Solid waste management fail in Agra

Local

सॉलिड वेस्ट के नाम पर धोखा

Sat 07-Oct-2017 07:01:18

- हरीभरी कंपनी ने कर्मियों को तीन महीने से नहीं दी पगार

- ऑफिस का शटर डाउन, कर्मियों के चेक हो गए बाउंस

आगरा। शहर की सॉलिड सफाई के नाम पर शहरवासियों से धोखाधड़ी की जा रही है। हरीभरी कंपनी ने सफाई कर्मियों को पिछले कई महीनों की पगार नहीं दी है। इससे कर्मियों ने पिछले पांच दिनों से घर- घर कचरा उठाने का काम बंद कर दिया। हालात ये हैं कि सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट से साफ- सफाई करने वाली हरीभरी कंपनी का कार्यालय का शटर भी कई दिनों से खुला नहीं है। नगर निगम इनसे बेखबर है.

पांच दिनों से सफाई ठप

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के नाम पर हरीभरी कंपनी ने ताजगंज एरिया के घर- घर से कचरा उठाने की शुरुआत जून 2017 से की। इस कार्य में लगभग 107 कर्मी लगाए गए। इन्हें तीन महीने की पगार नहीं दी गई है। कर्मियों ने रुपये की मांग की तो चेक पकड़ा दिए गए। इन्हें बैंक में लगाया, जो बाउंस हो गए। इससे नाराज कर्मियों ने ताजगंज एरिया से साफ- सफाई का काम पिछले पांच दिनों से बंद कर दिया है।

थाने तक पहुंचा मामला

कर्मियों का मामला थाने हरीपर्वत से लेकर ताजगंज तक पहुंच चुका है। उन्हें धमकी भी दी जा रही हैं। लेकिन वे अपनी मांग को लेकर डटे हुए हैं। वहीं दूसरी ओर नगर निगम पूरी घटना से ही बेखबर है। उसे जानकारी तक नहीं कि ताजगंज में साफ- सफाई बंद है.

आयुक्त से की शिकायत

हरीभरी कंपनी के सुपरवाइजर, ड्राइवर और सफाई कर्मी नगर निगम कार्यालय पहुंचे। उन्होंने आयुक्त अरुण प्रकाश से मुलाकात करके शिकायत की। आयुक्त ने लिखित शिकायत का सुझाव दिया और भुगतान कराने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान अजीम उस्मानी, निक्की कुमार, सियाराम, रविंद्र सिंह, जगदीप, कृष्ण कुमार, गुलशन कुमार, सन्नो देवी, दिलावर, जितेंद्र समेत अन्य लोग मौजूद रहे.

अधिकारियों के छूटे पसीने

शहर की साफ- सफाई सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत करनी है। इसे लागू करने को लेकर नगर निगम में लगातार दबाव बढ़ रहा था। इस पद्धति से सफाई के लिए नगर निगम ने हरीभरी कंपनी से अनुबंध किया। कंपनी तीन महीने में ही असफल साबित हो रही है। निगम भी काम से संतुष्ट नहीं है। दोनों के बीच अनुबंध टूटने के कगार पर है। इससे नगर निगम की भी बदनामी होगी।

107 कर्मी हैं तैनात

हरीभरी कंपनी में सुपरवाइजर, लेबर और ड्राइवर के रूप में 107 कर्मी तैनात किए गए हैं। इनसे ताजगंज एरिया की सफाई की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, जिनका तीन महीने से वेतन नहीं मिला, तो वहां भी काम ठप हो गया है

inextlive from Agra News Desk

Related News