once again lu mese closed

Local

एलयू में एक बार फिर बंद हुआ सेंट्रल मेस

Tue 12-Sep-2017 07:41:07

- देर रात सीसीटीवी कैमरे चोरी, इस बार शाम में उखाड़े गए कैमरे

- मेस की सुरक्षा में लगे गार्ड तक को नहीं लगी चोरी होने की भनक

LUCKNOW :

एलयू सेंट्रल मेस का संचालन यूनिवर्सिटी प्रशासन के लिए सिरदर्द बन गया है। बाहरी स्टूडेंट्स पर खाने की रोक लगाने का असर मेस संचालन पर पड़ रहा है। संडे शाम सात बजे कुछ स्टूडेंट्स मेस के सीसीटीवी कैमरे उखाड़ ले गए। इसमें दो डाइनिंग हॉल के भी हैं। इसके विरोध में मेस संचालक ने सोमवार को मेस बंद कर दी। न तो मेस में स्टूडेंट्स को नाश्ता दिया गया न ही खाना। मंडे सुबह स्टूडेंट्स नाश्ते के लिए पहुंचे तो उन्होंने विरोध भी किया। इस घटना से अब आम स्टूडेंट्स सवाल उठाने लगे हैं कि जो यूनिवर्सिटी प्रशासन एक मेस नहीं चलवा पा रहा है, वो भला यूनिवर्सिटी को कैसे चलाएगा.

दो हफ्ते में तीसरी घटना

इससे पहले भी इस तरह की घटना पिछले दो वीक में हो चुकी हैं। अगस्त लास्ट वीक में जहां बाहरी स्टूडेंट्स ने बायोमैट्रिक मशीने तोड़ दी थीं। तो वहीं दो सितंबर को आधी रात में कुछ लोग सीसीटीवी कैमरे की फुटेज रिकॉर्ड करने वाली डीवीआर मशीन चोरी कर ले गए थे। इसके बाद तीन सितंबर को मेस जब बंद हुई तो भारी संख्या में स्टूडेंट्स ने वीसी आवास का घेराव कर प्रदर्शन किया। ऐसे में वीसी के आश्वासन के बाद मेस शुरू की गई और सुरक्षा के कई दावे भी किये गए। दोबारा इस तरह की घटना से एक बार फिर से एलयू वीसी के सारे दावों को फ्लाप साबित कर दिया.

ले गए प्याज की बोरी

मेस के कर्मचारियों ने बताया कि मंडे को जब स्टूडेंट्स को सुबह नाश्ता नहीं दिया गया तो स्टूडेंट्स का एक गुट कार से आया और प्याज की बोरी और चावल के दो झोले उठा ले गया। साथ ही मेस संचालक से अभद्रता भी की। इसके बाद मेस के कर्मचारियों ने अपने लिए दोपहर में तहरी बनाई तो अचानक कुछ स्टूडेंट्स आए और खाना मांगने लगे। जब उन्हें बताया गया कि खाना नहीं है तो उन्होंने कर्मचारियों की बनाई तहरी जबरदस्ती लेकर खा ली.

नहीं होता एक्शन

सेंट्रल मेस में ही पिछले दिनों में कई घटनाएं हो चुकी है लेकिन यूनिवर्सिटी प्रशासन ने किसी पर भी कार्रवाई नहीं की है। आरोपियों की पहचान होने के बाद भी प्रॉक्टर की ओर से कोई सख्त कदम नहीं उठाया गया। कुछ स्टूडेंट्स के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज कराया गया तो लचर रवैये के चलते वहां से भी स्टूडेंट्स उसी दिन छूट गए। यही कारण है कि सभी उपद्रवियों के हौसले बुलंद हैं। अगर यूनिवर्सिटी प्रशासन एक स्टूडेंट्स पर भी कार्रवाई कर देता तो दूसरे बवालियों के हौसले पस्त हो जाते.

गा‌र्ड्स को किया सस्पेंड

मंडे की घटना के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने संडे की रात तैनात गाडरें को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही जो गार्ड उस समय हॉस्टल में तैनात थे उन्हें भी सस्पेंड करने की कार्रवाई की गई है। इसके अलावा किसी भी स्टूडेंट्स की पहचान नहीं हुई है। ऐसे में अज्ञात स्टूडेंट्स पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए एलयू प्रशासन ने तहरीर दी है.

पुलिस के सामने हुई लूट

एलयू वीसी का कहना है कि पुलिस के सामने लूट हुई है। मेस संचालक ने 100 नंबर डायल किया था। पुलिस भी मौके पर थी उनके सामने ही सभी आरोपी कैमरे और खाना ले गए। ऐसे में यह बड़ा सवाल है कि अब सुरक्षा कौन करेगा.

अभी पूरे मामले की जांच शुरू कर दी गई है। मेस संचालन दोबारा से शुरू कर दिया जाएगा। किसी स्टूडेंट्स का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। जल्द ही पूरी समस्या का निपटारा कर दिया जाएगा।

प्रो। एसपी सिंह, वीसी, एलयू

inextlive from Lucknow News Desk

Related News