Day of celebration of Shemesh Akhara celebrated with pomp on Friday

Local

जिसे श्रीराम ने स्वीकारा, उसे मान्यता की नहीं जरूरत

Thu 12-Oct-2017 07:00:50

शुक्रवार को धूमधाम से मनाया जाएगा किन्नर अखाड़े का स्थापना दिवस

ALLAHABAD: हम भगवान शिव के भक्त हैं, जिन्हें अ‌र्द्धनारीश्वर के रूप में पूजा जाता है। हमें मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम ने स्वीकारा है तो हमें किसी अखाड़ा परिषद से मान्यता की आवश्यकता नहीं है। किन्नरों को प्रभु श्रीराम ने मान्यता व सम्मान दिया था। किन्नर अखाड़ा के आचार्य पीठाधीश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने बुधवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद हमें मान्यता दे या न दे, इससे कोई फर्क नही पड़ता। वह शंकराचार्य आश्रम में बुधवार को आए थे।

अ‌र्द्धकुंभ में भव्यता करेंगे शिरकत

प्रयाग की धरती पर 2019 में लग रहे अ‌र्द्धकुंभ पर्व में किन्नर अखाड़ा भव्यता से शामिल होगा। वह अखाड़ा परिषद द्वारा फर्जी बाबाओं की जारी की गई सूची पर खुलकर बोलने से बचते रहे। उन्होंने कहा कि धर्म हो या अन्य मामला, गलत काम करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को सजा मिलनी ही चाहिए। यह वही जानता है जिसने फर्जी बाबाओं की सूची जारी की है। हमें असली और नकली में फर्क करने का अधिकार नही है। बताया कि किन्नर अखाड़ा का तीसरा स्थापना दिवस शुक्रवार को शंकराचार्य आश्रम अलोपीबाग में सुबह सात बजे धूमधाम से मनाया जाएगा। जिसमें बड़ी संख्या में संत- महात्मा उपस्थित रहेंगे।

inextlive from Allahabad News Desk

Related News