के दौरान यूज किया जाता है। एलएसडी का असर इसे लेने के 8 से क्0 घंटे बाद होता है और ख्ब् घंटे तक इसका असर रहता है।

स्पेनिश व्यक्ति से िलया था नशा

पुलिस द्वारा आरोपियों से की गयी पूछताछ से पता चला कि एक माह पहले स्पेन के एक व्यक्ति से ऋषिकेश में एलएसडी नशा लिया गया था। जिसका अभी पेंमेंट नहीं किया गया है, इस नशे की एक ड्रॉप की कीमत ख् से फ् हजार रुपये है। नशे के आदी ब्लॉटर पेपर के रूप में इस नशे को चाटते हैं। इसके लक्षण पहचानना भी आसान नहीं है।

एलएसडी के दुष्परिणाम

एलएसडी का सेवन करने से मनोरोग होने की संभावना रहती है। यदि इंसान को इसकी लत लग जाए तो फिर इसे छोड़ना मुश्किल हो जाता है। इसका सबसे बड़़ा दुष्परिणाम यह होता है कि संबंधित व्यक्ति इसका लगातार यूज करने से अपना मानसिक संतुलन खो सकता है, इस सूरत में उसे फिर एलएसडी देना जरूरी हो जाता है।

ये है आरोपियों की पहचान

पुलिस के अनुसार दो आरोपी ऋषिकेश व एक आरोपी कनखल हरिद्वार का रहने वाला है। जिनमें से हरजोत सिंह उर्फ प्रिन्स पुत्र परमजीत सिंह निवासी डी क् सोमेश्वर लोक अपार्टमेन्ट गंगानगर व वरुण उपाध्याय पुत्र दिनेश उपाध्याय निवासी क्ब्फ् मायाकुंड ऋषिकेश का रहने वाला है। जबकि प्रेमचन्द्र पुत्र बनवारी लाल निवासी क्ख्9 आदर्श ग्राम कुम्हारबाड़ा में रहता है जिसका मूल पता मोहल्ला गढ़ा थाना कनखल जिला हरिद्वार का रहने वाला है.

- - - - - - - - - - - - - - - - - - - - -

पुलिस द्वारा नशे के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत तीनों आरोपियों को पकड़ा गया है। इनके कब्जे से एलएसडी बरामद हुआ है। ये एक नए तरह का नशा है जो काफी घातक है।

निवेदिता कुकरेती, एसएसपी, देहरादून।

inextlive from Dehradun News Desk

Related News
+