No Proper Security Check Arrangements at Gorakhpur Railway Station

Local

कोई आए, कोई जाए, यहां कोई रोकता नहीं..

by Inextlive

Mon 17-Jul-2017 07:40:54

train,gorakhpur train,security,station,railway station,danger,terror,alert,railway,ner,gorakhpur news,gorakhpur news today,gorakhpur news live,gorakhpur news headlines,gorakhpur latest news update,gorakhpur news paper today,gorakhpur news live today,gorakhpur city news

i reality check

- विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद भी नहीं बढ़ी गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा

- कहीं स्कैनर है खराब तो कहीं खुले रास्तों से बिना रोक- टोक हो रही है लोगों की एंट्री

GORAKHPUR: विधानसभा में मिले विस्फोटक के बाद पूरे प्रदेश में अलर्ट जारी करते हुए सभी माननीयों के साथ ही पब्लिक प्लेस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट रिपोर्टर ने रविवार को विश्व प्रसिद्ध गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा की स्थिति का रिएलिटी चेक किया। रिपोर्टर किसी भी रास्ते से आता- जाता रहा, कहीं किसी ने न रोका, न टोका, न जांच की। यही नहीं, अन्य पब्लिक भी इसी तरह बेरोक- टोक आती- जाती नजर आई और सुरक्षा में लगे जवान तमाशबीन बने रहे.

- - - - - - - - - - -

सीन- 1

प्लेस : पुराना पार्सल ऑफिस

टाइम : दोपहर 2 बजे

सिचुएशन : दैनिक जागरण आई नेक्स्ट टीम रेलवे जंक्शन की ओर स्थित पुराना पार्सल ऑफिस पहुंची। यहां खड़ी होकर टीम करीब एक घंटे तक वाच करती रही। हजारों पैसेंजर्स अपना सामान लिए बिना चेकिंग प्लेटफॉर्मो पर जाते और वहां से बाहर आते नजर आए। वहां तैनात आरपीएफ व जीआरपी हाथ पर हाथ धरी बैठी रही। किसी की, कहीं, कोई चेकिंग नहीं हो रही थी.

- - - - - - - - - - -

सीन - 2

प्लेस : फ‌र्स्ट क्लास गेट

टाइम : दोपहर 3 बजे

सिचुएशन : टीम फ‌र्स्ट क्लास गेट पर पहुंची। इस गेट से इंट्री करते ही लगेज स्कैनर पर आरपीएफ का एक जवान बैठा दिखा। लगा कि वह चेक करेगा लेकिन हैरानी वाली बात रही कि किसी भी पैसेंजर्स के सामानों की चेकिंग नहीं हो रही थी। रिपोर्टर ने जब आरपीएफ जवान से इसके बारे में जानकारी ली तो पता चला कि मशीन करीब 10 दिनों से खराब पड़ी है।

- - - - - - - - - - -

सीन- 3

प्लेस : दिव्यांग गेट

टाइम : 3.45 बजे

सिचुएशन : गेट नंबर एक पर स्थित दिव्यांगों के लिए बने गेट पर टीम पहुंची तो यहां भी वैसा ही नजारा मिला। दिव्यांग तो एक भी नहीं दिखे, अन्य पैसेंजर्स भी बिना चेकिंग खुलेआम आते- जाते रहे। न कहीं कोई चेकिंग हो रही थी, न ही कोई सुरक्षा दिखी। इस गेट से होकर पैसेंजर्स प्लेटफॉर्म नंबर एक से सीधे बाहर बने रिक्शा स्टैंड की तरफ निकल जाते और कहीं कोई रोकता- टोकता नहीं.

- - - - - - - - - - - - -

यहां से भी होती बेरोकटोक एंट्री

- धर्मशाला और चारफाटक की ओर से प्लेटफॉर्म नंबर 2 पर एंट्री

- प्लेटफॉर्म नंबर एक पर बने दिव्यांगों को रास्ते से वेटिंग हॉल में एंट्री

- प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर कैबवे के रास्ते सीधा जीआरपी थाने पर एंट्री

- प्लेटफॉर्म नंबर 2 पर पुराने पार्सल ऑफिस के रास्ते खुली एंट्री

- धर्मशाला ओवरब्रिज के रास्ते सीधा प्लेटफॉर्म नंबर 2 पर एंट्री

- सेकेंड एंट्री गेट की तरफ से प्लेटफॉर्म नंबर 9 पर एंट्री

- - - - - - - - - -

कॉलिंग

इतने बड़े रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के नाम पर कुछ भी खास नहीं है। कहीं कोई चेकिंग नहीं हो रही है। जो सुरक्षा कर्मी दिख भी रहे हैं, वे सिर्फ जनरल कोच की लाइन लगवाने में बिजी हैं।

मुकेश, पैसेंजर

गेट पर मशीन होते हुए भी सामानों की चेकिंग नहीं हो रही है। यहां इतने रास्ते हैं कि जो भी जैसे चाहे स्टेशन परिसर में बड़ी ही आसानी से आ सकता है। सुरक्षा भगवान भरोसे ही है.

अंजनी शर्मा, पैसेंजर

- - - - - - - - - - -

वर्जन

जंक्शन से लेकर ट्रेन या पैसेंजर्स की सुरक्षा में किसी तरह की चूक नहीं होने दी जाएगी। रेलवे स्टेशन के सभी गेटों से लेकर ट्रेन व प्लेटफॉर्मो पर विशेष सावधानी बरतने का निर्देश दिया गया है। बावजूद इसके अगर आरपीएफ जवानों की ओर से सुरक्षा में किसी तरह की लापरवाही बरती गई तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा.

राजाराम, चीफ सिक्योरिटी कमिश्नर, आरपीएफ

inextlive from Gorakhpur News Desk

Related News
+