शाह ने पूर्वाचल फतह का दिया मंत्र

2019-04-14T06:00:59+05:30

- दो दिवसीय वाराणसी दौरे के अंतिम दिन भाजपा अध्यक्ष ने पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं संग की मीटिंग

- योजनाओं का प्रचार प्रसार घर-घर करने पर दिया जोर, पूर्वाचल को पांच जोन में बांट तैयारी का निर्देश

VARANASI

दो दिनी प्रवास के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने वाराणसी सीट से पीएम नरेंद्र मोदी को बड़ोदरा से भी अधिक मतों से विजयी बनाने के साथ कार्यकर्ताओं को पूर्वाचल फतह का मंत्र दिया। इसके अलावा वाराणसी लोकसभा क्षेत्र को चार भागों में बांटकर बूथ जीतने की रणनीति पर जोर दिया।

होनी चाहिए ऐतिहासिक जीत

वाराणसी प्रवास के दूसरे दिन नगवां स्थित अमेठी कोठी में अमित शाह ने तीन अलग-अलग बैठकें की। जिला, महानगर, 17 मंडल, 226 सेक्टर और 1819 बूथों के पदाधिकारियों से चुनाव में पूरा समय देने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि इस बार पीएम मोदी की जीत पिछले चुनाव से ज्यादा महत्वपूर्ण है। पूरे देश में भाजपा पीएम नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट मांग रही है, ऐसे में उनकी अपनी सीट पर ऐतिहासिक जीत होनी चाहिए। इसके लिए पार्टी पदाधिकारी क्षेत्र, जिला और महानगर में सीमित रहने के बजाय बूथ स्तर पर काम करें।

क्लीन स्वीप का मतलब यूपी विजय

अमित शाह ने वाराणसी सहित पूर्वाचल की 27 सीटों की पार्टी की ओर से कराए गए सर्वे और फीडबैक के आधार पर समीक्षा की। पूवरंचल की पांच लोकसभा सीटों पर पार्टी की चिंता को साझा करते हुए कहा कि इन सीटों पर ज्यादा मेहनत करनी होगी। इसके लिए वहां मतदान का प्रतिशत बढ़ाकर विपक्ष को हराया जा सकता है। उन्होंने पूवरंचल में क्लीन स्वीप का मतलब यूपी विजय बताया।

विपक्ष के पास मुद्दे नहीं

प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में अमित शाह ने मुद्दों पर आधारित चुनाव प्रचार अभियान चलाने पर जोर दिया। कहा कि विपक्ष के पास मुद्दे नहीं हैं, वे कुछ बातों को लेकर जनता के बीच जा रहे हैं मगर उनकी बात में दम नहीं है। भाजपा के पास पिछले पांच साल के काम के साथ ही पीएम मोदी का दमदार नेतृत्व है। ऐसे में पूवरंचल में केंद्र और प्रदेश सरकार की घर-घर तक पहुंची योजनाओं का प्रचार किया जाए। इसके बाद विदेशों में पीएम की बढ़ी लोकप्रियता को भी जनता तक पहुंचाएं। इसके लिए जरूरी है कि गली-मोहल्लों और गांवों में जगह-जगह इसकी चर्चा हो।

70 फीसदी मतदान कराने का लक्ष्य

वाराणसी लोकसभा चुनाव संचालन समिति की बैठक में अमित शाह ने वाराणसी लोकसभा क्षेत्र को चार भागों में बांटकर पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी। कहा कि बूथों पर भी पदाधिकारियों की मौजूदगी हो और वे मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित करें। पिछले चुनाव में 58 फीसदी मतदान को इस बार 70 फीसदी पहुंचाने का लक्ष्य दिया। इसके लिए सोशल मीडिया को हथियार बनाकर पीएम मोदी के काशी के लगाव, पांच साल के विकास, विश्वनाथ मंदिर के विश्वनाथ धाम के सफर और नामांकन के दौरान स्वागत को देश के कोने-कोने तक पहुंचाने की बात कही।

बाबा दरबार में मत्था टेका

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नामांकन की तैयारियों की समीक्षा करने दो दिवसीय चुनावी दौरे पर आए भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को रामनवमी के अवसर पर काशी विश्वनाथ के दर्शन-पूजन किए। इसके बाद उन्होंने विश्वनाथ धाम के कॉरिडोर का जायजा लिया और धाम में चल रहे कार्यो के बाबत जानकारी ली। वहां से शाह विशेश्वरगंज स्थित कालभैरव मंदिर पहुंचे। वहां भी विधि-विधान से बाबा का दर्शन कर जीत का आशीर्वाद मांगा। इसके बाद एयरपोर्ट के लिए निकले। सत्रह घंटे के वाराणसी प्रवास के दौरान शाह-योगी का पूरा फोकस 25 को पीएम मोदी के रोड शो व 26 को नामांकन की तैयारियों के साथ बूथ मैनेजमेंट पर था।

inextlive from Varanasi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.