रूट की बस का पता बताएगी अथारिटी

2019-04-14T06:00:38+05:30

एयरपोर्ट अथारिटी की तरह ही बस स्टेशन अथारिटी ने बसों के संचालन के लिए बनाई नई योजना

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: मुसाफिरों को सिविल लाइंस डिपो में अक्सर अपने संबंधित एरिया की बस पकड़ने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता था। जहां से प्रतिदिन अलग-अलग रूटों पर छह सौ बसों का संचालन होता है। अब मुसाफिर डिपो परिसर में इंट्री करेगा तो उसे बस के रूट का निर्धारण, उसकी टाइमिंग व किस नियत स्थान पर बसें खड़ी इन सबकी जानकारी बिना भागदौड़ या पूछताछ के मिल सकेगी। इसके लिए बस स्टेशन अथारिटी ने एक सप्ताह के भीतर बसों का साइन बोर्ड व टाइमिंग के साथ संबंधित एरिया को जाने वाली बसों का पता बोल्ड लेटर में लिखाने की योजना बनाई है।

महत्वपूर्ण तथ्य

सिविल लाइंस डिपो से सिविल लाइंस, प्रयाग व लीडर रोड डिपो की बसों का संचालन किया जाता है। इसमें प्रयाग व लीडर रोड डिपो का साइन बोर्ड लगाया जाएगा।

-सिविल लाइंस डिपो और प्रयाग डिपो की क्रमश: 109-109 बसों का संचालन प्रतिदिन होता है तो लीडर रोड डिपो की 95 बसें रोजाना प्रदेश के विभिन्न जिलों की ओर संचालित होती है।

-डिपो परिसर में शहरों के नाम का बोर्ड लगाया जाएगा। डिजिटल क्लाक से बसों की टाइमिंग बताई जाएगी। यह व्यवस्था 24 घंटे के लिए निर्धारित की गई है।

-डिपो से संचालित होने वाली प्रत्येक बसों में यात्रियों की सुविधा के लिए फस्ट एड बाक्स भी रखा जाएगा।

-परिसर में अवैध वाहनों की इंट्री रोकने और यात्रियों की सुरक्षा के लिए नौ होमगार्ड्स और छह सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है। इनकी ड्यूटी शिफ्ट के हिसाब से निर्धारित की गई है।

तो लग जाएगा आर्थिक दंड

उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम प्रयागराज परिक्षेत्र के रीजनल मैनेजर टीके एस बिसेन ने अप्रैल के पहले सप्ताह में बस स्टेशन अथारिटी का गठन किया था। जिसका हेड स्टेशन प्रभारी शेख बदरूद्दीन को बनाया गया है। उन्होंने बताया कि निर्धारित स्थान के डिपो पर अगर दूसरे डिपो की बस खड़ी की जाएगी तो संबंधित ड्राइवर व कंडक्टर के खिलाफ आर्थिक दंड लगाया जाएगा। इसके लिए रजिस्टर बनाया जाएगा। जिसमें बसों के आने-जाने की टाइमिंग भी डिजिटल क्लाक से मिलाई जाएगी।

सही जानकारी ना मिलने की वजह से यात्रियों को बस पकड़ने के लिए भटकना पड़ता है। इसलिए बस स्टेशन अथारिटी से रूट निर्धारण व बसों की टाइमिंग से लेकर सही तरीके से खड़ा करने का निर्देश दिया गया है। एक सप्ताह में डिपो परिसर में बदलवा का असर दिखाई देने लगेगा।

टीकेएस बिसेन,

रीजनल मैनेजर उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम प्रयागराज

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.