शादी समारोह में चोर गैंग की दस्तक

2018-12-06T11:58:57+05:30

- 28 नवंबर को पार्टी पैलेस में दुल्हन की मां का बैग किया पार

- एक बार फिर पुलिस सिर्फ बैंक्वेट हाल की छान रही खाक

BAREILLY: एक बार फिर से शादी- समारोह में चोर गैंग ने दस्तक दे दी है। 28 नवंबर को नई बस्ती स्थित पार्टी पैलेस में 5 चोरों ने दुल्हन की मां का करीब दो लाख की नकदी, लिफाफे और ज्वैलरी से भरा बॉक्स पार कर दिया। हर बार की तरह फिर से पुलिस चोरों की धरपकड़ की लकीर पीट रही है। सीसीटीवी फुटेज से चोरों की पहचान कर रही है, लेकिन एक सप्ताह बाद नतीजा सिफर ही है। आने वाले दिनों में लगातार शादियां होंगी, जिसमें गैंग के सदस्य वारदातों को अंजाम देकर आसानी से फरार हो जाएंगे।

जयमाल के वक्त बॉक्स पार
जगदीश कुमार, गंगापुर बारादरी में परिवार के साथ रहते हैं। वह प्राइवेट जॉब करते हैं। जगदीश की बेटी की शादी 28 नवंबर की रात में नई बस्ती स्थित पार्टी पैलेस में थी। संजय नगर से निर्मल बारात लेकर पहुंचे थे। जगदीश ने बताया कि पत्‍‌नी देवी के पास बॉक्स था, उस बॉक्स में एक बैग था जिसमें वह न्योता में आ रहे लिफाफे रख रही थीं। रात में जयमाला के वक्त वह छोटी बेटी के पास बॉक्स कमरे में छोड़कर आ गई। इसी दौरान मौका पाकर बॉक्स पार कर दिया गया। बॉक्स में 50 हजार रुपए नकद, करीब एक लाख रुपए लिफाफों में और 50 हजार की ज्वेलरी रखी थी.

लगातार कर रहे थे रेकी
जब उन्होंने बैंक्वेट हॉल में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखी तो उसमें तीन लोग उनकी पत्‍‌नी के पीछे रेकी कर रहे हैं। इनमें एक बच्चा भी है। जयमाल के वक्त मौका पाकर वह बॉक्स लेकर फरार हो गए। बैंक्वेट हाल के मेन गेट पर वह रुपयों से भरा बॉक्स लेकर जाते हुए नजर आ रहे हैं। उन्होंने पुलिस को मामले की शिकायत की ओर पुलिस को सीसीटीवी फुटेज दी, जिसमें एक बच्चे समेत 5 लोग नजर आ रहे हैं। एक बच्चा ही बॉक्स लेकर गया है। उससे पहले दो युवक और उसके बाद में दो युवक बाहर निकले हैं, लेकिन पुलिस अभी तक चोरों का पता नहीं लगा सकी है। जगदीश ने बताया कि वह खुद रिश्तेदारियों में जाकर सीसीटीवी फुटेज दिखाकर पहचान करवा रहे हैं, तो रिश्तेदार उनसे ही झगड़ा करना शुरू कर देते हैं.

बच्चों का कर रहे इस्तेमाल
जब भी बैंक्वेट हाल में चोरी हुई तो सभी में बच्चे ही शामिल मिले हैं। पार्टी पैलेस में चोरी में भी एक बच्चा नजर आया है। बच्चों का चोरी में इस्तेमाल, इसलिए गैंग करता है, क्योंकि लोग बच्चों पर आसानी से शक नहीं करते हैं। गैंग के मेंबर किसी भी बैंक्वेट हॉल में एंट्री करते हैं और फिर दूल्हा या दुल्हन के परिजनों के पीछे लगा देते हैं। इनके टारगेट पर बैग होते हैं, जिनमें रुपए या ज्वेलरी होती है। ज्यादातर मामलों में जयमाल या द्वारचार के वक्त ही बैग पार किया जाता है, क्योंकि इस वक्त लोग शादी में ज्यादा बिजी होते हैं.

कुछ दिन की जांच के बाद सब ठप
जब भी किसी बैंक्वेट हाल में चोरी की वारदात होती है तो पुलिस जांच के नाम पर एक्टिव हो जाती है। क्राइम ब्रांच को भी खुलासे में लगा दिया जाता है लेकिन जैसे ही शादियों का सीजन खत्म होता है, पुलिस भी खामोश बैठ जाती है। जुलाई माह में भी बिथरी चैनपुर एरिया में बैंक्वेट हाल में चोरी की वारदातें हुई थीं। चोरों की सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को उपलब्ध करायी गई थीं, लेकिन पुलिस चोरों को पकड़ नहीं सकी। पुलिस के सुस्त रवैये के चलते पीडि़त भी कुछ दिन चक्कर लगाकर शांत बैठ जाते हैं.

लगातार हो रही हैं वारदातें

- 10 जुलाई को शिव गार्डन में दुल्हन के पिता महेंद्र का बैग चोरी हो गया था, इसी रात चोरों ने पास के बैंक्वेट हाल रामतारा में भी वारदात की कोशिश की थी.

- 20 अप्रैल को फ्लोरा गार्डन में रिटायर्ड बीएसएनएल अधिकारी की पत्‍‌नी आशा का बैग पार कर दिया था। बैग में नकदी, ज्वेलरी, रिवाल्वर व अन्य सामान था.

- 19 फरवरी 2018 को स्पर्श लॉन में मैनेजर ने शक के आधार पर दो बच्चों को पकड़कर पुलिस के हवाले किया था, दोनों मध्यप्रदेश के रहने वाले थे

- 11 फरवरी को 2018 को त्रिमूर्ति पैलेस सुभाषनगर से मुकेश का बैग पार हो गया था, उनकी बेटी की शादी थी

- 22 नवंबर 2017 को पीलीभीत रोड स्थित मन्नन लॉन से एडवोकेट मोहम्मद अतर का बैग दो बच्चों ने पार कर दिया था, बैग में नकदी, व अन्य सामान था

inextlive from Bareilly News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.