कवायदें बेकार रोजाना आबरू होती तारतार

2019-06-12T06:01:01+05:30

- एक हफ्ते के भीतर 12 आरोपियों को पुलिस ने किया अरेस्ट

- रेप, मारपीट, अपहरण, पॉक्सो एक्ट की दर्ज हुई शिकायतें

GORAKHPUR: जिले में महिलाओं खासकर किशोरियों संग होने वाले अपराध पर लगाम नहीं लग पा रही है। करीब रोज ही एक किशोरी के अपहरण, रेप सहित अन्य तरह के उत्पीड़न की शिकायत सामने आ रही हैं। जून माह में 10 दिनों के भीतर पुलिस ने पॉक्सो एक्ट, रेप और अन्य धाराओं में पुलिस ने 12 लोगों को अरेस्ट किया है। एसएसपी ने कहा कि महिलाओं संग होने वाली घटनाओं को पुलिस गंभीरता से ले रही है। हर सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को अरेस्ट किया जा रहा है। महिलाओं संग होने वाले क्राइम की रोकथाम के लिए मीटिंग बुलाकर एसएसपी ने निर्देश जारी किया।

एसएसपी ने बुलाई एंटी रोमियो स्कवायड की मीटिंग

महिलाओं के साथ होने वाले अपराध को रोकने के लिए मंगलवार को एसएसपी ने एंटी रोमियो स्कवायड के प्रभारियों की मीटिंग बुलाई। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि हर हाल में पुलिस का प्रभाव नजर आना चाहिए। एसएसपी ने स्कूल-कॉलेज, चौराहे, मार्केट सहित अन्य प्रमुख स्थलों का सेलेक्शन करके शोहदों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया। एसएसपी ने चेताया कि ईव-टीजिंग की घटनाओं पर हर हाल में लगाम कसा जाए। बैठक में एसपी क्राइम अशोक कुमार वर्मा, महिला थाना प्रभारी सहित कई पुलिस अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

10 दिनों में पकड़े गए 12 आरोपी

जिले में महिलाओं के साथ होने वाले अपराध पर रोक नहीं लग पा रही है। रेप, छेड़छाड़ और उत्पीड़न की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। जून माह में 10 दिनों के भीतर 12 आरोपियों को अरेस्ट करके पुलिस ने जेल भेजा। इन सभी मामलों में अपहरण, रेप और पॉक्सो की शिकायतें सर्वाधिक हैं। इनमें से कुछ आरोपियों के खिलाफ पूर्व में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। हालांकि कई मामलों में पुलिस मुकदमे नहीं दर्ज करती। थानों और चौकियों पर सुलह-समझौते के आधार पर किसी तरह से इसे मैनेज करा दिया जाता है।

लावारिस हाल मिलती हैं डेड बॉडी

पुलिस से जुड़े लोगों का कहना है कि अपहरण और रेप के ज्यादातर मामलों में प्रेम संबंध होते हैं। परिजनों की सख्ती पर अक्सर लव ब‌र्ड्स घर से भाग जाते हैं। ऐसे में आरोपी युवक के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज होता है। बरामदगी के बाद पुलिस पीडि़त को कोर्ट में पेश करती है। लेकिन कई मामलों में पीडि़ता का सुराग पुलिस नहीं लगा पाती है। ऐसे में यह संभावना जताई जाती है कि लावारिस हाल मिलने वाली किशोरी या युवतियों की डेड बॉडी उनमें से किसी की होती है। नाजायज संबंधों के मामलों में बदनामी के डर से कई बार परिजन भी किसी की डेड बॉडी मिलने पर पहचान के लिए नहीं पहुंचते। यह भी होता है कि यहां से बहलाफुसलाकर बाहर ले जाकर उनका मर्डर कर दिया जाता है।

लावारिस हाल मिली डेडबॉडी

वर्ष डेड बॉडी

2019 04 अभी तक

2018 06

2017 05

2016 03

2015 04

हाल में पुलिस ने की इतनी गिरफ्तारी

11 जून 2019: तिवारीपुर एरिया में छेड़छाड़ और पॉक्सो एक्ट का आरोपित पकड़ा गया। गुलरिहा पुलिस ने अपहरण करके रेप, पॉक्सो में युवक को दबोचा। चौरीचौरा पुलिस ने भी किशेारी से रेप और छेड़छाड़ में अभियुक्त को पकड़ा।

10 जून 2019: राजघाट पुलिस ने रेप के आरोपी को गिरफ्तार करके जेल भेजा।

09 जून 2019: बांसगांव एरिया के मारपीट, जानमाल की धमकी देकर रेप करने का आरोपी पुलिस ने दबोचा।

08 जून 2019: झंगहा एरिया में छेड़खानी के मामले में पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया।

05 जून 2019: खोराबार एरिया में किशोरी से रेप का मुकदमा, आरोपित विजय मौर्य अरेस्ट।

05 जून 2019: सहजनवां में किशोरी से रेप का आरोपी अरेस्ट, उसके खिलाफ रेप, अपहरण का मुकदमा दर्ज था।

03 जून 2019: सहजनवां में किशोरी के अपहरण का आरोपी अरेस्ट। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज था।

02 जून 2019: गुलरिहा पुलिस ने रेप, पॉक्सो एक्ट में देवीलाल को अरेस्ट किया।

इन मामलों की आती शिकायत

छेड़छाडृ, रेप, अपहरण, मारपीट और जानमाल की धमकी

लव ब‌र्ड्स की शादी से मैनेज होता मामला

प्रेम संबंधों में अपहरण की शिकायत होने पर कई बार पुलिस मामला मैनेज करा देती है। पुलिस की तरफ से एक पहल होती है कि दोनों के बीच शादी करा दी जाए। रजामंदी होने पर पुलिस थाने में शादी कराकर दोनों के परिजनों को सुरक्षा की हिदायत देती है। गुलरिहा, गोला और गगहा सहित कई थाना क्षेत्रों में घर से भागे हुए लव ब‌र्ड्स की तलाश कराकर पुलिस आधा दर्जन शादियां करा चुकी है।

वर्जन

महिलाओं के साथ होने वाले अपराध की शिकायत पर गंभीरता से कार्रवाई की जा रही है। कोई सूचना मिलने पर तत्काल एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। रेप और अपहरण के मामलों में वांटेड अभियुक्तों की गिरफ्तारी में कोई लापरवाही नहीं बरती जाएगी। पब्लिक प्लेस, स्कूल-कॉलेज, कोचिंग सेंटर सहित अन्य जगहों पर ईव-टीजिंग सहित अन्य घटनाएं रोकने के लिए पुलिस का मूवमेंट बढ़ाया जाएगा। मीटिंग बुलाकर इसका निर्देश दिया गया है।

डॉ। सुनील गुप्ता, एसएसपी

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.