चिनफिंग ने हाफिज सईद पर पाकिस्तान को नहीं दी कोई सलाह खबर बेबुनियाद चीन

2018-05-24T16:59:25+05:30

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को किसी अन्य देश में भेजने की सलाह वाली खबर को चीन के राष्ट्रपति चिनफिंग ने बेबुनियाद बताया है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की।

चिनफिंग ने खबर क बताया बेबुनियाद
बीजिंग (पीटीआई)।
मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को किसी अन्य देश में भेजने की सलाह वाली खबर को चीन के राष्ट्रपति चिनफिंग ने बेबुनियाद बताया है। चीन ने गुरुवार को कहा कि राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को लेकर पाकिस्तान को कोई सलाह नहीं दी है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने गुरुवार को कहा, 'यह खबर पूरी तरह से बेबुनियाद और हैरान करने वाली है।'
ये था मामला
बता दें कि मीडिया में बुधवार को खबर आई थी कि चीन के राष्ट्रपति ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी को सलाह दी है कि वह सईद को पश्चिमी एशिया के किसी देश में भेजने के बारे में विचार करें। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के एक करीबी सहयोगी के हवाले से इस खबर में कहा गया था कि पिछले महीने जब अब्बासी चीन दौरे पर गए थे, तभी चिनफिंग ने उन्हें यह सलाह दी थी। खबर में यह भी बताया गया कि चीन ने सईद पर कार्रवाई को लेकर पाकिस्तान पर बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबाव के चलते अब्बासी को यह सलाह दी।
सईद पर एक करोड़ डॉलर का इनाम
प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद पर अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर (करीब 68 करोड़ रुपये) का इनाम घोषित कर रखा है। वह 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है। इस हमले में छह अमेरिकी नागरिकों समेत 166 लोग मारे गए थे। वर्ष 2012 में अमेरिका ने उसे वैश्विक आतंकी घोषित किया था।
चुनाव लड़ेगा हाफिज सईद
गौरतलब है कि पाकिस्तान में अगले महीने आम चुनाव आयोजित होने वाला है और हाफिज सईद ने भी उसमें हिस्सा लेने का फैसला किया है। लेकिन उसकी पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) को पाकिस्तान में राजनीतिक दल के तौर पर पंजीकृत नहीं किया जा रहा है। दरअसल, अमेरिका ने पिछले महीने एमएमएल को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया था। उसने कहा था कि इसका गठन प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सदस्यों से किया गया है। यह कथित पार्टी अपने चुनावी बैनरों में खुलेआम सईद का प्रचार कर रही है।

इटली में ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त, 2 की मौत और कई यात्री घायल

जर्मनी में बढ़ते प्रदूषण के चलते डीजल वाहनों पर बैन


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.