गोली खाकर पकड़ में आये टॉवर के बैट्री चोर

2019-03-20T06:00:07+05:30

नैनी के देवरख पार्किंग के पास पुलिस से हुई मुठभेड़

दस लाख रुपए की चोरी की बैटरी को बेचने के फिराक में थे

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: नैनी थानाक्षेत्र के देवरख पार्किंग के पास क्राइम ब्रांच और स्थानीय पुलिस और चोर गिरोह के बीच मुठभेड़ हो गई। दोनों तरफ से ताबड़तोड़ फायरिंग में चोर गिरोह के सरगना प्रकाश सिंह के पैर में गोली लग गई। गोली लगते ही वह जमीन पर गिर पड़ा। इसके बाद उसके साथी भागने लगे। पुलिस टीम ने मौके का फायदा उठाकर भाग रहे उसके चार साथियों को दबोच लिया। पुलिस टीम ने गोली लगने से घायल सरगना को पहले स्थानीय चिकित्सालय में भर्ती कराया। वहां से डाक्टरों ने उसे एसआरएन अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। पुलिस सुरक्षा के बीच उसका इलाज चल रहा है। पकड़े गए अभियुक्तों को एसएसपी अतुल शर्मा ने मीडिया के सामने पेश किया.

सूचना पर हुआ एक्शन

पुलिस लाइंस में प्रेस कांफ्रेंस में एसएसपी अतुल शर्मा ने बताया कि क्राइम ब्रांच को सूचना मिली कि एक चोर गिरोह अपने सरगना के साथ नैनी के देवरख पार्किंग के पास मौजूद है। उनके पास मोबाइल टावर से चुराई गई लाखों रुपए की चोरी की बैटरी भी है। वह इसे बेचने के फिराक में है। इस पर टीम ने नैनी पहुंचकर स्थानीय पुलिस का सहयोग लिया और मुखबिर की बताई जगह पर पहुंच गए। पुलिस ने घेराबंदी करते हुए चोरों को पकड़ने का प्रयास किया तो उन्होंने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। टीम के सदस्यों ने बचाव करते हुए मोर्चा संभाल लिया और जवाबी फायरिंग की। अभियुक्तों की तरफ से कई राउंड फायरिंग की गई। जवाबी फायरिंग में चोर गिरोह के सरगना प्रकाश सिंह उर्फ तहसील पुत्र अमर बहादुर सिंह निवासी कुकुड़ी थाना कौंधियारा के पैर में गोली लग गई। एसएसपी ने क्राइम ब्रांच प्रभारी धर्मेन्द्र सिंह यादव व स्वाट टीम प्रभारी वृंदावन राय की टीम को बधाई दी है.

यह पकड़े गए

पकड़े गए अभियुक्तों वसीम खां पुत्र अच्छे खां निवासी बरौं थाना करछना, मो। उस्मान पुत्र मो सलाम निवासी चकदोंदी थाना नैनी, निहाल सिंह चौहान पुत्र स्वर्गीय जय सिंह निवासी बसरिया, थाना करछना व सुधीर सिंह पुत्र शिवप्रताप सिंह निवासी भीजपुर थाना कौंधियारा है।

कबाड़ी का काम करते हैं

- पुलिस द्वारा बताया गया कि वसीम व मो। उस्मान कबाड़ी का काम करते हैं। ये लोग बैटरी लेने आए थे।

- सरगना प्रकाश सिंह ने बताया कि वह पहले मोबाइल टॉवर्स में टेक्नीशियन का काम करता था।

- बाद में नौकरी छोड़ टावर की बैटरी चुराकर उसे बेचने का काम करने लगा।

- सके गिरोह के लोगों ने थरवई थाना के हेता पट्टी, फूलपुर व झूंसी मेला क्षेत्र में लगे मोबाइल टावर से बैटरी चुराई थी।

- इसमें से कुछ बैटरी पहले बेच दी। बची 48 बैटरियों को वह बेचने जा रहा था।

- जो बैटरियां बरामद हुई हैं, उसकी कीमत लगभग दस लाख से अधिक की है।

- इसके अलावा 11 हजार नगद, तीन अवैध असलहा और छह मोबाइल भी बरामद हुआ है।

- इनमें से कई खिलाफ झूंसी, फूलपुर व थरवई थाना में अलग अलग धाराओं में मुकदमा पंजीकृत है.

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.