बरेली दरोगा और सिपाही ने रिटायर्ड फौजी को किडनैप कर मांगी थी 5 लाख की फिरौती

2019-02-19T12:01:55+05:30

- स्मैक होने का आरोप में पकड़कर मकान में बनाया बंधक

- छोड़ने के लिए 5 लाख की मांगी फिरौती, एफआईआर के बाद सस्पेंड

BAREILLY: पुलिस के रिश्वत लेने के मामले तो अक्सर ही सुनने को मिलते रहते हैं। शहर की पुलिस अब अपहरण कर बंधक भी बनाने लगी है। और तो और फिरौती भी मांग रही है। ऐसा ही एक मामला जानकारी में आया है। सैटरडे को ट्रेनी एसआई और यूपी 100 के सिपाही ने कोर्ट के बाहर से रिटायर्ड फौजी को स्मैक रखने का आरोप लगाते हुए अपहरण कर मकान में बंधक बना लिया। पुलिसकर्मियों ने छोड़ने के नाम पर 5 लाख की फिरौती भी मांगी। पकड़े जाने के डर से पुलिसकर्मी फौजी को छोड़कर घर में ताला लगाकर फरार हो गए। मामले की जानकारी होने पर एसएसपी ने ट्रेनी एसआई और सिपाही को सस्पेंड कर दिया है। कोतवाली में पीडि़त की तहरीर पर अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी। वहीं 20 दिन पहले भी भोजीपुरा में पुलिस की पिटाई से रिटायर्ड टीचर टीकाराम की मौत हो गई थी.

युवक ने थमाया बैग

73 वर्षीय रिटायर्ड फौजी राम कुमार गुहा भमोरा के देवचरा में रहते हैं। सैटरडे को वह डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पेशी पर आए थे। कोर्ट गेट के पास एक युवक आया और उसने उन्हें बैग पकड़ाया और कहा कि वह टॉयलेट करने जा रहा है। वह काफी देर तक इंतजार करते रहे, लेकिन युवक वापस लौटकर नहीं आया.

चौकी पर ले जाने को बोला

राम कुमार ने बताया कि वह युवक का इंतजार कर रहे थे। दो लोग आते हैं और खुद को पुलिसकर्मी बताते हैं। वह कहते हैं कि तुम्हारे पास स्मैक है। उसके बाद पुलिसकर्मियों ने तलाशी ली और बाइक पर जबरन बैठाकर रुहेलखंड चौकी ले जाने की बात कही। वह चौकी नहीं ले गए और मुल्ला जी वाली गली जोगी नवादा स्थित अखिलेश मिश्रा के मकान में ले जाकर बंद कर दिया.

जेल भेजने की दी धमकी

आरोप है कि बंधक बनाने के बाद पुलिसकर्मियों ने छोड़ने के लिए उनके भतीजे बोनी से 5 लाख रुपए का इंतजाम करने के लिए बोला.

 

साथी को रुपए लेने भेजा

आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने सिक्योरिटी कंपनी में काम करने वाले विकास निवासी सिसैया फरीदपुर को रुपए लेने के लिए बोनी के पास भेजा। बोनी ने इंस्पेक्टर कोतवाली को बताया तो पुलिस ने विकास को पकड़ लिया और अधिकारियों को खबर दी। इंस्पेक्टर बारादरी कृष्णवीर सिंह को मामले की जांच की जिम्मेदारी दी गई.

 

साथी के न आने पर छोड़कर भागे

पुलिसकर्मियों का साथी जब विकास काफी देर तक नहीं आया तो उन्हें शक हो गया और रामकुमार को छोड़ दिया। मकान पर ताला लगाकर फरार हो गए.

 

पीएसी में चल रही ट्रेनिंग

इंस्पेक्टर बारादरी कृष्णवीर को जांच में पता चला कि रिटायर्ड फौजी का अपहरण करने वाले आरोपी पुलिसकर्मियों में पवन कुमार ट्रेनी एसआई है और उसकी आठवीं वाहिनी पीएसी में ट्रेनिंग चल रही है। वहीं अंकित यूपी 100 में तैनात सिपाही है। इंस्पेक्टर ने एसएसपी को रिपोर्ट सौंपी, जिसके बाद एसएसपी ने एसपी ट्रैफिक से जांच करायी। एसएसपी ने दोनों को सस्पेंड कर दिया है.

 

पुलिस के जुल्म जारी हैं

- भोजीपुरा में रिटायर्ड टीचर टीकाराम की थाने में पिटाई से मौत हो गई थी.

- सुभाषनगर में एक चौकी इंचार्ज पर टेंपो छोड़ने के बदले 50 हजार रिश्वत की मांग की थी.

- सुभाषनगर में जुआरियों का चौकी में प्रत्येक महीने 4 हजार रुपए रिश्वत जाने का ऑडियो वायरल हुआ था.

- इज्जतनगर थाने के एक मुंशी ने तो एनसीआर लिखने के एवज में रिश्वत की मांग की थी.

- भोजीपुरा में क्राइम ब्रांच के दो सिपाहियों ने ठगों को बंधक बनाकर छोड़ने के नाम पर रिश्वत मांगी थी

 

फैक्ट्स

- 84 पुलिसकर्मी 2018 में रिश्वत, मिसबिहेव व अन्य मामलों में हुए सस्पेंड

- 498 शिकायतें वर्ष 2018 में यूपी 100 में पुलिस के खिलाफ पहुंची

- 300 शिकायतें वर्ष 2018 में पुलिसकर्मियों के खिलाफ एसएसपी के पास पहुंची

- 03 एफआईआर वर्ष 2018 में भ्रष्टाचार की पुलिसकर्मियों पर दर्ज हुई

- 94544408999 नंबर डीआईजी ने रिश्वत खोर पुलिसकर्मियों पर लगाम के लिए जारी किया

 

 

- - - - - - - - - - - -

रिटायर्ड फौजी को स्मैक का आरोप लगाकर बंधक बनाने का आरोप पुलिसकर्मियों पर लगा है। जांच के बाद दोनों को सस्पेंड कर दिया है। एफआईआर दर्ज कर जांच की जा रही है.

मुनिराज जी, एसएसपी बरेली

inextlive from Bareilly News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.