सेफ एप सिखाएआ सुरक्षित डिलिवरी

2019-05-13T06:00:04+05:30

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने लांच किया सेफ डिलिवरी एप

प्रेगनेंसी व डिलिवरी के दौरान सरल तरीके की मिलेगी जानकारी

स्टाफ नर्स व एएनएम का डिलिवरी संबंधी स्किल भी होगा अपडेट

मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने की दिशा में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने एक और कदम बढ़ाया है। प्रेगनेंट वूमेन की सेफ डिलिवरी कराने के लिए एनएचएम ने सेफ डिलिवरी एप की शुरूआत की है। इस एप के जरिए प्रेगनेंसी एवं डिलिवरी के दौरान होने वाली जटिलताओं के उपचार के सरल तरीकों की जानकारी दी गई है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, उत्तर प्रदेश के मिशन निदेशक पंकज कुमार ने प्रदेश के सभी मंडलीय अपर निदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को पत्र जारी कर एप का उपयोग करने को कहा है।

एनिमेटेड फिल्में सिखाएंगी तरीका

स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि जहां डिलिवरी से पहले जांच, होम डिलिवरी, होम बेस्ड न्यू बार्न केयर (एचबीएनसी) के साथ ही अन्य तमाम योजनाओं पर ज़ोर दिया जा रहा है। वहीं तकनीकी पहलुओं पर भी पूरी तरह से फोकस किया जा रहा है। इसी क्रम में यह एप भी आया है। सेफ डिलिवरी एप एक नवीनतम स्वास्थ्य उपकरण है। एप में एनीमेटेड फिल्मों के माध्यम से बहुत ही सरल तरीके से डिलिवरी के दौरान कठिन उपचार को सरल तरीके से करने का तरीका बताया गया है।

ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन भी

सेफ डिलिवरी एप के माध्यम से स्वास्थ्य इकाइयों में काम करने वाली स्टाफ नर्स और एएनएम का प्रसव संबंधी क्लीनिकल स्किल अपडेट किया जा सकेगा। हेल्थ वर्कर इस एप को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरह से उपयोग कर सकते हैं। प्रदेश की समस्त चिकित्सा इकाइयों के डिलिवरी रूम एवं मैटरनिटी ओटी में कार्यरत स्टाफ नर्स, एएनएम और चिकित्साधिकारियों द्वारा इस एप का उपयोग सुनिश्चित कराये जाने को लेकर दिशा निर्देश जारी कर दिया गया है।

सेफ डिलिवरी एप को लेकर मुख्यालय से पत्र प्राप्त हो चुका है। इसके लिए दिशा निर्देश जारी कर दिया गया है।

डॉ। वीबी सिंह, सीएमओ

inextlive from Varanasi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.