वोल्टेज की मार से बचाएगी केमिकल अर्थिग

Mon 19-Jun-2017 07:41:32

- शहर के 80 फीसदी उपभोक्ताओं के यहां अर्थिग सिस्टम नहीं

- लो या हाई वॉल्टेज आते ही उपभोक्ता हो जाते हैं परेशान

abhishek.mishra@inext.co.in

LUCKNOW:

अब बिजली उपभोक्ताओं को हाई और लो वॉल्टेज आने पर परेशान होने की जरूरत नहीं है। बस इस समस्या से निजात पाने के लिए उपभोक्ता को अपने घर में केमिकल अर्थिग करानी होगी। इसके बाद वॉल्टेज की समस्या उन्हें 'करंट' नहीं मारेगी।

यह आती है समस्या

हर घर में कभी न कभी हाई या लो वॉल्टेज की समस्या देखने में आती है। इतना ही नहीं कई बार तो वॉल्टेज की आंख मिचौनी के कारण उपभोक्ता के घर में रखे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण तक फुंक जाते हैं। जिसकी वजह से उपभोक्ता परेशान होते हैं और इस समस्या से निजात पाने के लिए संबंधित उपकेंद्र में शिकायत भी दर्ज कराते हैं, लेकिन नतीजा सिफर रहता है।

इसकी जानकारी नहीं

लेसा के अधिकारियों की मानें तो ज्यादातर उपभोक्ता अपने घर में अर्थिग सिस्टम करवाना भूल जाते हैं। उपभोक्ताओं को लगता है कि स्टेब्लाइजर लगा लेने से समस्या खत्म हो जाएगी, जबकि ऐसा होता नहीं है। अगर कभी लो या हाई वॉल्टेज आता है तो वे उपकरण तो बच जाते हैं, जिनमें स्टेब्लाइजर लगा हुआ है लेकिन घर में लगे अन्य उपकरण फुंक जाते हैं। अधिकारियों की मानें तो उपभोक्ताओं को अर्थिग सिस्टम के बारे में जानकारी ही नहीं होती है।

इस तरह मिल सकती निजात

जानकारी के अनुसार, अगर उपभोक्ता अपने घर में केमिकल अर्थिग करवा लें तो उन्हें काफी हद तक वॉल्टेज की समस्या से निजात मिल सकती है। इसकेलिए उपभोक्ता किसी भी इलेक्ट्रिशियन को अपने घर बुलाएं और उसे केमिकल अर्थिग के बारे में जानकारी दें।

इस तरह होगी केमिकल अर्थिग

वह अपनी टीम की मदद से घर के प्रांगण में एक गहरा गड्ढा खोदेगा, जो तकरीबन ढाई मीटर की गहराई का होगा। इसके बाद वह उस गढ्डे में एक केमिकल सिलेंडर (बेहद छोटा) डाल देगा और उससे निकले वायर को आपके घर में लगे मेन मीटर से जोड़ देगी। इसके बाद उस गढ्डे को भर दिया जाएगा। बस फिर आपको अर्थिग संबंधी समस्या को लेकर परेशान नहीं होना पड़ेगा।

लेसा ने बढ़ाए कदम

अब अर्थिग सिस्टम को लेकर लेसा की ओर से उपभोक्ताओं को जागरुक भी किया जा रहा है। पहले चरण में पांच किलोवॉट से अधिक बिजली खपत वाले उपभोक्ताओं को केमिकल अर्थिग के बाबत जानकारी दी जा रही है।

यह बात सही है कि ज्यादातर उपभोक्ता अपने घरों में अर्थिग सिस्टम नहीं करवाते हैं। अब तो उपभोक्ता अपने घरों में केमिकल अर्थिग करवाकर वॉल्टेज की समस्या से निजात पा सकते हैं। हमारी ओर से भी उपभोक्ताओं को जागरुक किया जा रहा है।

आशुतोष कुमार, लेसा चीफ

inextlive from Lucknow News Desk

 
Web Title : Chemical Earthing Save By Voltage Loss