देहरादून कार में लिफ्ट देकर भाईबहन को ठगा चेकिंग के नाम पर उड़ा लिए डेढ़ लाख रुपये

2019-01-23T11:28:57+05:30

- चेकिंग का झांसा देकर पैसे लिफाफे में रखवाए

- लिफाफा बदलकर उड़ा ली 1.65 लाख रुपए की रकम

DEHRADUN: कार में लिफ्ट देकर ठगों ने भाई- बहन से एक लाख 65 हजार रुपए ठग लिए। चेकिंग का झांसा देकर उन्हें पर्स में रखे पैसे एक लिफाफे में रख गाड़ी में छुपाने को कहा और फिर बड़ी सफाई से ठग ने लिफाफा बदल दिया। इसके बाद दोनों को डोईवाला में उतारकर दोनों फरार हो गए। भाई- बहन ने लिफाफा खोला तो उसमें कुछ भी नहीं था। पीडि़त की तहरीर पर नेहरू कॉलोनी पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है.

क्या है मामला
पुलिस के अनुसार पीडि़त सुभाष डबराल पुत्र राजेंद्र प्रसाद डबराल निवासी मोथरोवाला विष्णुपुरम से रविवार को अपनी बड़ी बहन लता देवी के साथ ऋषिकेश अपने घर जा रहे थे। दोनों पुरानी बाइपास चौकी के पास ऋषिकेश के लिए वाहन का इंतजार कर रहे थे, इसी दौरान उनके पास एक स्लेटी रंग की कार आकर रुकी। कार सवार ने उनसे पूछा कि कहां जाना है, तो उन्होंने बताया ऋषिकेश जाना है। कार चालक ने उन्हें लिफ्ट देने की पेशकश की तो दोनों कार में बैठ गए। जोगीवाला पार करने के बाद कार चालक ने उन्हे कहा कि आगे चेकिंग चल रही है वे अपना कीमती समान उन्हें दे दें, वे उसे कार में छिपा देंगे। कार चालक ने उन्हें एक लिफाफा दिया, लता ने अपने बैग में रखे 1.65 लाख रुपए लिफाफे में डाल दिए और बैग गाड़ी में ही रख दिया। इसके बाद आरोपी ने बड़ी सफाई से उसके पैसे का लिफाफा चेंज कर दिया और दोनों भाई- बहन को डोईवाला में कार से उतारकर कार चेक करवाने का बहाना बनाया। दोनों उतर गए, और वहीं कार का इंतजार करने लगे। काफी देर बाद जब वह कार नहीं आई तो उन्हें शक हुआ, लता ने लिफाफा खोलकर देखा तो उसमें से पैसे गायब थे.

सुभाष की शादी के लिए थे पैसे
पुलिस के अनुसार अगले महीने पीडि़त सुभाष की शादी होने वाली है। वह एक इंटर कॉलेज में क्लर्क की नौकरी करता है। रविवार को वह बहन लता के साथ गांव जा रहा था। नेहरू कालोनी थानाध्यक्ष राजेश शाह ने बताया कि पीडि़तों को कार का नंबर याद नहीं है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से ठगों की पहचान करने की कोशिश कर रही है.

inextlive from Dehradun News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.