जन्मभूमि पर ही राम मंदिर बनाएगी भाजपा अमित शाह

2019-01-31T09:52:31+05:30

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बुधवार को राजधानी में आयोजित बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में कहा कि गठबंधन वाले मोदी का विकल्प नहीं बन सकते

- भाजपा अध्यक्ष ने बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को किया संबोधित

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बुधवार को राजधानी में आयोजित बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में कहा कि गठबंधन वाले मोदी का विकल्प नहीं बन सकते क्योंकि उनकी नीयत में ही लूट, भ्रष्टाचार, जातिवाद, परिवारवाद और बेईमानी है. बोले, श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर जल्द बने इसके लिए न्यास की 42 एकड़ जमीन वापस देने का फैसला कर हमने सुप्रीम कोर्ट को चिट्ठी भेज दी है. राहुल बाबा के वकील कोर्ट में केस नहीं चलने देते. केस चलने पर महाभियोग लाते हैं. गठबंधन पर तंज कसते हुए बोले कि यह तो तय है कि मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे लेकिन, अगर गठबंधन की सरकार बनेगी तो सोमवार को मायावती, मंगलवार को अखिलेश, बुधवार को ममता, गुरुवार को शरद पवार, शुक्रवार को देवगौड़ा और शनिवार को स्टालिन प्रधानमंत्री बनेंगे और फिर रविवार को देश छुट्टी पर चला जाएगा.

देश का सबसे वृद्ध मुकदमा
आशियाना स्थित कांशीराम स्मृति उपवन में अवध क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में शाह ने कहा कि कांग्रेस को राम मंदिर पर बोलने का अधिकार नहीं है. कांग्रेस की वजह से यह देश का सबसे वृद्ध मुकदमा हो गया है. बोले कि राहुल गांधी खून की दलाली का आरोप लगाते हैं लेकिन, क्या कभी किसी शहीद की विधवा से मिले हैं, उसके बच्चे के सिर पर हाथ फेरा है. कहा, पहले तो अमेरिका और इजराइल ही बदला लेते थे लेकिन, मोदी के चलते भारत तीसरा बदला लेने वाला देश बन गया है. पाकिस्तान के दांत खट्टे कर दिए, उरी का बदला ले लिया. गठबंधन को मात देकर 74 सीटें जीतने के लिए हर बूथ पर 50 प्रतिशत से अधिक मत हासिल करने का मंत्र देते हुए कहा कि 2014 में लखनऊ से ही होकर दिल्ली का रास्ता गुजरा था और इस बार भी यहीं से गुजरेगा और मोदी फिर पीएम बनेंगे. सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 और 2017 की तरह ही भाजपा फिर अपना परचम लहराएगी और मोदी के नेतृत्व में प्रचंड बहुमत की सरकार बनेगी. कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री एवं उप्र प्रभारी जेपी नड्डा और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत कई मंत्री, अवध क्षेत्र के सांसद, विधायक और प्रमुख नेता मौजूद थे.

यूपी में न बुआ दिखेंगी न बबुआ
सपा-बसपा गठबंधन पर तंज कसते हुए शाह ने कहा कि आखिर इनका कैसा गठबंधन? न ही पहले कभी मंच साझा करते थे और न ही आमने-सामने मिलने पर नमस्ते करते थे. यह चुनाव एक बार जिताकर दिखा दो तो उप्र में न तो बुआ दिखेंगी और न ही बबुआ रहेंगे. वहीं कांग्रेस पर तंज कसा कि यूपीए की सरकार में दो जी थे- सोनिया जी और राहुल जी. तब 12 लाख करोड़ रुपये का टू जी घोटाला हुआ. अब प्रियंका थ्री-जी आ गई हैं तो सोचिये कितना बड़ा घपला होगा.

भाजपा नेताओं के यहां नहीं पड़ते छापे
वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस के पास सीबीआई क्यों जाती है. भाजपा नेताओं के यहां सीबीआई छापे क्यों नहीं पड़ते. बोले कि यह कितनी विडंबना है कि ममता बनर्जी की रैली में 23 दल जुटे और उसमें 13 प्रधानमंत्री पद के दावेदार थे.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.