Cleanliness claims have become redundant

Local

साफ-सफाई के दावे हो गए बेमानी

Tue 12-Sep-2017 07:41:10

- अभी तक नहीं हो सकी नौचंदी मैदान की पैमाइश

- कमिश्नर के आदेश के बावजूद साफ- सफाई के दावे बेअसर

रियल्टी चेक

मेरठ। कमिश्नर के आदेश के बावजूद भी नौचंदी मैदान की हालत नहीं सुधर सकी है। एक ओर मैदान में कीचड़ है तो दूसरी ओर लोग मैदान में ही जानवरों को बांध रहे हैं। गौरतलब है कि बीते दिनों कमिश्नर डॉ। प्रभात कुमार ने निरीक्षण के दौरान नौचंदी मैदान की दुर्दशा पर चिंता जताई थी। इसके लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया था।

पैमाइश पर दुविधा

नौचंदी मैदान के हक को लेकर भी उधेड़बुन है। नगर निगम और जिला पंचायत इस जमीन पर अपना अपना दावा ठोंक रहे हैं। हालांकि अभी तक नौचंदी मैदान की पैमाइश ही नहीं हो सकी है। कमिश्नर डॉ। प्रभात कुमार ने शनिवार को नौचंदी मैदान का दौरा किया था। मैदान के खस्ताहाल पर उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को जमकर फटकार भी लगाई थी। हालांकि रविवार को तो साफ- साफ की गई। लेकिन सोमवार को स्थिति जस की तस नजर आई।

वर्जन

नौचंदी मैदान की सफाई कराई जा रही है। दोपहर में कर्मचारी सफाई करने गए थे। एक दिन में वहां की सफाई होना संभव नहीं है। मैदान बहुत बड़ा है। एक दो दिन में वहां पर सफाई का काम पूरा हो जाएगा। एक टीम नियमित सफाई के लिए भी वहां पर तैनात है।

डॉ। कुंवर सेन, नगर स्वास्थ्य अधिकारी नगर निगम

inextlive from Meerut News Desk

Related News