आप सभी में भविष्य का एक मैनेजर छुपा है

2019-01-11T06:00:15+05:30

- किसी भी फील्ड में सक्सेस के लिए अपना दायरा बढ़ाना होगा

- दैनिक जागरण आई नेक्स्ट व वीआईटी के सहयोग भावी मैनेजर के लिए सेमिनार का आयोजन

LUCKNOW : एमबीए का पहला फंडा है कभी खाली ना बैठने का, आज बहुत कुछ चेंज हो गया है इसलिए मैनेजमेंट फील्ड से जुड़े लोग सबसे अलग नजर आते हैं। बेहतर मैनेजर बनने के लिए किसी लैंग्वेज स्किल की जरूरत नहीं है, आपको बस अपना एनर्जी लेवल देखना होगा। इसे जितना बेहतर बनाने के साथ इसका दायरा बढ़ाएंगे, आपको मैनेजमेंट के फील्ड में उतनी ही सफलता हासिल होगी। कुछ इसी तरह के टिप्स गुरुवार को गन्ना किसान संस्थान में आयोजित मैनेजमेंट एवेन्यूज सेमिनार में एक्सपर्ट ने स्टूडेंट्स को दिये। दैनिक जागरण आईनेक्स्ट व वीआईटी बिजनेस स्कूल की ओर से दो शिफ्ट में सेमिनार का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम का शुभारंभ मोटिवेशनल स्पीकर नीरज प्रसाद, वीआईटी बिजनेस स्कूल के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ। सैय्यद खालिद परवेज, वीआईटी के डॉ। गौरव गुप्ता, दैनिक जागरण आईनेक्स्ट की डिप्टी एडिटर शर्मिष्ठा शर्मा और दैनिक जागरण आईनेस्क्ट लखनऊ के संपादकीय प्रभारी धमेंद्र सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया। सेमिनार का संचालन एंकर अमित शर्मा ने किया।

हर साल 50 लाख ग्रेजुएट तैयार हो रहे है देश में

मैनेजमेंट एवेन्यू सेमिनार में एक्सपर्ट ने स्टूडेंट्स को बताया कि हमारे देश में हर साल 50 लाख ग्रेजुएट स्टूडेंट्स तैयार हो रहे हैं। उनमें से 60 प्रतिशत स्टूडेंट्स बेरोजगार हैं। इसका सबसे बड़ा कारण उनके पास सही स्किल का न होना है। एमबीए के लिए स्टूडेंट्स के मन में एक आम धारणा है बेहतर कम्यूनिकेशन स्किल का न होना जबकि इसका उल्टा है, इसमें कम्यूनिकेशन स्किल से ज्यादा आपके सोचने के दायरे का महत्व का होता है। यह आपको इस फिल्ड में सबसे ज्यादा सक्सेस दिलाता है। यही कारण है कि विदेशों में इंजीनियरिंग बैक ग्राउंड के 44 प्रतिशत स्टूडेंट्स आगे चलकर एमबीए या मैनेजमेंट कोर्स करते हैं, जिससे उनको करियर में बेहतर सफलता मिल सके।

एमबीए के लिए एक सोच जरूरी

मोटिवेशनल स्पीकर नीरज प्रसाद ने कहा कि एमबीए व मैनेजमेंट के लिए केवल एक सोच जरूरी है। इसी सोच को बढ़ाने के लिए आपको अपना दायरा भी बढ़ाना होगा। यही आपको दूसरो से अलग बनाता है। मैनेजमेंट फील्ड में बेहतर ऑप्शन के लिए आपको लगातार सोचना होगा। एक मैनेजर संस्था के सर्विसेज को बेहतर करने के साथ उसकी इनकम को बढ़ाने का काम करता है। इसके लिए आपको बस कुछ चीजों की जरूरत है जैसे कम्यूनिकेशन, प्रॉब्लम सॉल्व करने की क्षमता, नेटवर्किंग, टीम स्प्रिट जैसे स्किल को बढ़ाना होगा। अगर कोई स्टूडेंट्स इन चीजों पर फोकस करता है, तो फ्यूचर में उसके लिए बहुत से संभावना है। इसके लिए जरूरी है एक बेहतर संस्थान का चयन करना। वीआईटी उन्हीं में एक बेहतर संस्थान है, जहां पर स्टूडेंट्स के अंदर छुपे ऐसे ही स्किल को और निखारने का काम किया जाता है।

एमबीए में सबसे ज्यादा मौके

वीआईटी बिजनेस स्कूल के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ। सैय्यद खालिद परवेज ने बताया कि पूरे देश में एमबीए की करीब पांच लाख सीटें मौजूद हैं। इनमें से करीब तीन लाख सीटों पर ही एडमिशन हो रहा है। हर साल एक लाख से अधिक जॉब मार्केट के विभिन्न सेक्टर में आ रही हैं, जिन्हें चलाने के लिए मैनेजर की जरूरत है। वीआईटी बिजनेस स्कूल बीते 25 वर्षो से मैनेजमेंट की फील्ड में है। यहां से एक से बढ़कर मैनेजर मार्केट के लिए तैयार हुए हैं। हमारे देश में एमबीए करने वालों में से 40 प्रतिशत कैंडीडेट्स सेल्स में जाते हैं बाकि अच्छी कंपनियों में बेहतर पोस्ट पर होते हैं। इसका सब एक ही कारण है। एक बेहतर बिजनेस स्कूल, एडमिशन के समय कैंडीडेट्स को इसी पर पूरा फोकस रखना चाहिए। वह जिस बिजनेस स्कूल में जा रहा है, वहां पर बेहतर क्या है इसे जानना जरूरी है। वीआईटी में आज व‌र्ल्ड क्लास फैकेल्टी के साथ बेहतर लाइब्रेरी, प्लसेमेंट के लिए व‌र्ल्ड की टॉप कंपनियों के साथ टाईअप किया गया है।

एमबीए का फंडा है कभी खाली नहीं बैठने का

वीआईटी बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर डॉ। गौरव गुप्ता ने स्टूडेंट्स को कुछ बेहतर टिप्स देते हुए कहा कि एमबीए एक ऐसी फील्ड है जो आपको हमेशा कुछ न कुछ नया करने के लिए प्रेरित करती है। आज सर्विसेस की फील्ड में सबसे ज्यादा मौके हैं। हमारे देश के कुल जीडीपी का 54 प्रतिशत इसी सर्विसेज से आता है। वीआईटी बिजनेस स्कूल में स्टूडेंट्स को इन्हीं सभी चीजों के बारे में बेहतर समझाने के साथ उनके स्किल को डेवलप करने का काम करता है। हमारे संस्थान में स्टूडेंट्स को एक फ्रेंडली इंवायरमेंट के साथ एक वेल डेवलप एजुकेशन सिस्टम दिया जाता है, जो देश के किसी भी आईआईएम या टॉप बिजनेस स्कूलों के बराबर है।

बाक्स

इन संस्थाओं के कैंडीडेट्स हो रहे हैं शामिल

1. रामा डिग्री कॉलेज

2. इरम ग‌र्ल्स डिग्री कॉलेज

3. रजत ग‌र्ल्स डिग्री कॉलेज

4. लखनऊ पब्लिक स्कूल एंड प्रोफेशनल कॉलेज

5. बाला जी इंस्टीट्यूट

inextlive from Lucknow News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.