CBSE 10th Board Result जमकर खेला फिर भी बना टॉपर

2019-05-07T09:57:49+05:30

बोर्ड एग्जाम्स में टॉपर होने के लिए हर वक्त किताबों से जूझना बिल्कुल जरूरी नहीं हैं यह कहना है टाॅपर शुभ अग्रवाल का आइए जानें और क्या बताया शुभ अग्रवाल ने

- शुभ अग्रवाल ऑल इंडिया थर्ड टॉपर

- आगे की पढ़ाई के लिए चुना स्ट्रीम

meerut@inext.co.in
MEERUTबोर्ड एग्जाम्स में टॉपर होने के लिए हर वक्त किताबों से जूझना बिल्कुल जरूरी नहीं हैं। बिना 10-12 घंटे पढ़ाई किए ज्यादा से ज्यादा समय पबजी खेलकर भी टॉप किया जा सकता है। शुभ अग्रवाल ने न केवल यह साबित किया है बल्कि दूसरे स्टूडेंट्स के लिए एग्जाम्पल भी सेट किया है। दीवान पब्लिक स्कूल के इस ब्रिलिएंट स्टूडेंट ने दसवीें में ऑल इंडिया थर्ड रैंक हासिल की है।

सोशल मीडिया का किया प्रॉपर यूज
शुभ बताता है कि उसे यकीन ही नहीं हो रहा कि उसने सीबीएसई में इतना अच्छा स्कोर किया है। नार्मली उसने टॉपर्स जैसे स्ट्रेटजी बनाकर पढ़ाई नहीं की। न ही सोशल मीडिया या ऑनलाइन गेमिंग से दूरी बनाई। सिर्फ रेग्यूलर पढ़ाई की। पबजी खेलने का शौकिन शुभ बताता है कि मैंने दोनों को बैलेंस किया और रिजल्ट सबसे सामने है। शुभ का कहना है कि 10 से 12 घंटे पढ़े बिना भी टॉपर बना जा सकता है।

3 नंबर्स ने बिगाड़ा गणित
497 मा‌र्क्स लाने वाले शुभ का गणित साइंस ने बिगाड़ दिया। सभी सब्जेक्ट्स में 100 मा‌र्क्स हैं लेकिन साइंस में 97 मा‌र्क्स मिले हैं। इसमें कटे तीन नंबर की वजह से ही शुभ थर्ड रैंक पर आया है। आगे की पढ़ाई के लिए शुभ ने आरके पुरम दिल्ली पब्लिक स्कूल में कॉमर्स में एडमिशन ले लिया है। हालांकि आगे क्या बनना है इसको लेकर उसने अभी कुछ नहीं सोचा है। उसका कहना है कि एक बार में एक-एक कदम ही चलना चाहता है। अभी कॅरियर को लेकर कुछ नहीं सोचा है।

शुभ अग्रवाल

दीवान पब्लिक स्कूल

फादर - विशाल अग्रवाल

मदर- निधि अग्रवाल

स्कोर कार्ड

मैथ्स- 100

इंग्लिश- 100

सोशल साइंस- 100

साइंस- 97

संस्कृत - 100

मा‌र्क्स

497

प्रतिशत 99.4


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.