5-10 years old vehicles causes road accidents

Local

सड़कों पर पुराने वाहन बन रहे यमदूत

by Inextlive

Fri 21-Apr-2017 07:41:17

5-10 years old,vehicles,causes,road accidents,bareilly news

5- 10 वर्ष पुराने व्हीकल से हुए सबसे ज्यादा एक्सीडेंट्स

10- 15 वर्ष पुराने व्हीकल एक्सीडेंट्स में दूसरे नंबर पर

<भ्- क्0 वर्ष पुराने व्हीकल से हुए सबसे ज्यादा एक्सीडेंट्स

क्0- क्भ् वर्ष पुराने व्हीकल एक्सीडेंट्स में दूसरे नंबर पर

BAREILLY:

BAREILLY:

प्रदेश में रोड एक्सीडेंट्स के आंकड़ों में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। रोड एक्सीडेंट्स के ज्यादातर मामलों में पुराने या खटारा वाहन ही बड़ी वजह बनकर सामने आए हैं। वर्ष ख्0क्म् में पुराने वाहनों से सबसे ज्यादा एक्सीडेंट्स हुए हैं। इन हादसों में मरने वालों की संख्या भी काफी रही है। ऐसे में साफ है कि यदि सड़क पर गुजर रहे हैं तो खटारा वाहन से थोड़ी दूरी ही बनाकर रहें। ताकि आपकी जिंदगी सेफ रहे। पुराने वाहनों से हुए सड़क हादसों में पिछले एक वर्ष के दौरान फ्फ्ख् लोगों ने अपनी जान गंवाई.

ब्रेक फेल बड़ी वजह

जब भी कोई नया व्हीकल आता है तो उसके पुर्जे भी नए होते हैं। यही नहीं उसके क्लच, ब्रेक व गियर भी सही से काम करते हैं। ऐसे में सड़क पर एक्सीडेंट होने की संभावना भी काफी कम हो जाती है, लेकिन पुराने वाहनों में ऐसा नहीं होता है। वजह पुराने वाहनों में अधिकांश में समय पर ब्रेक नहीं लगते हैं या फिर ब्रेक फेल हो जाते हैं। वहीं कई बार स्टीयरिंग जाम होने की समस्या भी आती है। जिससे बड़ा हादसा होने का बड़ा खतरा होता है। ट्रैफिक पुलिस के आंकड़े भी इसकी पुष्टि कर रहे हैं.

भ्- क्0 साल पुराना, खतरनाक

पुराने वाहनों में भी सबसे ज्यादा भ् से क्0 वर्ष पुराने वाले व्हीकल्स हादसे की बड़ी वजह बने हैं। भ्- क्0 साल पुराने वाहनों से सबसे ज्यादा एक्सीडेंट्स के मामले दर्ज हैं। भ्- क्0 वर्ष पुराने वाहनों से साल ख्0क्म् में कुल क्9फ् मौतें हुई। इसके अलावा क्ब्9 लोग ग्रीवियस इंजरी और क्0भ् माइनर इंजरी के शिकार हुए हैं। वहीं दूसरे नंबर पर क्0- क्भ् वर्ष पुराने वाहनों से एक्सीडेंट्स हुए हैं। इनसे क्फ्9 फेटल, क्0म् ग्रीवियस इंजरी और म्क् माइनर इंजरी के केस रजिस्टर्ड किए गए हैं।

नए वाहन, हादसे कम

रोड एक्सीडेंट्स के मामलों में नए वाहनों से एक्सीडेंट की संख्या काफी कम रही है। 0- भ् वर्ष तक के पुराने वाहनों से 8ख् लोगों की जानें गई हैं। वहीं म्फ् लोग ग्रीवियस इंजरी और भ्म् माइनर इंजरी के शिकार हुए हैं। जबकि क्भ् वर्ष से अधिक पुराने वाहनों से भी एक्सीडेंट्स का आंकड़ा कम दर्ज किया गया है। इसकी वजह रोड पर इन व्हीकल्स की संख्या में कमी होना है। क्भ् वर्ष से अधिक पुराने व्हीकल से एक्सीडेंट में फ्ब् लोगों की जान गई। जबकि ग्रीवियस और माइनर इंजरी मिलाकर कुल भ्9 लोग घायल हुए हैं.

- - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - -

वाहनों की उम्र के मुताबिक एक्सीडेंट्स

ईयर फेटल ग्रीवियस इंजरी माइनर इंजरी

0- भ् 8ख् म्फ् भ्म्

भ्- क्0 क्9फ् क्ब्9 क्0भ्

क्0- क्भ् क्फ्9 क्0म् म्क्

क्भ् से अधिक फ्ब् फ्8 ख्क्

inextlive from Bareilly News Desk

Related News
+