श्रीलंका राजनीतिक संकट संसद में बवाल सदस्यों के बीच हुई जमकर मारपीट और स्पीकर पर भी हमला

2018-11-15T07:05:52+05:30

श्रीलंकाई संसद में प्रधानमंत्री के चयन को लेकर जमकर हंगामा हुआ। इस दौरान सदस्यों के बीच मारपीट भी हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक संसद के स्पीकर पर भी हमला किया गया।

कोलंबो (पीटीआई)। राजनीतिक संकट के दौर से गुजर रहे श्रीलंका की संसद में गुरुवार को जमकर बवाल हुआ। यहाँ तक सदस्यों के बीच जमकर मार-पीट भी हुई। इस दौरान राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना और महिंदा राजपक्षे के समर्थकों ने स्पीकर कारू जयसूर्या पर भी हमला बोल दिया। हमलवारों ने स्पीकर के माइक्रोफोन तोड़ डाले। इसी बीच, राष्ट्रपति ने राजपक्षे सरकार के खिलाफ संसद में पारित अविश्वास प्रस्ताव को मानने से इन्कार कर दिया और कहा कि राजपक्षे ही देश के प्रधानमंत्री हैं। बता दें कि संसद का सत्र शुरू होने के बाद स्पीकर कारू जयसूर्या ने कहा कि बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव में राजपक्षे सरकार हार गई है और चूंकि अभी तक किसी नए प्रधानमंत्री की नियुक्ति नहीं हुई है इसलिए इस समय देश का धानमंत्री कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि वह देश में किसी भी कैबिनेट को स्वीकार नहीं करते हैं।

फिर से वोटिंग का अनुरोध

खबरों के मुताबिक, संसद में जब राजपक्षे बयान देने के लिए खड़े हुए तो स्पीकर ने कहा कि वह अपना बयान एक सदस्य के रूप में दें नाकि प्रधानमंत्री के रूप में। इस पर राजपक्षे ने जवाब दिया, 'मैं राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री रह चूका हूं इसलिए प्रधानमंत्री का पद मेरे लिए महत्वपूर्ण नहीं है। मैं संसद में सभी 225 सदस्यों से अनुरोध करता हूं कि वे मेरे साथ फिर से देश में चुनाव की मांग करें क्योंकि हम आम चुनाव चाहते हैं।' राजपक्षे की इस मांग के बाद हटाए गए प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की यूनाइटेड नेशनल पार्टी (यूएनपी) के सदस्यों ने भी वोटिंग कराने की मांग की।
चुनाव पर सहमत हुए स्पीकर
इसके बाद संसद में स्पीकर वोटिंग पर सहमत हो गए, जिसके बाद सिरिसेना और राजपक्षे के वफादार सदस्यों ने स्पीकर के आसन को घेर लिया और उनपर हमला बोल दिया। यूएनपी सांसद हर्ष डी सिल्वा ने सदन के अंदर से ही ट्वीट किया कि सिरिसेना-राजपक्षे के समर्थकों ने स्पीकर पर हमले की कोशिश की। संडे टाइम्स के ऑनलाइन संस्करण के मुताबिक, स्पीकर पर फेंकी गई चीजों में रद्दी पेपर की टोकरी और पुस्तकें शामिल थीं। सांसदों ने उनके माइक्रोफोन को भी तोड़ दिया। अखबार ने बताया कि स्पीकर का माइक्रोफोन तोड़ते हुए सांसद दिलम अनुमुगम के हाथ में चोट लग गई, जिसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया।

श्रीलंका राजनीतिक संकट: रक्तपात के भय से लोकसभा स्पीकर आैर UN लोकतांत्रिक ढंग से संसद में हल करना चाहते हैं मामला

चीन की मदद से श्रीलंका बना रहा नया महानगर जो हांगकांग, दुबई को देगा टक्‍कर


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.