vegetable rate more than fruits

Local

लौहनगरी में फलों से ज्यादा महंगी बिक रहीं सब्जियां

by Inextlive

Mon 17-Jul-2017 07:40:19

vegetable rate more than fruits,jamshedpur news,jamshedpur news today,jamshedpur news live,jamshedpur news headlines,jamshedpur latest news update,jamshedpur news paper today,jamshedpur news live today,jamshedpur city news

abhishek.piyush@inext.co.in

JAMSHEDPUR: इन दिनों हरी सब्जियों की कीमतों में आग लग गई है। इससे आम आदमी के खाने- पीने का जायका बिगड़ गया है। थोक और खुदरा सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि बरसात की वजह से सब्जियों की आवक कम हो गई है। शहर की सब्जी मंडियों में मौसमी हरी सब्जियों के दाम भी इतने ज्यादा है कि ग्राहक एक किलो सब्जी खरीदने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। लौकी, करेला, कद्दू, शिमला मिर्च जैसी सब्जियां आम दिनों में ख्0- फ्0 रुपए किलो बिकती थी, आज वे म्0- 80 रुपए किलो तक पहुंच गई हैं। शहर में हरी सब्जियों के मुकाबले फलों की कीमत सस्ती है।

बजट से बाहर हुआ टमाटर

बारिश होने से गर्मी तो कम हो गई पर टमाटर का चेहरा इन दिनों और ज्यादा लाल हो गया है। टमाटर धनिया, मिर्च आदि के दाम तीन गुणा तक बढ़ गए हैं। दो- तीन हफ्ते पहले भ्0 रुपए किलो में बिकने वाली धनिया पत्ती अब क्80 रुपए किलो और क्0 से क्भ् रुपए किलो में बिकने वाला टमाटर अभी क्00- क्ख्0 रुपए किलो बिक रहा है।

रसोई का बजट बिगड़ा

सब्जियों में भावों की बढ़ोतरी से गृहणियों की रसोई का बजट बिगाड़कर रख दिया है। सब्जी व्यापारियों का कहना है कि नासिक में फसल खराब होने की वजह से फिलहाल कर्नाटक से टमाटर आ रहा है। वहीं शिमला मिर्च, परवल, गिलकी, भिंडी बिहार के आस पास के अलावा महाराष्ट्र से आ रहा है.

सोशल साइट्स पर छाया टमाटर

टमाटर और हरे धनिए के बढ़े भावों को लेकर युवा सोशल साइट फेसबुक व व्हाट्स अप पर मजेदार कमेंट कर एक- दूसरे का मनोरंजन कर रहे हैं। कोई अपने जन्मदिन पर दोस्त से उपहार में एक किलो टमाटर मांग रहा है तो कोई फूलों के गुलदस्ते की जगह हरे धनिया का गुलदस्ता देने का कार्टून पोस्ट कर रहा है। यानी की सब्जियों के बढ़े दाम यूथ के लिए सोशल साइट्स पर मनोरंजन का साधन बना हुआ है.

सब्जियों के मौजूदा रेट

हरी मिर्च : भ्0- म्0 रुपए प्रति किलो

शिमला मिर्च : म्0- 80 रुपए प्रति किलो

टमाटर : 80- क्00 रुपए प्रति किलो

धनिया पत्ता : क्भ्0- ब्म्0 रुपए प्रति किलो

फूल गोभी : क्00 रुपए पीस

फलों के दाम

केला : फ्0 रुपए दर्जन

अमरूद : ब्0 रुपए प्रति किलो

अनार : 80 रुपए प्रति किलो

पपीता : ब्0 रुपए प्रति किलो

आम : भ्0 रुपए प्रति किलो

सेब : 80 रुपए प्रति किलो

बारिश की वजह से फसल खराब होने के चलते सब्जियों की आवक कम हो गई है। इस वजह से सब्जियों का दाम काफी ज्यादा बढ़ गया है.

रंजन कुमार ठाकुर, सब्जी व्यपारी

क्0 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर आजक ल 80- क्00 रु पए कि लो बिक रहा है। हम लोग मध्यम परिवार से आते हैं। क्00 रुपए किलो टमाटर खरीद कर नहीं खा सकते.

मनीषा कुमारी, काशीडीह

अभी ठिक से बारिश भी नहीं हुई और सब्जियों के दाम आसमान छूने को है। ऐसे में क्00 रुपये किलो टमाटर खाने से अच्छा है कि हम कुछ दिनों के लिए टमाटर खाना ही बंद कर दे.

सूरज कुमार, गोलमुरी

सब्जियों के दाम हर साल बरसात के मौसम में थोड़ा ज्यादा होता है, लेकिन इस वर्ष बरसात के पहले ही सब्जियों के दामों में अच्छी खासी बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में देखने होगा कि आगे रेट कितना बढ़ता है.

- विशाल कुमार, मानगो

inextlive from Jamshedpur News Desk

Related News
+