आशा कर्मियों ने श्रमजीवी रोक किया विरोध

2018-12-28T06:00:43+05:30

-आशा संघ की अध्यक्ष ने बताया 29 को समिति का करेंगे घेराव

PATNA: आठ सूत्री मांगों को लेकर आशा कर्मियों का आक्रोश रूक नहीं रहा है। सरकार के अडि़यल रवैए के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए गुरुवार को 12वें दिन भी आंदोलन जारी रखते हुए सैकड़ों आशाकार्यकर्ता सुबह में ही बिहारशरीफ रेलवे स्टेशन पर पहुंच कर रेलवे ट्रैक जाम कर श्रमजीवी एक्सप्रेस व राजगीर-दनियांवा पैंसेजन ट्रेन को करीब आधा घंटे तक रोके रखा। आशा कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करतीं रहीं। बाद में बिहारशरीफ एसडीओ जर्नादन अग्रवाल और बिहार थाना की पुलिस मौके पर पहुंच कर आक्रोशितों को समझा कर मामला शांत कराया और ट्रेनों का परिचालन सुचारू कराया। आशा कर्मियों ने कहा सरकार जब तक मांगें पूरी नहीं करेगी आंदोलन जारी रहेगा।

रोकी फतुहा-इस्लामपुर ट्रेन

इस्लामपुर में अपनी मांगो को लेकर आंदोलनरत आशा कार्यकर्ताओं ने चक्का जाम की पूर्व निर्धारित घोषणा के अनुरूप इस्लामपुर स्टेशन पर पहुंच कर इस्लामपुर-फतुहा सवारी गाड़ी को अहले सुबह रोक दी और सरकार विरोधी जमकर नारे लगाए। बता दें कि इस प्रखंड के 180 आशाकर्मी अपन आठ सूत्री मांगों को लेकर पिछले 12 दिनों से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। आशाकर्मियों के इस हड़ताल से अस्पताल ओपीडी, टीकाकरण, ऑपरेशन समेत अन्य कार्य ठप रहा।

दवा वितरण कक्ष में जड़ा ताला

अपनी लंबित मांगों के समर्थन में चरणबद्ध आंदोलन को जारी रखते हुए आशाकर्मियों ने उग्र प्रर्दशन कर राजगीर रेलवे स्टेशन पहुंच नई-दिल्ली जाने वाली श्रमजीवी एक्सप्रेस को रोकने का प्रयास किया लेकिन पूर्व से तैनात पुलिस बलों ने मनसूबे पर पानी फेर दिया। इसके बाद आशाकर्मियों का जत्था अनुमंडलीय अस्पताल राजगीर का घेराव करते हुए सभी चिकित्सा संबंधी सुविधाओं को ठप कर दिया। इस क्रम में आशाकर्मियों ने दवा वितरण कक्ष, निबंधन काउंटर, ऑपरेशन थियेटर और टीकाकरण कक्ष में ताला जड़ते हुए दिनभर धरने पर बैठ अपने मांगों के समर्थन में नारे लगाते रहे।

inextlive from Patna News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.