मर्डर का आरोप क्रब से निकाली डेड बॉडी

2019-06-09T06:00:09+05:30

- पुराना गोरखपुर स्थित कब्रिस्तान में दफनाई गई थी डेड बॉडी

- ईद के दिन करंट लगने से हुई थी मौत, पुलिस को नहीं सूचना

GORAKHPUR: गोरखनाथ एरिया के पुराना गोरखनाथ स्थित कब्रिस्तान में दफन महिला की डेड बॉडी कब्र खोदकर निकाली गई। मौत की वजह जानने के लिए पुलिस ने डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। महिला के भाई ने ससुरालियों पर मर्डर का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी। सीओ गोरखनाथ मामले की विवेचना कर रहे हैं।

संदिग्ध हाल में हुई मौत, डेड बॉडी कर दी दफन

सहजनवां, साहबगंज निवासी अब्दुल हामिद सऊदी में रहते हैं। उनकी बेटी शाबिना खातून की शादी पुराना गोरखनाथ मोहल्ले के अशफाक उर्फ बबलू संग करीब डेढ़ साल पूर्व हुई थी। ईद के दिन शाबिना अपने घर में कुछ काम कर रही थी तभी करंट की चपेट में आने से वह झुलस गई। परिजन उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। डॉक्टरों ने डेड बताते हुए लौटा दिया। बिना पुलिस को सूचना दिए परिजनों ने उसकी डेड बॉडी को सुपुर्दे खाक कर दिया। बहन के मौत की सूचना पर पहुंचे भाई रफीक ने गोरखनाथ पुलिस को दहेज हत्या की सूचना दी। आरोप लगाया कि शादी के बाद से अशफाक उनकी बहन को पीटकर दहेज मांगते थे। दोनों पक्षों में कई बार सुलह-समझौता भी हुआ था। भाई ने आशंका जताई कि पीटकर उसके बहन की जान ली गई।

मुकदमा दर्ज कर पुलिस कर रही छानबीन

भाई की तहरीर पर गोरखनाथ पुलिस ने शाबिना खातून के पति अशफाक अहमद उर्फ बबलू, सास और जेठानी के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की रिपोर्ट सीओ ने डीएम और सिटी मजिस्ट्रेट को दी। मजिस्ट्रेट के आदेश पर शनिवार को डेड बॉडी निकाली गई। तीन भाई और चार बहनों में शबीना सबसे छोटी थी। उसके बड़े भाई रफीक रेलवे में इंजीनियर हैं। उनकी तैनाती काठगोदाम, नैनीताल में है। शाबिना सात माह के असद उर्फ अर्श हुसैन के बच्चे की मां थी। शबीना का पति अशफाक अहमद चक्सा एमआर है। मोहल्ले में उसका मेडिकल स्टोर भी है।

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.