माइक्रोमैक्‍स Android One रिव्‍यू बेहतर स्‍पेसिफिकेशन के साथ मिलेगा शानदार एक्‍सपीरियंस

2014-09-22T12:25:01+05:30

गूगल ने अपने एंड्रायड वन स्‍मार्टफोन को लॉन्‍च करके लाखों लोगों के दिलों में एक नई उम्‍मीद जगा दी है एंड्रायड वन स्‍मार्टफोन के प्राइस को देखकर कहा जा सकता है कि कंपनी ने छोटे शहरों के लोगों की जरूरतों को टारगेट किया है गूगल ने माइक्रोमैक्‍स कार्बन और स्‍पाइस के साथ अपने इस प्रोजेक्‍ट को शुरू किया है तो आइये जानते हैं क्‍या कहता है माइक्रोमैक्‍स एंड्रायड वन का रिव्‍यू

डिजाइन और बिल्‍ड
माइक्रोमैक्‍स के इस कैनवास एंड्रायड वन की तुलना अगर कंपनी के अन्‍य हैंडसेट से करें, तो भले ही डिजाइन और के मामले में एंड्रायड वन पीछे रह जाये, लेकिन इसकी डिजाइन आपको नया एक्‍सपीरियंस देगी. इसका बैक कवर इतना रबरिश और स्‍मूथ है, जिसे छूकर आपको एक अलग ही एहसास होगा. इसके अलावा यह कैनवास ए1 एंड्रायड वन स्‍मार्टफोन बहुत ही हल्‍का और कैरी करने के लिये आसान है. हालांकि अगर स्‍पीकर की बात करें तो इस स्‍मार्टफोन में बैक-कवर के नीचे साइड सर्किल शेप में स्‍पीकर बना हुआ है. इसके अलावा इसका वार बटन और वाल्‍यूम बटन राइट स्‍लाइड पर लगा हुआ है, जिसका शेप बहुत ही फ्लैट है.
डिस्‍प्‍ले
अब अगर हम कैनवास ए1 एंड्रायड वन के डिस्‍प्‍ले पर चर्चा करें तो इसमें आपको 4.5 इंच की डिस्‍प्‍ले मिलेगी. एंड्रायड वन सीरीज के इस पहली डिवाइस को देखकर कह सकते हैं कि डिस्‍प्‍ले के मामले में यह काफी बेहतर है. यह देखने में एकदम ब्राइट, और कलर कांबिनेशन भी काफी सुपीरियर है. हालांकि इसे हम वर्ल्‍ड की बेस्‍ट स्‍क्रीन तो नहीं कह सकते, लेकिन इसके प्राइस रेंज के हिसाब से देखा जाये तो यह अन्‍य के मुकाबले काफी बेहतर है.
परफार्मेंस
बजट स्‍मार्टफोन की लिस्‍ट मे माइक्रोमैक्‍स का यह एंड्रायड वन परफार्मेंस के मामले में एक हाई बेंचमार्क सेट करता है. अगर दूसरे शब्‍दों में कहें तो यह मोटो ई के थोड़ा आगे निकल गया है. अगर एंड्रायड वन के बेनिफिट्स को जोड़ा जाये तो यह उसमें एक्‍स फैक्‍टर साबित होगा. हालांकि जब इसके रिसेंट एप स्‍क्रीन को खोला गया तो इसमे कुछ समय लग गया, परन्‍तु यह सिर्फ एक या दो बार ही हुआ था. फिलहाल इसे हम बड़ा इश्‍यू नहीं मान सकते. इसके अलावा इसकी ऑडियो क्‍वॉलिटी तो दमदार है ही, जबकि इसमें सिर्फ एक स्‍पीकर लगा हुआ है, वो भी पीछे. इसके साथ ही जब फोन को फेस ऊपर करके रख दें, फिर भी इसकी साउंड में कोई फर्क नहीं पड़ता है.
फीचर्स
जैसा की आप सबको पता चल चुका है कि यह गूगल बेस्‍ड एंड्रायड वन है, तो इसके गुगल ब्राउसिंग में कोई परेशानी नहीं होने वाली है. गूगल अपने प्‍ले स्‍टोर के माध्‍यम से एप डाउनलोड करने की पूरी फैसेलिटी दी है. हालांकि गूगल एंड्रायड वन के सबसे बड़े ड्रा-बैक की बात करें, तो वो है इसका कैमरा. जी हां आप एंड्रायड वन स्‍मार्टफोन के कैमरे को बिना एसडी कार्ड के यूज नहीं कर सकते. शायद इसी के चलते फिलहाल सभी कंपनियों अपने हैंडसेट के साथ 8जीबी तक का एसडीकार्ड फ्री में दे रही हैं.
कैमरा
माइक्रोमैक्‍स के इस एंड्रायड वन स्‍मार्टफोन का कैमरा इसके प्राइस टैग को देखते हुये काफी अच्‍छा है. हालांकि हम इससे और बेहतर की उम्‍मीद कर रहे थे. इसका एप गूगल कैमरा एप वाला है तो आपको लेंस ब्‍लर, फोटोस्‍फीयर, पैनोरमास आदि की व्‍हीसल सुनाई देगी. इसके अलावा यह कैमरा इमेज को बहुत जल्‍दी कैप्‍चर कर सकता है. लेकिन कुछ मूमेंट्स में यह काफी पीछे रह जाता है. अगर आप शैडो में कोई फोटो कैप्‍चर करना चाहते हैं, तो इसमें आपको क्‍वॉलिटी के साथ समझौता करना पड़ सकता है. अब बात आती है इसी बैटरी लाइफ की, तो यह 18 घंटे तक आपको बैक-अप दे सकता है.  
वर्डिक्‍ट
माइक्रोमैक्‍स के सभी फीचर्स को देखने के बाद यह कहा जा सकता है कि यह कंपनी का बेस्‍ट स्‍मार्टफोन है. इसमें अपको यूजेबिलिटी, स्‍टेबिलिटी और लॉन्‍गविटी के मामले में बेहतर एक्‍सपीरियंस मिलेगा. अगर इसके प्राइस टैग को देखा जाये तो इसके स्‍पेक्‍स के हिसाब से बिल्‍कुल फिट बैठता है. अगर इसके कैमरे को छोड़ दिया जाये तो यह ओवरऑल बेहतर स्‍मार्टफोन है.
Courtesy: Tech2

Hindi News from Technology News Desk

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.