बम की तरह फटे थे 200 गैस सिलेंडर

2019-03-08T06:00:32+05:30

डीएम व एसएसपी ने मछेरान बस्ती में निकाला फ्लैग मार्च

डीएम और सांसद ने दिया नुकसान की भरपाई का आश्वासन

MEERUT : मछेरान की भूसा मंडी में सिलेंडर फटने से झुग्गियों में आग फैली थी। सिलेंडरों के फटने के कारण आग पर काबू नहीं पाया जा सका। घटनास्थल पर करीब 200 सिलेंडर फटे हुए मिले। सीएफओ अजय शर्मा का कहना है कि सिलेंडर फटने से फायर ब्रिगेड को भी आग बुझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी थी।

बम का गोला बने सिलेंडर

बस्ती में रहने वाले महबूब ने बताया कि शाम पांच बजे जैसे ही झुग्गियों में आग लगी तो उससे बुझाने का प्रयास किया गया। लेकिन झुग्गियों में रखे सिलेंडर एक-एक करके बम का गोला बनकर फटने लगे, जिसके चलते वहां पर भगदड़ मच गई। देखते ही सिलेंडर फटने से आसपास की झुग्गियों में आग लगनी शुरू हो गई। कुछ ही देर में 250 झुग्गियां जलकर राख हो गई।

एक भी नहीं बचा सिलेंडर

लोगों ने बताया कि बस्ती में 250 महिलाओं ने उज्जवला योजना के तहत गैस का बड़ा सिलेंडर ले रखा था। आग से बस्ती में सभी के सिलेंडर फट गए। एक भी सिलेंडर उनकी बस्ती में नहीं बचा।

-----

नुकसान की भरपाई होगी

भूसामंडी में गुरुवार को सारा दिन जन प्रतिनिधियों व पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों का तांता लगा रहा। डीएम अनिल ढींगरा व एसएसपी नितिन तिवारी दिन निकलते ही सीआरपीएफ के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। न केवल फ्लैग मार्च निकाला, बल्कि लोगों का हाल भी जाना। डीएम ने कहा कि कमेटी आग लगने की जांच कर रही है। कमेटी की रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। नुकसान की भरपाई की जाएगी। एसएसपी नितिन तिवारी ने बताया कि जिन पुलिस कर्मियों पर आग लगाने का आरोप है, उनकी जांच शुरू हो गई है।

-----

क्या था मामला

बुधवार शाम चार बजे कैंट बोर्ड की टीम पुलिस के साथ मछेरान में कैंट बोर्ड की जमीन पर अतिक्रमण हटाने के लिए गई थी। आरोप है कि कैंट बोर्ड कर्मचारियों ने वहां के लोगों के साथ बदसलूकी की। इसके बाद मछेरान के लोगों ने पुलिस कर्मी के साथ मारपीट कर दी। इसी दौरान वहां पर करीब 250 झुग्गियों में भयंकर रूप से आग लग गई। गुस्साए लोगों ने दिल्ली रोड पर रोडवेज बसों में लूटपाट करते हुए जाम लगा दिया था।

सांसद ने िदया आश्वासन

गुरुवार सुबह सांसद राजेंद्र अग्रवाल भाजपा नेताओं के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि मुआवजे के लिए घटना की रिपोर्ट प्रदेश सरकार को भेज दी गई है। शीघ्र ही उन्हें मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिसने आग लगाई है, उसको बख्शा नहीं जाएगा।

एक बेटी को लिया गोद

आर्दश सेवा समिति के अध्यक्ष अनस चौधरी भी दोपहर को घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि मुस्कान नाम की एक युवती की अगले महीने शादी थी। शादी में देने वाला कीमती सामान जलकर राख हो गया है। वह मुस्कान को गोद लेते हैं। उसकी शादी का सारा खर्चा उठाएंगे।

रोटी के लिए तरसे लोग

बस्ती में आग लगने से बुजुर्ग से लेकर बच्चे तक रोटी के लिए तरस गए। कुछ लोगों ने बिरयानी वितरित कर उनकी भूख को श्ांत किया।

बिलखते रहे लोग

गुरुवार को दिन भर सैंकड़ों की तादाद में लोग अपना जला हुआ आशियाना देखकर बिलख- बिलख कर रोते हुए नजर आए। किसी का जिंदगी भर की कमाई पूंजी जलकर राख हो गई। किसी की बेटी के लिए दहेज का सामान भस्म हो गया।

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.