MillennialsSpeak जमशेदपुर में #RaajniTEA वादा करने वाली नहीं बल्कि उस पर अमल करने वाली हो सरकार

2019-03-24T09:25:26+05:30

JAMSHEDPUR: जुगसलाई बाजार (रेलवे फाटक के पास) दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की ओर से मिलेनियल्स स्पिक के तहत राजनी- टी का आयोजन किया गया। इसमें जुगसलाई के युवाओं ने स्किल डेवलेपमेंट पर पिछले पांच सालों में कितना हुआ है काम, क्या लोकसभा चुनाव में मुद्दा रहेगा? विषय पर अपनी बेबाक राय रखी। दैनिक जागरण- आई नेक्स्ट तथा सतमोला की प्रस्तुति राजनी- टी में चर्चा की शुरुआत करते हुए अनिल मोदी ने कहा प्रधानमंत्री स्किल डेवलेपमेंट योजना युवाओं के कौशल विकास प्रशिक्षण के लिए एक प्रमुख योजना है। इसके तहत पाठ्यक्रमों में सुधार, बेहतर शिक्षण और प्रशिक्षित शिक्षकों पर विशेष जोर दिया गया है। प्रशिक्षण में अन्य पहलुओं के साथ व्यवहार कुशलता और व्यवहार में परिवर्तन भी शामिल है। इसके अंतर्गत देश के लाखों युवाओं को विभिन्न उद्योगों से संबंधित स्किल ट्रेनिंग पाने का अवसर मिला है। इस योजना के अंतर्गत स्किल ट्रेनिंग पाने वाले युवाओं को सरकार द्वारा आर्थिक इनाम भी मिल रहा है। ट्रेनिंग खत्म होने पर इन युवाओं को सरकार की ओर से एक प्रमाणपत्र दिया रहा है, जो उन्हें रोजगार पाने और अपना भविष्य संवारने में मदद कर रहा है। हालांकि लोचन मंगोतीया का मानना अलग है। चर्चा को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि स्किल डेवलेपमेंट के नाम पर सरकार युवाओं को ठगने का कार्य कर रही है। योजना के तहत सरकार ने कई कार्यक्रम आयोजित कर सिर्फ पैसों की बर्बादी की है। इसके तहत युवाओं जो नौकरी भी मिल रही है, उसमें वेतन बहुत कम दिया जा रहा है। कहा कि मोदी सरकार स्किल इंडिया कार्यक्रम को लेकर बड़े- बड़े दावे कर रही है, लेकिन जमीनी स्तर पर वह फेल होता नजर आ रहा है। इसकी प्रमुख वजह है कि अधिकांश युवाओं को सरकार के प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी ही नहीं है। युवा वर्ग इससे काफी आहत है, जिसका खामियाजा इस बार के लोकसभा चुनाव में सरकार को भुगतना पड़ेगा.

युवाओं को मिला रोजगार
चर्चा के आगे बढ़ाते हुए हिमेंद्र जैन ने मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है कौशल विकास योजना। इसके तहत युवाओं को रोजगार मिल रहा है। सरकार की योजनाएं धरातल पर दिख रही है। पहले जो युवा नौकरी के लिए भटकते थे, उन्हें स्किल डेवलेपमेंट के तहत रोजगार मिला है। स्किल इंडिया के तहत कई योजनाएं चलाई जा रही है। जमशेदपुर के कई युवा इस योजनाओं से लाभांवित होकर अपनी जीविका चला रहे हैं। यह योजना पूरी तरह से धरातल पर उतरी है, आज का युवा वर्ग इस योजना से काफी प्रभावित है। इसका लाभ लोकसभा इलेक्शन में मौजूदा सरकार को जरूर मिलेगा.

महिलाओं को मिला सहारा
चर्चा के दौरान सोनू टीलावट ने कहा स्किल डेवलेपमेंट की तहत सरकार द्वारा जुलाई 2015 के बाद शुरू स्किल इंडिया मिशन के माध्यम से 35.56 लाख से अधिक महिलाओं को हुनरमंद बना कर उनके जीवन में बदलाव लाया गया है। स्किल इंडिया मिशन ने इन महिलाओं को हुनर सिखा कर बेहतर और सुरक्षित आजीविका में सक्षम बनाया गया है। इस मिशन के तहत सरकार महिलाओं की रोजगार क्षमता बढ़ाने, उन्हें आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने कार्य किया गया है। इससे आज महिलाएं आईटी, आईटीईएस, बैंकिंग एवं वित्तीय सेवाएं, कंस्ट्रक्शन, रियल एस्टेटं, शिक्षा व कौशल विकास सेवाएं, टेक्सटाईल, इलेक्ट्रॉनिक्स व आईटी हार्डवेयर, ब्यूटी एवं वैलनैस, हेल्थकेयर और रिटेल जैसे क्षेत्रों का प्रशिक्षण प्राप्त कर अपनी जीविका चला रही हैं.

