मुलायम को वोट न देने पर दलितों को जमकर पीटा बीएसएफ जवान ने शिकायत कराई दर्ज

2019-05-30T09:52:08+05:30

मैनपुरी में मुलायम को वोट न देने पर एससीएसटी की जमकर पिटाई। एसएसपी इटावा को मौके पर जाकर सुरक्षा इंतजाम करने के निर्देश दिए गए

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : पूर्व डीजीपी एवं उप्र एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष बृजलाल ने मैनपुरी में सपा प्रत्याशी मुलायम सिंह यादव को वोट न देने पर दलितों के साथ हुई मारपीट के मामले का संज्ञान लेते हुए कड़ा रुख अख्तियार किया है। उन्होंने एसएसपी मैनपुरी को निर्देश दिए हैं कि वे तत्काल खुद घटनास्थल पर जाकर एससी-एसटी की सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करें और आवश्यकतानुसार वहां कुछ दिन के लिए आर्म्स गार्ड की व्यवस्था की जाए ताकि भविष्य में ऐसी कोई अप्रिय घटना न हो सके। बताते चलें कि मैनपुरी में हुई इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर गठबंधन में रार शुरू होने से जुड़े मैसेज भी तेजी से प्रसारित हो रहे हैं।

कांग्रेस आज करेगी हार के कारणों पर मंथन, प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने बुलाई बैठक
जहरीली शराब से मरने वालों का आंकड़ा 20 पार 75 बीमार, छह की आंखों की गई रोशनी
बीएसएफ जवान ने बचाई अपनी जान
आयोग के संज्ञान में आया है कि मैनपुरी में मुलायम सिंह यादव को वोट न देने की वजह से नगला मांधता गांव के यादवों ने उनवा गांव के एससी-एसटी जाति के लोगों पर हमला बोल दिया। लाठी-डंडों से मारपीट के साथ हवाई फायरिंग भी की। इसमें महिलाओं समेत चार अन्य लोग घायल हुए है। इस गांव के एससी जाति के बीएसएफ जवान रिंकू उर्फ फौजी ने वहां से भागकर अपनी जान बचाई और थाने पर तहरीर दी है। आयोग के अध्यक्ष बृजलाल ने इसे बेहद संगीन मामला करार दिया है। इसका संज्ञान लेने के साथ आईपीसी की उचित धाराओं के साथ मतदान के पश्चात हिंसा और एससी-एसटी की कुछ खास धाराओं का उल्लेख करते हुए उसके तहत मुकदमा दर्ज करने का निर्देश एसएसपी मैनपुरी को दिया है।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.