तो केजरीवाल का कहना है कि उनके विधायक हीरे हैं

2015-03-30T09:40:00+05:30

आम आदमी पार्टी के कई विधायकों पर भले ही गंभीर आरोप लगे हों लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की नजरों में उनके सभी विधायक हीरा हैं

आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पार्टी के संस्थापक सदस्य शांति भूषण और प्रशांत भूषण द्वारा दिल्ली के लगभग एक दर्जन विधायकों पर लगाए गए आरोपों को खारिज कर दिया है. उनका कहना है कि उनके सभी विधायक हीरा हैं. गौरतलब है कि शांति भूषण व प्रशांत भूषण ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान आप के कई उम्मीदवारों पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन्हें टिकट नहीं देने की मांग की थी लेकिन उनकी शिकायत को नजरअंदाज कर दिया गया था. चुनाव जीतने के बाद भी प्रशांत भूषण ने दागी विधायकों की जांच कराने की मांग की थी लेकिन केजरीवाल ने इसे खारिज कर दिया था. केजरीवाल का कहना है कि प्रशांत भूषण विधायकों पर झूठे आरोप लगा रहे हैं।
अपने संबोघन में प्रशांत और योगेंद्र को झूठा और धोखेबाज बताया
आम आदमी पार्टी शनिवार को हुई राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पार्टी संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के भाषण का वीडियो फुटेज जारी कर दिया गया है. भाषण में केजरीवाल ने संस्थापक सदस्यों प्रशांत भूषण व योगेंद्र यादव पर जोरदार हमला बोलने के साथ ही यह एलान भी किया कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी में या तो वह रहेंगे या फिर ये दोनों. पार्टी बनाने में किए गए संघर्ष की याद दिलाते हुए उन्होंने कहा है कि उन्होंने जान जोखिम में डालकर यह पार्टी बनाई है, इसलिए वह इसे बिखरने नहीं देंगे.


केजरीवाल ने प्रशांत भूषण व योगेंद्र यादव पर धोखाधड़ी व साजिश रचने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि दोनों नेता पिछले एक साल से उन्हें संयोजक पद से हटाने तथा विधानसभा चुनाव में हराने की राजनीति करते रहे हैं. केजरीवाल ने कहा कि योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण की सभी मांगें मान ली गईं थी लेकिन ये अपनी महत्वाकांक्षा पूरी करना चाहते थे. पार्टी को सुधारने का इन नेताओं का कोई मकसद नहीं है. ये झूठे आरोप लगा रहे हैं और जब सारे लोग पार्टी की जीत के लिए प्रयास कर रहे थे तो इन्होंने धोखा देते हुए पार्टी को हराने की कोशिश की थी.
रमजान ने दर्ज कराई मारपीट की शिकायत
आप की राष्ट्रीय समिति के सदस्य रमजान चौधरी ने पार्टी कार्यकर्ताओं पर मारपीट करने और हॉल से घसीटकर बाहर ले जाने की शिकायत कापसहेड़ा थाने में दर्ज कराई है. रमजान चौधरी के साथ शनिवार को आप की राष्ट्रीय परिषद की बैठक के दौरान मारपीट की गई थी. रमजान ने बताया कि बैठक के दौरान मेरे साथ बुरा व्यवहार किया गया. मुझे बेइज्जत करने के साथ-साथ चार-पांच बाउंसरों ने घसीटकर बैठक कक्ष से बाहर निकाला. इस दौरान मैं चिल्लाता रहा, लेकिन कोई भी मदद को सामने नहीं आया. कुछ कार्यकर्ताओं ने भी मेरे साथ धक्का-मुक्की की. मैं बुरी तरह घायल हो गया था. यह सब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने हो रहा था.

Hindi News from India News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.