ना मिला रोजगार ना जानकारी
चर्चा के दौरान सोनू टीलावट की बात का सुमित दूबे ने समर्थन नहीं किया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार स्किल इंडिया कार्यक्रम को लेकर बड़े- बड़े दावे कर रही है, लेकिन जमीनी स्तर पर यह योजना फेल होती नजर आ रही है। स्किल इंडिया के तहत युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही है। इतना ही नहीं अधिकांश युवाओं को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की जानकारी ही नहीं है। वहीं, सरकार स्किल इंडिया कार्यक्रम के तहत 2022 तक देश के 40 करोड़ लोगों को ट्रेनिंग देने की योजना बना रही है। हाल ही में जारी विश्व आर्थिक मंच और ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन की युवा भारत और रोजगार के नाम से जारी रिपोर्ट के मुताबिक सरकार की योजनाओं और युवाओं की आकाक्षाओं में जमीन- आसमान का अंतर है.

रोजगार देना है उद्देश्य
चर्चा को आगे बढ़ाते हुए पिंटू शर्मा ने कहा कि देश को विकसित करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत में करीब 40 करोड़ भारतीयों को विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत 2022 तक प्रशिक्षित करने के उद्देश्य से कुशल भारत कौशल भारत योजना की शुरुआत की। इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत के लोगों को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षित करके उनकी कार्य क्षमता को बढ़ावा देना है। मुख्य रूप से कौशल विकास योजना का उद्देश्य भारत के युवाओं के कौशल के विकास के लिये उन क्षेत्रों में अवसर प्रदान करना है जो कई वषरें से अविकसित है। इसके साथ ही साथ विकास करने के नये क्षेत्रों की पहचान करके उन्हें विकसित करने के प्रयास करना है.

सतमोला खाओ कुछ भी पचाओ
चर्चा के दौरान जुगसलाई ओवरब्रिज का मुद्दा उठा। मौके पर हिमेंद्र ने कहा आज जुगसलाई फाटक पर ओवरब्रिज तथा धालभूमढ़ एयरपोर्ट बनाया जा रहा है, उसमें भाजपा की सरकार का बहुमूल्य योगदान है। इसका खंडन करने हुए सुमित दूबे ने कहा ओवरब्रिज बनाना था, तो पहले ही इसकी शुरुआत करते। उन्होंने कहा कि यह महज एक चुनावी स्टंट है और कुछ नहीं.

मेरी बात
प्रधानमंत्री स्किल डेवलेपमेंट योजना युवाओं के कौशल प्रशिक्षण के लिए एक प्रमुख योजना है। प्रशिक्षण में अन्य पहलुओं के साथ व्यवहार कुशलता और व्यवहार में परिवर्तन भी शामिल है। इसके अंतर्गत देश के लाखों युवाओं को विभिन्न उद्योगों से संबंधित स्किल ट्रेनिंग पाने का अवसर मिला है। इस योजना के अंतर्गत स्किल ट्रेनिंग पाने वाले युवाओं को सरकार द्वारा आर्थिक इनाम भी मिल रहा है। ट्रेनिंग खत्म होने पर इन युवाओं को सरकार की ओर से सर्टिफिकेट देने के साथ- साथ उन्हें नौकरी दिलाने में भी मदद की जा रही है। लोकसभा चुनाव में सरकार को इसका फायदा मिलने के आसार हैं.

अनिल मोदी

कड़क मुद्दा
स्किल डेवलेपमेंट के नाम पर सरकार युवाओं को ठग रही है। इस योजना में सरकार ने सिर्फ पैसों की बर्बादी की है। इसके तहत युवाओं को जो नौकरी मिल रही है उसमें बहुत कम मेहनताना मिल रहा है। मोदी सरकार स्किल इंडिया कार्यक्रम को लेकर लाख दावे करे, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है। अधिकांश युवाओं को सरकार के प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी ही नहीं है। युवा वर्ग इससे काफी आहत है। इसका खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ेगा.

