When daryll Cullinan became 2nd ODI batsmen to get out handling the ball

Sports

जब बल्‍लेबाज ने पकड़ा अपना कैच, अंपायर भी हो गए कंफ्यूज

by Ruchi D Sharma

Fri 17-Feb-2017 04:19:01

daryll cullinan,batsmen out handling the ball,daryll cullinan handling the ball,daryll cullinan 2nd odi batsmen,mohinder amarnath,handling the ball

क्रिकेट के मैदान पर भी कभी-कभी ऐसे कुछ वाक्‍ये हो जाते हैं जिनके बारे में आप सोच भी नहीं सकते। ऐसे वाक्‍ये हमेशा के लिए यादगार बन जाते हैं। जैसे कि साउथ अफ्रीका के बल्‍लेबाज डेरिल कलिनन के साथ हुआ। इनके कॅरियर का 27 जनवरी 1999 का वो दिन दर्शकों को हमेशा याद रहेगा, जब बैटिंग करते हुए इन्‍होंने अपना ही कैच पकड़ लिया था। देखने वालों ने इसे हंसी में लिया, लेकिन चंद ही सेकेंड में अंपायर ने इन्‍हें आउट घोषित कर दिया। आइए देखें, कैसा था वो वाक्‍या।

कुछ ऐसे हुए थे आउट
1999 में 27 जनवरी का दिन था। किंग्‍समिड में वेस्‍टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका के बीच बेहतरीन मैच चल रहा था। पिच पर साउथ अफ्रीका की ओर से बैटिंग कर रहे थे बल्‍लेबाज डेरिल कलिनन। इस वनडे क्रिकेट में गेंद से छेड़खानी करने के प्रयास में इन्‍हें आउट कर दिया गया था। यहां बताना जरूरी होगा कि वो किस तरह से कैच आउट हुए। बैटिंग करते हुए उन्‍होंने खुद की ही बॉल को पकड़ लिया। अंपायर ने इसे 'हैंडलिंग द बॉल' करार दिया। हिंदी में इसको बॉल से छेड़छाड़ करना कहते हैं।

 


ये होती है 'हैंडलिंग द बॉल'
गेंद से छेड़छाड़ करना, आउट होने का एक बेहद अजीब तरीका होता है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दसियों सालों में कभी एक बार कोई इस तरह से आउट होता है। डेरिल इस तरह से आउट होने वाले दूसरे बैट्समैन थे। वहीं इस तरह से सबसे पहले आउट होने वाले बल्लेबाज रसेल इनडीन थे। वह 1956-57 में इंग्लैंड के खिलाफ आउट हुए थे।

इनके अलावा ये खिलाड़ी रहे इसमें शामिल
इनके बाद एंड्रयु हिल्डिज कुछ इसी तरीके से 1978-79 में वाका में आउट हुए। हिल्‍डिज भी ऐसे दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से आउट हुए, जब उन्होंने गेंद वापस गेंदबाजों की ओर फेंक दी थी। इनके बाद मोहसिन खान, डेसमंड हेंस और ग्राहम गूच भी इस कतार में शामिल होते गए। ये क्रिकेटर भी ऐसे ही कुछ अजीबो-गरीब तरीके से आउट हुए।

मोहिंदर अमरनाथ भी हैं इसमें शामिल
इस मुद्दे पर वनडे क्रिकेट की चर्चा करें तो भारतीय टीम में मोहिंदर अमरनाथ ऐसे पहले बल्‍लेबाज हुए। 1985-86 में बेनसन और हेज के फाइनल मैच में वह आउट हुए। उस समय इन्‍होंने ग्रेग मैथ्यूज की गेंद को स्टंप्स पर लगने से रोक लिया था। ऐसे में उनको तुरंत आउट करार दे दिया गया। इसके पूरे 13 सालों बाद वनडे क्रिकेट में फिर से एक ऐसी ही घटना घटी।

 

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

Related News
+