खतरें में मकानदुकान वाहन और बेटियां

2019-06-15T06:00:30+05:30

पिछले तीन साल में महिला अपराध, चोरी और वाहन चोरी की वारदातों में दोगुना की वृद्ध

पिछले छह माह में वाहन चोरी और घरों में चोरियों की आई बाढ़, छेड़खानी भी बढ़ी

VARANASI:

पिछले तीन साल में बाबा विश्वनाथ की नगरी में मकान-दुकान और वाहन तीनों पर खतरा बढ़ा है। मकान या दुकान बंद होते ही चोर सक्रिय हो जा रहे हैं तो वाहन से नजर हटते ही वह गायब हो जा रहा है। हद तो ये इस दौरान हमारी बेटी और बहुओं पर भी खतरा बढ़ा है। महिला अपराध का ग्राफ भी काफी बढ़ा है। इसे लेकर पिछले दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ ने मीटिंग में काफी नाराजगी भी जताई थी। इसके बाद से एडीजी, आईजी से लेकर एसएसपी तक सभी अपराध पर अंकुश के लिए प्रयास में जुट गए हैं, लेकिन हाल फिलहाल इसमें कमी आती नहीं दिख रही है।

लगातार बढ़ रहा अपराध

इस वर्ष जनवरी से मई तक वाहन चोरी की लगभग 495 और घर व दुकानों में लगभग 150 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। जबकि 2017 में इस समयावधि में वाहन चोरी की 258 व घरों में चोरी के 80 मुकदमे, 2018 में वाहन चोरी के 246 और घरों में चोरी के 66 मुकदमे दर्ज थे। इस लिहाज से देखा जाए तो पिछले तीन साल में चोरी की वारदातों में दोगुना की वृद्धि हुई हुई है।

महिलाएं भी हैं असुरक्षित

काशी में युवतियां और महिलाएं भी अपने को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। 2018 के पुलिस रिकार्ड में महिला उत्पीड़न की 493 शिकायतें पुलिस तक पहुंचीं थी। इसमें सिर्फ 81 मामले रेप के थे। कठोर नियम बनाने के बावजूद बेटियों, युवतियों और महिलाओं के साथ छेड़खानी की घटनाएं नहीं थमी और 217 शिकायतें दर्ज की गई। दहेज की बेदी पर 35 बेटियां चढ़ी थीं। 2019 में जनवरी से मई के बीच महिला उत्पीड़न के लगभग 229 मामले सामने आए हैं। जबकि हत्या व दहेज के 16, रेप 20, अपरहण 77 और छेड़खानी व चेन स्नेचिंग की 7 घटनाएं हुई हैं।

एसएसपी ने थानेदारों को चेताया

सीएम योगी आदित्यनाथ की मीटिंग के बाद से बनारस पुलिस विभाग में अपराध की रोकथाम को लेकर लगातार मीटिंग हो रही है। एडीजी जोन व आईजी रेंज भी लगातार इस पर रोकथाम के प्रयास में लगे हैं। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने थानेदारों को चेताया है कि काम नहीं करना है तो थाना छोड़ दें।

एक नजर 2018 के आंकड़े पर

653

वाहन चोरी की घटनाएं

198

घरों में चोरी

493

महिला उत्पीड़न

2019 जनवरी से मई तक के आंकड़े

495

वाहन चोरी की घटनाएं

150

घरों में चोरी की घटनाएं

229

महिला उत्पीड़न की घटनाएं

महिलाओं और छात्राओं की सुरक्षा को लेकर पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है। अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया जा रहा है। एसपी सिटी और एसपी रूरल सहित सभी सर्किल क्षेत्राधिकारियों को निर्देशित किया गया है।

आनंद कुलकर्णी, एसएसपी

inextlive from Varanasi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.