कानपुर में महिला डॉक्टर समेत दो से ठगी ठेकेदार से मारपीट व लूट में ईएसआई के 5 अफसर फंसे

2019-02-18T09:02:33+05:30

कानपुर में अपराध के दो अलग अलग मामले सामने आये हैं। एक जगह महिला डॉक्टर समेत दो लोगों को ठगा और दूसरी जगह ठेकेदार से मारपीट व लूट में ईएसआई के 5 अफसर फंस गए हैं।

kanpur@inext.co.in
KANPUR : स्वरूपनगर में डॉक्टर मोनिका मेहरौत्रा और राधिका थरड के साथ साइबर ठगी हो गई। साइबर ठगों ने डॉ। मोनिका के खाते से 6.73 लाख पार कर दिए। शातिरों ने यह रकम नेट बैकिंग के जरिए पार की है। राधिका के साथ 25 हजार की साइबर ठगी हुई है। उनके पास 16 फरवरी को अंजान नंबर से फोन आया था।

पासवर्ड ब्रेक किया

फोन करने वाले ने उनको बातों में फंसाकर डेबिट कार्ड की जानकारी और ओटीपी हासिल कर लिया। इसके बाद उनके खाते से पैसे पार कर दिए। मोबाइल पर मैसेज आने पर ठगी का पता चला। दोनों की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी। इंस्पेक्टर का कहना है कि डॉ।मोनिका के नेट बैकिंग का पासवर्ड ब्रेक कर रुपये पार होने का शक जताया है।

ठेकेदार से मारपीट व लूट

सर्वोदयनगर में ईएसआई ऑफिस में ठेकेदार के ऑफिस का ताला तोड़कर रुपये और पेपर चोरी करने का मामला सामने आया है। नौबस्ता केंद्रांचल कॉलोनी निवासी नीत कुमार ने बताया कि उनके पास ईएसआई ऑफिस के मेंटीनेंस का ठेका था।

धमकी देकर भगाया

15 जनवरी को उन्हें पता चला कि कैंपस स्थित उनके ऑफिस का ताला तोड़कर चोरी की जा रही है। वह ऑफिस पहुंचे तो देखा कि विभागीय अफसर मनवीत सिंह, निरंजन कुमार,
राजीव दीक्षित, केयर टेकर दीपक चतुर्वेदी और एकाउंट अफसर सिन्हा ऑफिस से निकल रहे हैं। नीत सिंह ने विरोध किया तो उन लोगों धमकी देकर भगा दिया। ऑफिस में रखे करीब 3.71 लाख रुपये भी पार कर दिया। नीत थाने में तहरीर देकर लौट रहे थे कि आरोपी अफसरों ने मारपीट कर 13, 500 रुपये लूट लिए। थाने में सुनवाई नहीं हुई तो कोर्ट में गए। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.