रोडवेज अड्डे से बस चोरी मची खलबली

2019-01-23T06:00:18+05:30

पुलिस ने पांच घंटे बाद पुलिस ने सरधना रोड से बरामद की बस

चोरों ने नोएडा रोडवेज की नई बस को किया था चोरी

MEERUT। शहर में वाहन चोरों का आंतक इस कदर कहर बरपा रहा है कि दोपहिया या चौपहिया वाहन तो छोडि़ए अब बसें भी बस अड्डों से चोरी की जा रही हैं। दरअसल, मंगलवार को हुआ यूं कि वाहन चोरों ने भैंसाली बस अड्डे पर खड़ी नोएडा रोडवेज की बस को चोरी कर लिया। जिसके चलते रोडवेज व पुलिस अधिकारियों में खलबली मच गई। सदर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। जिसके बाद पुलिस ने पांच घंटे बाद बस को बरामद कर लिया.

ये है मामला

भैंसाली बस अड्डे के अंदर नोएडा रोडवेज की एक नई बड़ी बस खड़ी थी। मंगलवार सुबह चार बजे जब बस का चालक रोडवेज पर पहुंचा तो बस गायब थी। बस गायब देखकर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। उसे समझने में देर न लगी कि बस चोरी हो चुकी है। उसके बाद उसने रोडवेज अधिकारियों व पुलिस को बस चोरी होने की सूचना दी। बस चोरी होने की सूचना पर कुछ ही देर में रोडवेज बस अधिकारी व पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। चालक से बस के बारे में जानकारी हासिल की और सदर थाने में बस चोरी का मामला दर्ज कराया गया।

पांच घंटे बाद मिली बस

घटना के पांच घंटे बीत जाने के बाद बस को सरधना रोड के पास से बरामद कर लिया गया। बस वहां पर लावारिस हालत में खड़ी हुई थी। सदर इंस्पेक्टर सुभाष अत्री का कहना है कि बस को चोर सरधना रोड के पास छोड़कर फरार हो गए है।

बस डिपो पर न सुरक्षा न संसाधन

मंगलवार को शहर के प्रमुख भैंसाली डिपो से एक नई सीएनजी बस दिन- दहाडे चोरी कर ली गई। इस चोरी जहां एक तरफ शहर में हो रही पुलिसिंग की पोल खोली तो दूसरी तरफ रोडवेज की सुरक्षा व्यवस्था पर बड़ा प्रश्नचिन्ह भी लगा दिया। गौरतलब है कि अगर रोडवेज बस अड्डे से बस चोरी हो सकती है तो डीजल, स्पेयर पार्ट और अन्य चीजों की चोरी कितनी आसान होगी। हालत यह है कि सालभर से चल रहे बस डिपो के नवीनीकरण के कारण बस डिपो पर लगे सीसीटीवी कैमरे गायब हो चुके हैं और डिपो की निगरानी में लगे कर्मचारी भी कागजों मे ही अपनी ड्यूटी पूरी कर रहे हैं।

सिक्योरिटी के नाम बूढे़ कर्मचारी

रोडवेज ने बस चलाने में अयोग्य चालकों को डिपो की सुरक्षा व निगरानी का जिम्मा सौंप रखा है। इस काम के लिए करीब एक दर्जन कर्मचारियों की रोडवेज में नियुक्ति है, बावजूद इसके एक कर्मचारी भी डिपो परिसर में बसों की देख- रेख के लिए मौजूद नहीं रहता.

सीसीटीवी गायब

डिपो की सुरक्षा के लिहाज से दो साल पहले मुख्य एंट्री व एग्जिट पर सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था की गई थी लेकिन बस अड्डे के नवीनीकरण के चलते कैमरे गायब हो गए। अब नया बस अड्डा बनकर तैयार है लेकिन कैमरों की जगह अभी तक तय नही की गई है।

बस चोरी के मामले में एआरएम से जानकारी मांगी गई है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए कैमरों और कर्मचारी दोनों की ड्यूटी लगाई जाएगी.

नीरज सक्सेना, आरएम

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.