क्या बड़े हादसे के बाद ही जागेगी एयरपोर्ट अथॉरिटी

Mon 17-Jul-2017 07:40:26

- हवाई नगर से सटे ग्रीन जोन में है सैकड़ों पक्षियों का बसेरा

- रविवार को 4 बजकर 26 मिनट पर जब इंडिगो की फ्लाइट ने लैंड किया उस समय भी रनवे के आकाश पर उड़ रहे थे पक्षी

- एयरपोर्ट के आसपास के एरिया में फेंके गये कचरे से आकर्षित होते हैं पक्षी

स्त्रड्ड4ड्डठ्ठड्डठ्ठस्त्र.ह्मश्र4@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

RANCHI (16 छ्वह्वद्य4): रांची का बिरसा मुंडा एयरपोर्ट एक और हादसे का इंतजार कर रहा है। एयरपोर्ट पर हादसा इसके रनवे के आसपास उड़नेवाले पक्षियों से होने की पूरी संभावना है। रविवार को भी 4 बजकर 26 मिनट पर एयरपोर्ट के रनवे पर इंडिगो की फ्लाइट ने लैंड किया। रनवे की दीवार पर चिडि़या उड़ रही थी। इसके अलावा हवाई नगर इलाके में एयरपोर्ट की चाहरदीवारी से सटा जो ग्रीन जोन है उसमें सैकड़ों पक्षियों का बसेरा है। ये पक्षी रनवे के आकाश पर उड़ते रहते हैं। रविवार को भी रनवे से सटी चाहरदीवारी पर ये पक्षी उड़ रहे थे.

कचरे से दाना चुनते हैं पक्षी

एयरपोर्ट से सटे होटल ग्रीन एकड़ के पास जो अपार्टमेंट हैं उनका कचरा सामने के डस्टबीन में न जाकर सड़क पर बिखरा हुआ था जिसे खाने पक्षी आते हैं। इसके अलावा आसपास के कुत्ते भी इस कचरे को भोजन की तलाश में इधर- उधर बिखेर देते हैं। यह भी चिडि़यों के झुंड को आकर्षित करता है। एयरपोर्ट के आसपास के एरिया में कौआ, कोयल, गौरेया और अन्य पक्षियों का बसेरा है। यही पक्षी कभी- कभार एयरपोर्ट के रनवे से उड़ान भर रहे विमान से टकरा जाते हैं और विमान बर्ड हिट का शिकार बन जाता है.

बर्ड हिट का शिकार हुआ था विमान

शनिवार सुबह 9 बजकर 34 मिनट पर एयर एशिया का विमान बर्ड हिट का शिकार हुआ था। विमान में 180 यात्री सवार थे। बर्ड हिट के बाद विमान के इंजन से चिंगारी निकली थी और विमान के चीफ पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर विमान को रोक दिया था। इस हादसे के बाद 25 यात्रियों ने अपनी यात्रा रदद कर दी थी। विमान के बर्ड हिट होने के बाद यात्रियों में अफरा- तफरी मच गयी थी। दुर्घटना के बाद विमान के इंजिन के सात ब्लेड टूट गये थे.

सबसे ज्यादा बर्ड हिट का शिकार हुआ किंगफिशर का विमान

बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर अब तक एक दर्जन के लगभग हादसे हो चुके हैं। हालांकि इसमें यात्रियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। इन एक दर्जन हादसों में दस में बर्ड हिट से विमान को नुकसान पहुंचा था। बर्ड हिट का शिकार बननेवाले विमानों में सबसे ज्यादा चार हादसे किंगफिशर के साथ हुए। वहीं जेट एयरवेज का दो, इंडिगो का दो और गो एयर का एक विमान बर्ड हिट का शिकार बना है। इसके अलावा एकाधिक मामलों में एयरपोर्ट पर उतरनेवाले विमान का टायर ब‌र्स्ट हुआ है। विमान हादसे से प्रभावित होनेवाले यात्रियों में पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा और उनकी पत्‍‌नी गीता कोड़ा के नाम शामिल हैं। गौरतलब है कि बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से रोज 19 फ्लाइट उड़ान भरती हैं.

ऐसे हुई दुर्घटनाएं

- 20 जुलाई 2010- किंगफिशर के विमान से पक्षी टकराया

- 27 जुलाई 2010- किंगफिशर के विमान से पक्षी टकराया

- 25 अगस्त 2010 - किंगफिशर के विमान से पक्षी टकराया

- 02 अगस्त 2010 - जेट एयरवेज के विमान से पक्षी टकराया

- 06 दिसंबर 2010 जेट एयरवेज के विमान से पक्षी टकराया

4 अगस्त 2011 किंगफिशर के विमान से पक्षी टकराया

19 अगस्त 2011- इंडिगो के विमान से पक्षी टकराया

- 30 सितंबर 2013- इंडिगो के विमान से पक्षी टकराया

26 जुलाई 2014- गो एयरवेज के विमान से पक्षी टकराया

वर्जन- किसी भी एयरपोर्ट को पक्षियों से 100 प्रतिशत मुक्त करना संभव नहीं है। एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए एयरपोर्ट प्रबंधन सभी समुचित कदम पहले ही उठा चुका है.

अनिल विक्रम एयरपोर्ट डायरेक्टर, बिरसा मुंडा एयरपोर्ट

inextlive from Ranchi News Desk

 
Web Title : Waiting For Accident At Ranchi Airport