आगरा पुलिस से बचने को ऑटो चालक बन गया बदमाश

2018-10-23T05:41:28+05:30

एसपी ग्रामीण डॉ अखिलेश नरायण ने प्रेसवार्ता कर मामले का खुलासा किया।

agra@inext.co.in
AGRA : थाना जगनेर में बदमाशों ने दवा कारोबारी का अपहरण कर 70 लाख की फिरौती की मांग की थी। पुलिस ने इस मामले में 17 जून को दवा कारोबारी को मुक्त कराया और एक अपहर्ता को पकड़ा। इसी के बाद फरार आरोपितों की तलाश चल रही थी। पुलिस ने चार अपहर्ताओं को पकड़ा है जिसमें से दो मार्बल का काम व एक मुंबई में ऑटो चलाने लगा था। एसपी ग्रामीण डॉ. अखिलेश नरायण ने प्रेसवार्ता कर मामले का खुलासा किया।

इन बदमाशों को पकड़ा
पुलिस के मुताबिक पकड़े गए बदमाशों के नाम रामअवतार पुत्र करन सिंह निवासी नंद का पुरा थाना बसेड़ी, धौलपुर, राजस्थान, भूपेंद्र उर्फ भोला पुत्र महाराज सिंह निवासी सहरौन थाना बसई डांग, धौलपुर, अनिल गुर्जर पुत्र राजू गुर्जर, सुनील गुर्जर पुत्र राजू गुर्जर निवासीगण लालोनी
थाना कंचनपुर, धौलपुर राजस्थान बताए गए हैं। आरोपित जीतू मौके से फरार हो गया।
रात में किया था अपहरण
13 जून 2018 को जगनेर कस्बा से मेडिकल स्टोर स्वामी कपिल मंगल पुत्र महेश मंगल का रात में दवा लेने के बहाने अपहरण किया था। अपहर्ता उसे धौलपुर के बीहड़ में ले गए। वे उसे अलग-अलग स्थान पर रखते और मारते-पीटते थे। बदमाशों ने फिरौती के लिए 70 लाख की डिमांड की थी। पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान दवा कारोबारी को मुक्त कराया। पुलिस ने उस दौरान अपहर्ता दिनेश पंडित उर्फ पप्पू पुत्र शिव सिंह को अरेस्ट किया था।
खुलासा करने वाली पुलिस टीम
गैंग को पकडऩे वाली पुलिस टीम में इंस्पेक्टर थाना जगनेर मणिकांत शर्मा, इंस्पेक्टर एसओजी रवि त्यागी, एसआई सुनील कुमार त्रिपाठी, सत्येंद्र सिंह, संतोष कुमार, एचसीपी आदेश त्रिपाठी, कॉस्टेबल प्रशांत कुमार, करनवीर सिह, अजीत कुमार, हरगोविंद, विवेक कुमार, राजकुमार, हैड कॉस्टेबल देवेंद्र सिंह भदौरिया, राजेश कुमार, अरुण कुमार आदि हैं।
एक बदमाश से हाथ में आए तीन
पुलिस ने इस मामले में बदमाश बंटू को पकड़ लिया। पूछताछ में अन्य बदमाशों के ठिकाने का पता चल गया। पुलिस को पता चला कि फरार बदमाश किसी दूसरे अपहरण की योजना बना रहे हैं इससे पहले उन्हें पकड़ लिया। प्रेसवार्ता में एसपी ग्रामीण डॉ। अखिलेश नरायण ने बताया कि अपहरण के मास्टर माइंड बंटू और रामअवतार गुर्जर थे। बंटू दवा कारोबारी का पड़ोसी था। बंटू और रामअवतार अन्य राज्यों में मार्बल फिटिंग का काम करते थे। रामअवतार ने अपहरण करने के लिए अपने रिश्तेदार अनिल व उसके भाई सुनील व सुनील के दोस्त जीतू को व अपने मौसी के बेटे भूपेंद्र उर्फ भोला को तैयार किया था।

शादी में फोड़ेंगे पटाखे तो होगी जेल! बच्‍चे की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगी रिपोर्ट

सबरीमाला मंदिर : तनाव बरकरार-प्रशासन अलर्ट, जानें क्यों थी अब तक महिलाओं के प्रवेश पर रोक


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.