लू की चपेट में पटनाइट्स बढ़ रही मरीजों की संख्या

2019-06-17T06:00:17+05:30

-गर्म हवा के थपेड़े कर रहे परेशान, 45 डिग्री सेल्सियस रहा रविवार का तापमान, तीन दिनों में 50 से अधिक मरीज एडमिट

PATNA: हवा के साथ लू की लहर ने पटना के जनजीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है। रविवार को पटना का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग की मानें तो अगले 24 घंटो में गर्मी से बड़ी राहत मिलने की कोई संभावना नहीं दिख रही है। शहर के अस्पतालों में लू लगने से आने वाले मरीजों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि दर्ज की गई है जिसमें सर्वाधिक मरीज उल्टी और दस्त के आ रहे हैं। पीएमसीएच, आईजीआईएमएस सहित शहर के अन्य अस्पतालों में सुबह से ही मरीजों को दिखाने के लिए परिजनों की भीड़ लगी रही।

पीएमसीएच में 50 एडमिट

संडे की सुबह से ही राज्य के विभिन्न जिलों से लू से पीडि़त मरीज पीएमसीएच में इलाज कराने के लिए पहुंचने लगे। सरकारी आंकड़ों की बात करें तो पिछले तीन दिन में 50 से अधिक लू से पीडि़त मरीज एडमिट हुए है। वहीं आईजीआईएमएस में 38 मरीजों का रजिस्ट्रेशन हुआ है।

अधिकांश मरीज हीट स्ट्रोक के

डॉक्टरों की मानें तो इमरजेंसी सहित अन्य वार्ड में भर्ती मरीजों में अधिकांश मरीज हीट स्ट्रोक से पीडि़त है। उनका इलाज चल रहा है। अधिकांश मरीजों को स्लाइन चढ़ाया जा रहा है। डॉ बताते हैं कि इस बीमारी से दस्त, तेज बुखार आने लगता है।

ऐसे लगता है लू

एक्सपर्ट की मानें तो शरीर की बनावट ऐसी होती है जिसमें अत्यधिक गर्मी में शरीर से पसीना निकलता है जिससे शरीर का तापमान नियंत्रित रहता है। परंतु हीट स्ट्रोक यानी लू की स्थिति में शरीर का कुलिंग सिस्टम सही काम नहीं कर पाता, जिसकी वजह से शरीर का तापमान बाहर के तापमान के साथ मेल नहीं बैठा पाता और ऐसी स्थिति में इंसान लू की चपेट में आ जाता है। अगर समय रहते इलाज नहीं कराया गया तो जान खतरे में आ सकती है।

औसतन 30 प्रतिशत नमी

पटना में बीते दो-तीन दिनों के दिनभर में नमी की मात्रा का अध्ययन करें तो पता चलता है कि हवा में औसतन 30 प्रतिशत नमी की मात्रा रही है। जो सामान्य दिनों की तुलना में 50 प्रतिशत से भी कम है। वेस्टरली के कारण हीव वेब की स्थिति बनी हुई है। मौसम विभाग के अनुसार तीन दिनों तक हीट वेब की स्थिति से निजात नहीं मिलेगी।

गर्मी की वजह से मरीजों की संख्या में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है इससे बचने के लिए बाहर निकलते समय सनस्क्रीन लोशन और अधिक मात्रा में तरल पदार्थ का सेवन करना चाहिए।

-डॉ। दिवाकर तेजस्वी, जनरल फिजिशियन

inextlive from Patna News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.