जनाब होली में 19 करोड़ की गटक गए शराब

2019-03-24T06:00:32+05:30

19, 20 व 22 को आम दिनों से कई गुना ज्यादा बिकी शराब

-पिछली बार होली पर करीब 15.5 करोड़ की शराब बिकी थी

vinod.sharma@inext.co.in

VARANASI

भांग-बूटी और ठंडई के लिए मशहूर बनारस में होली के दौरान रंग-गुलाल से कहीं ज्यादा शराब की बिक्री हुई। 19, 20 और 22 मार्च को शौकीन करीब 19 करोड़ रुपये की शराब गटक गए। इससे आबकारी विभाग गदगद है। हालांकि त्योहार व खास मौके पर आम दिनों की अपेक्षा शराब की बिक्री बढ़ है लेकिन इस बार तो बिक्री ने रिकार्ड तोड़ दिया है। शहर ही नहीं ग्रामीण इलाकों में भी लोगों ने त्योहार पर शराब का जमकर सेवन किया।

हर दिन दो करोड़

आम दिनों में बनारस में रोजाना करीब दो करोड़ रुपये की शराब बिकती है। त्योहार या नये साल पर इसमें इजाफा हो जाता है। लेकिन होली के तीन दिनों में यह आंकड़ा कई गुना ज्यादा हो जाता है। बिक्री लगभग डेढ़ गुना हो जाता है। होली पर भांग की बिक्री भी खूब होती है। ठंडई के साथ ही पकवानों में मिलाकर लोग इसका सेवन करते हैं। इस बार भी होली में आबकारी विभाग को उम्मीद थी कि डेढ़ गुना तक बिक्री होगी। लेकिन शराब के शौकीनों ने भांग-बूटी को किनारे कर दिया और शराब उनकी पहली पसंद बन गयी।

शहरी इलाकों में सबसे ज्यादा बिक्री अंग्रेजी शराब की हुई। दूसरे स्थान पर देसी और तीसरे स्थान पर बीयर रही। पिछली साल होली में 15.5 करोड़ रुपये की शराब बिकी थी। इस बार यह बढ़कर करीब 19 पहुंच गया।

एक नजर

19 करोड़ की शराब बिकी इस बार होली में

11 करोड़ रुपये की अंग्रेजी शराब

5.5 करोड़ रुपये की देसी शराब

2.5 करोड़ रुपये की बीयर बिकी

15.5 करोड़ की शराब बिकी थी पिछले साल

149

बीयर की दुकान हैं शहर में

170 अंग्रेजी शराब की

8 मॉडल शॉप है

134

करोड़ की शराब बिकी थी पिछले साल सिर्फ दिसम्बर माह में

223 करोड़

अंग्रेजी शराब से बीते साल जनवरी से दिसम्बर तक सरकार को राजस्व के रूप में मिले

102 करोड़

रुपए मिले हैं राजस्व के रूप बीयर से बीते साल अप्रैल से दिसम्बर तक

वर्जन

त्योहारों पर आम दिनों की अपेक्षा बिक्री बढ़ जाती है। खासकर न्यू ईयर और होली के मौके पर। इस होली पर पिछली बार से बिक्री करीब बीस प्रतिशत बढ़ी है।

-करुणेन्द्र सिंह, जिला आबकारी अधिकारी

inextlive from Varanasi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.