लोचन मंगोतीया

मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक कौशल विकास योजना। कौशल विकास के तहत लोगों को रोजगार मिल रहा है। मौजूदा सरकार में जितनी भी योजनाएं बनाई हैं, उसका काम धरातल पर देखने को मिल रहा है। जमशेदपुर के कई युवा इस योजनाओं से लाभांवित होकर अपनी जीविका चला रहे हैं.

हिमेंद्र जैन

स्किल इंडिया मिशन ने महिलाओं को हुनर सिखाकर बेहतर और सुरक्षित आजीविका में सक्षम बनाया गया है। इस मिशन के तहत सरकार महिलाओं की रोजगार क्षमता बढ़ाने, उन्हें आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने का कार्य किया गया है। इससे महिलाएं आईटी, आईटीईएस, बैंकिंग एवं वित्तीय सेवाएं, आदि क्षेत्रों का प्रशिक्षण प्राप्त कर अपनी जीविका चला रही हैं.

सोनू टीलावट

मोदी सरकार स्किल इंडिया कार्यक्रम को लेकर बड़े- बड़े दावे कर रही है, लेकिन जमीनी स्तर पर वह फेल होती नजर आ रही है। ट्रेनिंग के बाद युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही है। अधिकांश युवाओं को सरकार के प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी ही नहीं है.

सुमित दूबे

मुख्य रूप से कौशल विकास योजना का उद्देश्य भारत के युवाओं के कौशल के विकास के लिये उन क्षेत्रों में अवसर प्रदान करना है, जो कई वषरें से अविकसित है। इसके साथ ही साथ विकास करने के नये क्षेत्रों की पहचान करके उन्हें विकसित करने के प्रयास करना है.

पिंटू शर्मा

जो युवा पहले नौकरी के लिए भटकते थे, उन्हें स्किल डेवलेपमेंट के तहत रोजगार मिला है। सरकार ने आम युवाओं के सपनों को पंख दिया है। आनेवाले चुनाव में यह एक मुद्दा तो जरूर रहेगा.

शंकर सोनी

स्किल इंडिया के तहत कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। जमशेदपुर के कई युवा इस योजनाओं से लाभांवित होकर अपनी जीविका चला रहे हैं। यह योजना पूरी तरह से धरातल पर उतरी है। आज का युवा वर्ग इस योजना से काफी प्रभावित है। इसका लाभ लोकसभा इलेक्शन में मौजूदा सरकार को जरूर मिलेगा.

मदन मोहन

स्किल डेवलेपमेंट द्वारा आज युवा प्रशिक्षण पाकर स्व रोजगार कर रहे हैं या जॉब कर रहे है। मौजूदा सरकार ने युवाओं के लिए कुछ नया सोचा और उसे अमल में लाने की ठानी.

नरेश कुमार

देश को विकसित करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत में लगभग 40 करोड़ भारतीयों को विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत 2022 तक प्रशिक्षित करने के उद्देश्य से कुशल भारत कौशल भारत योजना की शुरुआत की। इसका फायदा मौजूदा सरकार को मिलेगा.

सचिन कुमार

इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत के लोगों को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षित करके उनकी कार्य क्षमता को बढ़ावा देना है। मुख्य रूप से कौशल विकास योजना का उद्देश्य भारत के युवाओं के कौशल के विकास के लिये उन क्षेत्रों में अवसर प्रदान करना है, जो कई वषरें से अविकसित हैं.

मुकेश राम

स्किल डेवलेपमेंट द्वारा आज युवा प्रशिक्षण प्राप्त कर नौकरी कर रहे हैं। जमशेदपुर के कई युवा इस योजनाओं से लाभांवित होकर अपनी जीविका चला रहे है। आनेवाले लोकसभा चुनाव में इसका फायदा सरकार मिलेगा.

रीतेश कुमार साहू

स्किल डेवलमेंट एक प्रमुख चुनावी मुद्दा रहेगा। स्किल डेवलेपमेंट के तहत जितने कार्य हुए हैं, आज धरातल पर दिख रहे हैं। लोकसभा इलेक्शन में सरकार को इसका फायदा मिलने के आसार बन रहे हैं.

अनिल कुमार

inextlive from Jamshedpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.