तो क्या बहुत झगड़ालू हैं बरेली वाले पुलिस ने दिया ये प्रूफ

2019-01-17T09:05:53+05:30

bareilly@inext.co.in

BAREILLY:
तो क्या बरेली वाले बड़े झगड़ालू हो गए हैं। छोटी- छोटी बात पर झगड़ा करना, पुलिस बुलाना या फिर थाने पहुंचना उनकी आदत में शुमार हो गया है। पुलिस रिकॉर्ड कुछ ऐसी ही हकीकत बयां कर रहे हैं। पिछले साल 1 जनवरी 2018 से 31 दिसंबर 2018 तक बरेली वालों ने यूपी 100 में करीब 77423 कॉल कीं। इनमें सबसे ज्यादा 19449 कॉल सिर्फ झगड़े की थीं। साफ है कि प्रतिदिन 53 सूचनाएं पुलिस के पास झगड़े की पहुंचीं। अगर घरेलू विवाद को भी इसमें जोड़ दें तो यह आंकड़ा और अधिक पहुंच जाएगा.
60 अलग- अलग तरीके की कॉल
यूपी 100 में आने वाली सभी सूचनाओं को लखनऊ हेडक्वार्टर में रिकॉर्ड किया जाता है। किस जिले से कितनी सूचना आयीं और किस सूचना पर पीआरवी कितने समय में पहुंची, इसकी निगरानी की जाती है। पुलिस यह भी देखती है कि सबसे ज्यादा मामले किस क्राइम से जुड़े होते हैं ताकि उसको लेकर प्रिवेंटिव एक्शन लिया जा सके। यूपी 100 की ओर से इस तरह से 60 अलग- अलग तरह की कॉल रिकॉर्ड दर्ज की गई, जिसमें सबसे ज्यादा शिकायतें डिस्प्यूट की ही दर्ज की गई.
औसतन रोजाना 212 कॉल की गई
जनवरी 2018 से 31 दिसंबर 2018 तक यूपी 100 पर बरेली से कुल 77423 कॉल की गई, जिससे साफ है कि औसतन रोजाना 212 कॉल और प्रति घंटे 9 कॉल आयीं। इनमें भी सबसे ज्यादा दिन में कॉल आयीं थीं। हालांकि बरेली में रेस्पांस टाइम भी कोई ज्यादा खराब नहीं रहा है। बरेली का रेस्पांस टाइम 12 मिनट 40 सेकेंड रहा है। इसका मतलब है कि सूचना मिलने के बाद पीआरवी 10 से 15 मिनट के बीच में ही पहुंच गई.
घरेलू हिंसा में भी पीछे नहीं बरेलियंस
यूपी 100 के रिकॉर्ड को ही देखें तो बरेलियंस घरेलू हिंसा के मामले में भी पीछे नहीं हैं। पिछले वर्ष में दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा कॉल डोमेस्टिक वॉयलेंस की आयी हैं। डोमेस्टिक वॉयलेंस के 14490 कॉल आयीं। यानी रोजाना 40 मामले घरेलू हिंसा के हुए। इसी तरह से टॉप 5 में तीसरे नंबर पर पब्लिक को धमकी की 4478 कॉल, चौथे नंबर पर एक्सीडेंट की 4450 कॉल और पांचवे नंबर पर प्रॉपर्टी डिस्प्यूट की 3907 कॉल आयीं.
सिर्फ 19 पीआरवी ऑफ द डे बनीं
यूपी 100 पर रोजाना आने वाली कॉल पर जो भी पीआरवी सबसे पहले और समय पर पहुंचकर लोगों की मदद करती है, उसे पीआरवी ऑफ द डे चुना जाता है। इस मामले में बरेली काफी पीछे रहा है। एक वर्ष में बरेली की सिर्फ 19 ही पीआरवी ऑफ द डे चुनी गई हैं और कोई भी पीआरवी दोबारा इस पुरस्कार को हासिल नहीं कर सकी है। पीआरवी के द्वारा खुद भी 142 सूचनाएं दी गई.
इस तरह की पहुंची सूचनाएं
इवेंट टाइम कॉल
डिस्प्यूट 19449
डोमेस्टिक वॉयलेंस 14990
थ्रेट इन पर्सन 4478
एक्सीडेंट 4450
प्रॉपर्टी डिस्प्यूट 3907
अटेंप्ड मर्डर 3474
थेफ्ट 4300
फीमेल हैरेसमेंट 3208
गैंबलिंग 1990
रॉबरी 1127
डकैती 250
सुसाइड अटेंप्ट 228
चाइल्ड क्राइम 223
फायर 164
फायरिंग 153
मर्डर 134
डेडबॉडी 123
कम्युनल क्लेश 111
फोरजरी 99
सुसाइड 73
- - - - - - - - - - - - - - - - - - -
पिछले साल यूपी 100 पर बरेली जिले से सबसे ज्यादा झगड़े की सूचनाएं आई थीं। इसके अलावा घरेलू हिंसा, एक्सीडेंट और प्रॉपर्टी विवाद के भी मामले टॉप में रहे हैं.
डीके ठाकुर, एडीजी यूपी 100- यूपी 100 में बीते वर्ष 19449 कॉल झगड़े की ही आयीं, डोमेस्टिक वॉयलेंस की 14990 शिकायतें

- वर्ष 2018 में कुल 77423 कॉल की बरेलियंस ने

 

 

inextlive from Bareilly News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.