16 आरोपी जेल में 17वें का एनकाउंटर

2018-03-04T07:00:57+05:30

चेतन, सावित्री देवी व बब्लू के मर्डर में चल रहा था वांटेड

MEERUT। सावित्री देवी व बबलू हत्याकांड में 17 लोग नामजद हुए थे। इनमें से कुछ को पुलिस ने गिरफ्तार किया तो कुछ खुद ही सरेंडर होकर जेल चले गए। अब तक कुल 16 लोगों जेल भेज चुक है। केवल सुजीत जाट फरार ही फरार चल रहा था। जिसे शनिवार देर शाम पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया।

ऐलानिया मर्डर में माहिर

सुजीत ने अपने गांव में अभी तक तीन मर्डर किए थे और यह तीनों ही मर्डर ऐलानिया थे। जिसके चलते पुलिस उसकी गर्मजोशी से तलाश कर रही थी। पुलिस इससे पहले सुजीत के पिता, बहन को भी जेल भेज चुकी है। सुजीत जाट का भाई सुमित जाट अभी जेल में बंद है।

यह रहा पूरा घ्ाटनाक्रम

13 जुलाई 2016

थाना सररूपुर के गांव रजापुर में चेतन उर्फ भूरा की गांव के सुजीत जाट ने अपने भाई सुमित जाट के साथ मिलकर हत्या कर दी थी। इस मामले में 50 हजारी रहे सुमित जाट सहित छह लोगों के खिलाफ मुदकमा दर्ज हुआ था। चेतन की मां सावित्री और भाई मितन इस केस में गवाह थे।

25 जनवरी, 2018

सुमित जाट व चेतन ने मितन व उसकी मां सावत्री देवी को उसके खिलाफ गवाही देने पर जान से मारने की धमकी दी थी।

1 फरवरी, 2018

सावित्री देवी व उसका बेटे मितन ने एसएसपी से शिकायत की। एसएसपी ने उन्हें गनर उपलब्ध करवा दिया गया और एसओ सरूरपुर को जमकर हड़काया।

3 फरवरी, 2018

टाटा मैजिक में सवार होकर बदमाश मितन के घर आए। घर पर किसी के न मिलने के बाद सावित्री व उसके बेटे मितन को ढूंढते हुए बदमाश खेत पर पहुंचे। जहां सावित्री देवी पर अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी।

4 फरवरी, 2018

एसएसपी मंजिल सैनी ने सावित्री देवी के गनर को सस्पेंड करते हुए पुलिस लाइन से चार सिपाहियों को सुरक्षा के लिए मितन के घर भेजा।

6 फरवरी, 2018

जेल से पेशी पर आए सुमित जाट ने उसके बेटे मितन को कचहरी में जान से मारने का प्रयास किया।

7 फरवरी, 2018

आनंद नर्सिग होम में भर्ती सावित्री की उपचार के दौरान मौत हो गई। इसके साथ मितन ने हिम्मत दिखाते हुए हत्यारों के खिलाफ गवाही दी।

8-9 फरवरी, 2018

मितन की कोर्ट में हुई गवाही। पुलिस ने कचहरी में सरेंडर के लिए आए सुमित जाट के पिता व 25 हजार के इनामी जगवीर को गिरफ्तार किया।

12 फरवरी, 2018

सुजीत जाट ने अपने साथियों के साथ मिलकर सावित्री देवी के दामाद बबलू की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी थी।

पुलिस इसकी लगातार तलाश कर रही थी लेकिन यह चकमा देने में कामयाब हो रहा था। इसके बाद ऊपर पचास हजार इनाम घोषित किया गया था। शनिवार को सुजीत पुलिस मुठभेड़ में मारा गया।

मंजिस सैनी, एसएसपी, मेरठ

50 हजारी सुजीत जाट मुठभेड़ में ढेर

पुलिस ने रोकना चाहा तो पुलिस पर शुरू कर दी फायरिंग

चेतन, सावत्री देवी व बबलू की हत्या में वांटेड चल रहा 50 हजारी बदमाश सुजीत जाट की शनिवार को पुलिस से आमे-सामने की मुठभेड़ हो गई। पुलिस ने उसे रोकना चाहा लेकिन उसने पुलिस पर फायर करने शुरू कर दिए। इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। जिससे 50 हजारी सुजीत जाट की मौत हो गई। इसके बाद पुलिस ने उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल भेजा दिया।

पुलिस पर फायर

एसपी देहात राजेश कुमार का कहना है कि जब सरूरपुर के पास पुलिस ने सुजीत जाट को रोकने का प्रयास किया तो उसने देखते ही पुलिस पर फायर कर दिया। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग करते हुए गोली चलाई, जिसके उसकी मौत हो गई।

चेतन, सावित्री व बबलू हत्याकांड में वांटेड चल रहा सुजीत जाट पुलिस मुठभेड़ में ढेर हो गया है।

मंजिल सैनी, एसएसपी, मेरठ

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.