बीजेपी को यूपी की इन तीन लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी उतारने में छूट रहा पसीना

2019-04-13T08:53:42+05:30

गोरखपुरबस्ती मंडल की बची हुई तीन सीटों के भाजपा प्रत्याशी अभी तक घोषित नहीं किए जाने पर गली मोहल्ले से लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा का बाजार गरम है

GORAKHPUR@inext.co.in
GORAKHPURगोरखपुर-बस्ती मंडल की बची हुई तीन सीटों के भाजपा प्रत्याशी अभी तक घोषित नहीं किए जाने पर गली मोहल्ले से लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा का बाजार गरम है। आलम यह है कि गोरखपुर के नौ विधानसभा क्षेत्र में से आठ विधानसभा क्षेत्र के विधायक खुद को प्रत्याशी बनाए जाने की संभावनाएं भी तलाश रहे हैं। यहीं नहीं उम्मीदवार की रेस में प्रतिदिन नए-नए नाम आने से चर्चा का बाजार और भी गर्म है। बुधवार को तो हद ही हो गई। बीजेपी के एक विधायक का सोशल मीडिया पर नाम इस कदर चला कि देर शाम तक विधायक को लोकसभा प्रत्याशी बनाए जाने पर लोग बधाईयां देते रहे। वहीं, विधायक जी भी बधाई लेने से कहीं पीछे हटते हुए नजर नहीं आए। देर शाम तक विधायक जी भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फोन के आने का इंतजार करते हुए नजर आए। वहीं, बीजेपी के दिग्गज नेता अभी इसी गुणा गणित में लगे हैं कि आखिरकार गोरखपुर, संतकबीरनगर और देवरिया सीट पर किस प्रत्याशी को उतारा जाए।

कंडिडेट चयन में देरी से सोशल मीडिया में तरह तरह की चर्चा
सोशल मीडिया पर चल रही चर्चा में देखने को मिला कि भाजपा ने गोरखपुर में सपा को झटका देते हुए उनके सांसद प्रवीण निषाद को न केवल अपने पाले में कर लिया, बल्कि भाजपा की सदस्यता भी दिला दी। प्रवीण की निषाद पार्टी भी भाजपा के साथ आ चुकी है। गोरखपुर की सीट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की परंपरागत सीट रही है और प्रवीण निषाद लोकसभा उप चुनाव में उन्हें चुनौती दे चुके हैं। सोशल मीडिया पर पिछले 20-25 दिन गोरखपुर की सीट पर बीजेपी की तरफ से प्रत्याशी उतारने में देरी किए जाने पर भी कई तरह चर्चा है।

 

स्थानीय फीड बैक पर लेंगे फैसला
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार-मंगलवार रात तीन बजे तक भाजपा मुख्यालय में मैराथन बैठक की थी। इस दौरान उन्होंने प्रदेश के बची हुई आठ सीटों का फीडबैक लिया था। शाह ने पहले अलग-अलग चार भागों में अवध क्षेत्र के लोकसभा प्रभारियों और जिलाध्यक्षों और जिला प्रभारियों से बात की। मंगलवार की सुबह उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष डॉ। महेंद्र नाथ पांडेय और संगठन महामंत्री सुनील बंसल के साथ बची हुई आठ सीटों पर चर्चा की। कुछ दिक्कतों के बारे में चर्चा हुई। कहा जा रहा है कि दिल्ली जाकर शाह उसका निदान निकाल लेंगे। गोरखपुर, देवरिया, संतकबीर नगर के टिकट के चयन में सबसे ज्यादा दिक्कत, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अब स्थानीय फीड बैक के आधार पर लेंगे।

 

सपा का उम्मीदवार तैयार
सपा ने पहले ही रामभुआल निषाद को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है। रामभुआल महागठबंधन की तरफ से गोरखपुर से प्रत्याशी हैं। जबकि, कांग्रेस ने अभी घोषित नहीं किया है।

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.