Flipkart से बिन्नी की विदाई के बाद क्या चल रहा है कंपनी में

2018-11-14T02:19:11+05:30

फ्लिपकार्ट के सीईओ का इस तरह अचानक विदा होना और वह भी यौन उत्पीड़न के आरोप में लोगों को चौंकने पर मजबूर कर देता है। अभी हाल ही में वालमार्ट ने इस कंपनी के करीब 77 फीसदी शेयर खरीद लिए थे। सौदा होते ही कंपनी के एक संह संस्थापक सचिन बंसल अपना शेयर बेच कर बाहर निकल गए थे। अब इतनी जल्दी बिन्नी के विदा होने पर सब आश्चर्यचकित हैं। जो भी हो वालमार्ट के लिए यह एक नई शुरुआत का मौका है।

मुंबई (राॅयटर्स/पीटीआई)। वालमार्ट ने अपने एक बयान में कहा कि कल्याण कृष्णमूर्ति फ्लिपकार्ट के सीईओ के तौर पर काम करेंगे, जिसमें मिंत्रा और जबाॅन्ग भी शामिल हैं। अनंत नारायणन मिंत्रा और जबाॅन्ग के सीईओ के तौर पर काम करते रहेंगे और कृष्णमूर्ति को रिपोर्ट करेंगे। वहीं समीर निगम फोनपे के सीईओ के तौर पर अपना काम जारी रखेंगे। कृष्णमूर्ति और निगम दोनों सीधे बोर्ड के प्रति जवाबदेह होंगे।
ईमेल करके दिलाया भरोसा

एक इंटर्नल ईमेल में कृष्णमूर्ति ने कर्मचारियों को भरोसा दिलाया है कि कंपनी की कार्यप्रणाली में कोई बदलाव नहीं होगा। इस खबर से कंपनी के काम काज पर कोई असर नहीं होगा। कंपनी अपने संचालन और कर्मचारियों को सशक्त करने के लिए सप्लाई चेन, इनोवेशन और टेक्नोलाॅजी पर निवेश करती रहेगी। कंपनी आगे बढ़ने के हर संभव मौके कामयाबी में बदलने की कोशिश जारी रखेगी।
एक नजर में : फ्लिपकार्ट का सौदा होने से बिन्नी के इस्तीफे तक
- वालमार्ट ने मंगलवार को कहा कि ई-काॅमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ग्रुप के सीईओे बिन्नी बंसल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने यह कदम यौन उत्पीड़न संबंधी शिकायत की एक जांच के बाद उठाया है।
- कंपनी ने कहा कि हालांकि जांच के दौरान बिन्नी के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले लेकिन वे जांच में जिस तरह व्यवहार कर रहे थे उससे यही लग रहा था कि उनकी तरफ से पारदर्शिता नहीं है।
- वालमार्ट ने कहा कि फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक बंसल ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है। राॅयर्ट्स ने अपनी रिपोर्ट में दो सूत्रों के हवाले से बताया है कि मामला यौन उत्पीड़न का था जिसे बिन्नी ने नकार दिया है।
- कल्याण कृष्णमूर्ति फ्लिपकार्ट का ई-काॅमर्स कारोबार देखेंगे। वे अब ग्रुप के सीईओ की तर्ज पर काम करेंगे। फ्लिपकार्ट ग्रुप में मिंत्रा, जबाॅन्ग और फोनपे जैसी कंपनियां हैं।
- मई में वालमार्ट ने 16 अरब डाॅलर में फ्लिपकार्ट की करीब 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली थी। यह सौदा अगस्त 2018 में पूरा हुआ था।
- बिन्नी बंसल ने यह कंपनी अमेजन में काम कर रहे अपने एक सहकर्मी सचिन बंसल के साथ मिलकर शुरू किया था। सचिन ने डील के दौरान ही कंपनी को अलविदा कह दिया था।
- तब वालमार्ट ने कहा था कि बिन्नी बंसल कंपनी के साथ मिलकर कंपनी के सक्सेशन प्लान पर काम करेंगे, जो उनके इस्तीफे के बाद जल्दी ही पूरा हो गया।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.