जमीन पर चेतक

2017-03-16T07:41:13+05:30

7.45 बजे सुबह हुआ हादसा,10 मिनट पहले बमरौली एयरबेस से भरी थी उड़ान, 02 पॉयलट सुरक्षित

टूट गया था एयरबेस से लिंक, इमरजेंसी लैंडिंग के दौरान हुआ क्रैश

ट्रेनी पॉयलट समेत दो थे सवार, पब्लिक को कोई नुकसान नहीं

भारतीय वायुसेना का हेलीकॉप्टर चेतक बुधवार की सुबह बम्हरौली के समीप हादसे का शिकार हो गया। इमरजेंसी लैंडिंग के दौरान हेलीकॉप्टर दुर्घटना का शिकार हो गया। हेलीकाप्टर में ट्रेनी पॉयलट के अलावा इंस्ट्रक्टर सवार थे। संयोग से दोनों सुरक्षित बच गए। हेलीकॉप्टर के आबादी एरिया से दूर हादसे का शिकार होने के चलते पब्लिक का कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस के साथ ही एयरफोर्स के ऑफिसर्स मौके पर पहुंच गए।

ट्रेनिंग के लिए निकला था

इलाहाबाद के बम्हरौली में मध्य वायु कमान का मुख्यालय स्थित है। वायुसेना की यह विंग पॉयलटों को ट्रेनिंग भी देती है और आंतरिक सुरक्षा में इस्तेमाल की जाती है। दो साल पहले यहीं से ट्रेनिंग पर निकला फाइटर प्लेन जगुआर नैनी में हादसे का शिकार हो गया था। संयोग से उस घटना में भी किसी को कोई चोट नहीं आई थी। बुधवार का वायुसेना का विमान चेतक रुटीन ट्रेनिंग के लिए निकला था। इसमें एक ट्रेनी पॉयलट के साथ एक इंस्ट्रक्टर मौजूद थे। हेलीकाप्टर ने बम्हरौली से उड़ान भरी और करीब दस मिनट तक उड़ान के बाद वापस लौट रहा था। सूत्र बताते हैं कि एयरबेस पहुंचने से पहले ही हेलीकाप्टर का सम्पर्क टूट गया। इसके बाद इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। तत्काल जमीन समतल न मिलने के कारण इसे गैस गोदाम के पास तक लाया गया। यहां लैंडिंग के दौरान वह हादसे का शिकार हो गया।

जोरदार आवास से पब्लिक सहमी

हेलीकाप्टर इलाहाबाद और कौशांबी के बार्डर पर स्थित गांव पिपरी, गौसपुर कटौहला गांव के पास हादसे का शिकार हुआ। संयोग से यह इलाका आबादी से थोड़ा दूर है। हेलीकाप्टर के क्रैश होने के बाद हुई तेज आवाज से आसपास रहने वाले लोग दहल गए। वे तत्काल स्पॉट पर पहुंचे। सूचना मिलते ही एयरफोर्स के ऑफिसर्स भी स्पॉट पर पहुंच गए। आनन- फानन में फायर ब्रिगेट के साथ ही सेना के राहत दस्ते को बुला लिया गया। लेकिन, स्पॉट पर पहुंचने के बाद पता चला कि इसकी कोई जरूरत ही नहीं है। उन्होंने हेलीकाप्टर और स्पॉट का जायजा लिया। ट्रेनी पॉयलट और इंस्ट्रक्टर के सही सलामत होने पर उन्होंने राहत की सांस ली। हेलीकॉप्टर दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। दुर्घटना के कारणों को लेकर जितने मुंह उतनी बातें थीं। कोई फ्यूल खत्म हो जाना बता रहा था तो कोई एयरबेस से लिंक टूट जाना तो कोई हेलीकॉप्टर में टेक्निकल प्राब्लम।

फायर ब्रिगेड तक पहुंची

प्रदेश में हेलीकॉप्टर और जगुआर प्लेन हादसे

16 जून 2015

इलाहाबाद के नैनी रेलवे स्टेशन के पास स्थित चाका गांव में एयरफोर्स का फाइटर प्लेन जगुआर जेटी- 060 रेजीडेंशियल एरिया में क्रैश होकर गिरा। पायलट और को पायलट ने कूदकर बचाई जान। बमरौली से यह विमान सुबह 7.25 बजे उड़ा था। 13 किलोमीटर उड़ने के बाद इंजन फेल होने के चलते हुआ हादसे का शिकार। पब्लिक को कोई नुकसान नहीं हुआ था.

11 अक्टूबर 2014

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान एकेडमी से उड़ान भरने के कुछ देर बाद Zin24 2L एनटीपीसी की हाईपॉवर थर्मल लाइन से उलझकर क्रैश हो गया था। रायबरेली के बड़ोखर एरिया में हुए इस हादसे में प्लेन का पायलट गंभीर रूप से घायल हो गया था.

1 अक्टूबर 2014

आर्मी एविएशन बरेली का चीता हेलीकॉप्टर 1 अक्टूबर 2014 को उड़ान भरने के चंद मिनटों के बाद शहर के निकट सुबह 7.45 बजे क्रैश हो गया। घटना में हेलीकॉप्टर में सवार तीन आर्मी ऑफिसर्स मेजर अभिजीत थापा, मेजर विकास वरयानी व कैप्टन अविनाश सोमवंशी मारे गए थे.

25 जुलाई 2014

लिंक लॉस्ट के चलते आईएएफ का अत्याधुनिक चॉपर हेलीकॉप्टर 25 जुलाई 2014 को शाम पांच बजे सीतापुर में क्रैश हो गया। इसमें पॉयलट व को पायलट सहित सात सैन्य अधिकारियों की जान चली गई थी। लिंक लास्ट के कारण लंबे समय तक उसकी लोकेशन ट्रेस ही नहीं की जा सकी.

4 अगस्त 2011

मऊ जिले के दिलाही फिरोजपुर गांव में में सेना का जगुआर फाइटर प्लेन क्रैश हो गया। प्लेन गांव के बाहर एक खेत में जा गिरा था। इस घटना में जगुआर प्लेन के पॉयलट के अलावा खेत में काम कर रही एक महिला की मौत हो गई थी।

बाक्स

शुक्र था गैस गोदाम पर नहीं गिरा

बुधवार को एयरफोर्स बमरौली से उड़ा हेलीकॉप्टर चेतक जिस स्थान पर दुर्घटना का शिकार हुआ। उससे बमुश्किल बीस मीटर की दूरी पर भारत गैस एजेंसी का गोदाम था। घटना के बाद स्पॉट पर पहुंचे एयरफोर्स के ऑफिसर्स और स्थानीय लोग स्पॉट का सीन देखकर दंग थे। पब्लिक का मानना था कि हेलीकॉप्टर क्रैश होने के बाद गैस एजेंसी प्रिमाइस में गिरा होता तो निश्चित तौर पर बड़ा हादसा हो सकता था। हादसे में गैस गोदाम के बाउंड्री वॉल को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

चेतक रुटीन ट्रेनिंग के लिए एयर फोर्स स्टेशन बमरौली से निकला था। इंजन फेल्योर होने का अनुभव होने पर इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। इस दौरान हेलीकॉप्टर डैमेज हो गया है। सिविल प्रापर्टी को कोई नुकसान नहीं हुआ है। दोनो पायलट सुरक्षित हैं। कोर्ट ऑफ इंक्वॉयरी का आदेश दे दिया गया है।

- बसंतकुमार बी पांडेय

ग्रुप कैप्टन, प्रवक्ता सेना

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.