Rate of Vegetables on Hike After Rain

Local

बारिश के बाद हरी सब्जियों के दाम छू रहे आसमान

Tue 18-Jul-2017 07:40:03

- अब किलो नहीं पाव बता सब्जी बेच रहे दुकानदार

- थोक मंडी से लेकर फुटकर में बढ़ गए हैं रेट

GORAKHPUR: चार दिन तक हुई बारिश से हरी सब्जियों की कीमत में काफी उछाल आ गया है। महेवा सब्जी मंडी में पहले जो भिंडी 15 से 16 रुपए प्रति किलो उपलब्ध थी, वह अब फुटकर में 40 रुपए प्रति किलो बिक रही है। वहीं थोक में पांच से छह रुपए प्रति पीस बिकने वाला कद्दू अब 30 रुपए तक पहुंच गया है। दीवानी कचहरी स्थित सब्जी मंडी के दुकानदारों ने बताया कि खीरा जो बारिश के पहले थोक में 16 रुपए किलो था, वह अब फुटकर में 40 रुपए के भाव से बिक रहा है। हरी मिर्च भी 20 रुपए प्रति किलो की जगह 60 रुपए किलो पर पहुंच गई है।

रेट का ये है हाल

सब्जी वर्तमान थोक रेट दस दिन पहले फुटकर रेट

बोड़ा 30- 35 20- 25 60

परवल 27- 28 12- 13 60

नेनूवा 30- 35 20- 25 60

लौकी 16- 17 12- 13 40

करैला 25- 30 20- 25 60

हरी मिर्च 20- 25 15- 20 60

भिंडी 20- 25 15- 16 40

कद्दू 7- 08 05- 06 30

खीरा 15- 18 15- 16 40

नोट- ये रेट प्रति किलो के हिसाब से हैं.

कोट्स

सब्जी बाजार में जाने से पहले सोचना पड़ रहा है क्योकि इस समय सब्जियों के रेट आसमान छू रहे हैं। जहां किलो में सब्जी खरीदते रहे, वहीं अब सिर्फ पाव में ही काम चलाना पड़ रहा है.

अरूप राय, प्रोफेशनल

किचन का बजट बिगड़ गया है। जब सब्जी का रेट सस्ता था तो कई हरी सब्जियों से काम चलाया जाता था लेकिन महंगाई के चलते अब एक ही सब्जी से काम चलाना पड़ रहा है।

- अनुराधा राय, हाउस वाइफ

ऐसा लग रहा है कि सब्जी पर भी टैक्स लग रहे हैं। महंगाई के चलते आम जनता परेशान है। किसी का भी इस पर नियंत्रण नहीं रह गया है.

- नीर सिंह, प्रोफेशनल

बारिश की वजह से नदियों के किनारे पैदा होने वाली सब्जियां सड़ गई। जिसकी वजह से थोक मंडी में आवक कम हो गई है। बलिया और गाजीपुर से परवल आदि सब्जी आती थी अब वह नहीं आ रही है। मंडी में जहां पहले दस से 15 गाडि़यां आती थी। अब वह घटकर चार से पांच हो गई है.

शिवनारायण, थोक सब्जी कारोबारी

inextlive from Gorakhpur News Desk

Related News