city news

Local

'अस्तित्व' पर करें शिकायत, मिलेगी राहत

Wed 13-Sep-2017 07:40:52

- पब्लिक की सहूलियत के लिए पुलिस ने अस्तित्व नाम से बनाया ट्विटर एकाउंट

- महिलाओं और बच्चों के साथ होने वाले अपराध की शिकायत पर हो रही है कार्रवाई

varanasi

Case- 1

दुर्गाकुंड की रहने वाली क्लास दसवीं की स्टूडेंट साइबर क्राइम की शिकार हुई। थाने का चक्कर लगाया। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर यूपी पुलिस के ट्विटर एकाउंट 'अस्तित्व' पर शिकायत की। कुछ ही दिनों में आरोपी पुलिस के शिकंजे में रहे.

ष्टड्डह्यद्ग- 2

सिगरा में रहने वाली छात्रा शोहदों से परेशान थी। कंट्रोल रूम से लेकर थाने तक में शिकायत की। शोहदों की हरकत पर लगाम नहीं लगा। छात्रा ने 'अस्तित्व' ट्विटर एकाउंट पर सारा मामला शेयर किया। छात्रा को शोहदों से निजात मिल गयी.

दोनों केसेज यह बताने के लिए काफी हैं कि यूपी के थानों में पुलिस महिला और बाल अपराध की शिकायत दर्ज नहीं करती है या आपके किसी मामले में कार्रवाई नहीं करती है, तो ऐसे में आपके पास एक आसान रास्ता है। यूपी में आप पुलिस के आलाधिकारी तक अपनी शिकायत अब सीधे ट्विटर के जरिए पहुंचा सकते हैं। यूपी पुलिस ने ट्विटर पर एक सेवा शुरू की है। जिसको नाम दिया गया है ''astitv'।

मिल रही पूरी जानकारी

यूपी पुलिस ने बाकायदा ट्विटर पर @ASTITV17 नाम से ट्विटर अकाउंट भी शुरू किया है। जिस पर सीधे लोग अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। यूपी पुलिस ने अपने ट्विटर हैंडल से एक फोटो जारी करके महिलाओं और बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराध के बारे में बताया है। कौन- कौन से अपराध घरेलू हिंसा में आते हैं बताया गया है। शिकायतकर्ता यूपी पुलिस के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल @Uppolice के अलावा यूपी 100 के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल के साथ ही महिला हेल्पलाइन 1090 के ट्विटर अकाउंट पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

शिकायत पर कार्रवाई निश्चित

यूपी पुलिस के ट्विटर एकाउंट की पहल कारगर साबित हो रही है। इस पर हर रोज बड़ी संख्या में शिकायत आ रही है। ट्विटर एकाउंट आला अधिकारियों के सामने होने की वजह से कार्रवाई भी तुरंत हो रही है। जिन लोगों ने अपनी शिकायत की उनमें से कइयों को न्याय भी मिल गया है। फिलहाल पुलिस की ये पहल महिला अपराध और बाल अपराध पर लगाम लगाने के कदम के तौर पर देखा जा रहा है। यूपी पुलिस ने सबसे पहले ट्विटर पर सर्विस शुरू किया था। जिसका नाम TwitterSeva रखा गया था हालांकि ये सेवा पिछले सरकार के कार्यकाल में शुरू हुई थी जिसके बाद यूपी पुलिस के आलाधिकारी से लेकर स्थानीय पुलिस ट्विटर पर पूरी तरह सक्रिय रहते हैं.

पब्लिक की सुरक्षा को लेकर पुलिस गंभीर है। हर किसी की शिकायत दर्ज हो और उसे न्याय मिले इसके लिए ट्विटर एकाउंट भी मौजूद है। इस पर कोई भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है.

बी महापात्रा, एडीजी

inextlive from Varanasi News Desk

Related News