मदुरै एक्सप्रेस ट्रेन में डकैती

2019-03-17T06:00:41+05:30

- आधी रात हिंडन ब्रिज पर चेन पुलिंग कर जंगल में रोकी गई ट्रेन

- चाकू की नोक पर स्लीपर की तीन बोगियों में 25 यात्रियों से लूटपाट

- मास्क लगाए चार बदमाश देखे गए, अन्य के भी होने की आशंका

देहरादून

देहरादून आ रही मदुरै- देहरादून सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन में फ्राइड- सैटरेड की मिड नाइट डकैती पड़ गई। रुड़की से 10 किमी दूर हिंडन पुल के पास चेन पुलिंग कर ट्रेन रोककर मास्क लगाए बदमाशों ने चाकू की नोक पर स्लीपर की तीन बोगियों में करीब दो दर्जन यात्रियों से 52 मिनट तक जमकर लूटपाट की। फिर ट्रेन से उतर कर जंगल में भाग गए। इस बीच किसी यात्री ने डॉयल 100 कॉल किया, तो सहारनपुर पुलिस पीछे आ रही किसान एक्सप्रेस पकड़कर मौके पर पहुंची। देहरादून की एक महिला और ग्राफिक ऐरा यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली महाराष्ट्र की छात्रा के पिता भी बदमाशों के शिकार हो गए। उन्होंने देहरादून पहुंचकर जीआरपी थाने में तहरीर दी। कुछ यात्रियों ने लक्सर और कुछ ने हरिद्वार में तहरीर दी। जहां ट्रेन रोककर लूटपाट की गई वह एरिया सहारनपुर की सीमा में आता है। ऐसे में सभी शिकायतें सहारनपुर जीआरपी थाने को भेज दी गई। तहरीर में एक बोगी में 4 बदमाश देखे जाने पर फिलहाल लूट की एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस को किसी जरायमपेशा संगठित गिरोह पर वारदात करने का संदेह है.

वारदात मिडनाइट 2:13 मिनट पर हुई। सहारनपुर से रवाना होकर मदुरै एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 12687 के हिंडन नदी के पुल से गुजरते ही चेन पुलिंग हो गई। रूकते ही बदमाश स्लीपर बोगी एस- 3 में बदमाश चढ़े और चाकू की नोक पर यात्रियों को डराते- धमकाते हुए लूटने लगे। वहां से एस- 2 और फिर एस- 1 तक करीब 25 से अधिक यात्रियों से ज्वैलरी, कैश और सामान लूटकर बदमाश एस- 1 से निकलकर भाग गए। लिए। देहरादून जीआरपी पर तहरीर देने वाले एक यात्री ने बताया कि वह एस- 3 बोगी में था। बोगी में चार बदमाश लूटपाट कर रहे थे। चेन पुलिंग करने वाले सहित बाहर भी निगरानी के लिए अन्य बदमाश खड़े होंगे। ऐसे में बदमाशों की संख्या आधा दर्जन से अधिक हो सकती है। मौके पर उत्तराखंड़ और उत्तरप्रदेश पुलिस के अफसर पहुंचे,दून से एसटीएफ की टीम भी भेजी गई है। ट्रेन करीब दो घंटे देरी से देहरादून पहुंची.

52 मिनट तक चला दहशत का नंगा नाच:

ट्रेन रात 2:13 बजे रोकी गई थी। तब से 3:05 मिनट तक बदमाश लूटपाट करने के बाद कूद कर खेतों में भाग गए। कई यात्रियों से मारपीट भी की गई। वारदात के बाद सबसे पहले सहारनपुर पुलिस मौके पर पहुंची,ट्रेन को रवाना करा लक्सर लाया गया, लक्सर में यात्रियों से पूछताछ और शिकायतें ली गई।

अस्थिकलश तक ले गए: साउथ से एक परिवार अस्थियां लेकर हरिद्वार आ रहा था। सोने का समझकर बदमाश उनका अस्थिकलश तक छीन ले गए। परिवार के सदस्य काफी रोए- गिड़गिड़ाए कि कलश सोने का नहीं है, लेकिन बदमाशों ने उनकी एक नहीं सुनी, मारपीट भी की.

इन यात्रियों ने दर्ज कराई पुलिस में कप्लेन:

गजेन्द्र उर्फ गजानंद, निवासी वर्धा महाराष्ट्र ने सोने की अंगूठी

मुन्नवर सुल्ताना, निवासी पटेल नगर देहरादून ने सोने की चेन,

निशा निवासी,ऋषिकेश ने ज्वैलरी और कैश

आईआईटी रूड़की के कर्मचारी के। कुमार, ने सोने की चेन,30 हजार रुपए, एलईडी टीवी और एटीएम कार्ड व अन्य आईडेंटिटी डॉक्यूमेंट छीन की शिकायत दर्ज कराई है। तेलंगाना निवासी गोवर्धन,ज्योति और उषा, होशंगाबाद निवासी सुंदरबाई और मदुरै निवासी मल्लिका ने भी कंप्लेन की.

इंपोर्टेट फैक्टस:

मदुरै एक्सप्रेस तीसरी बार निशाना: मदुरै एक्सप्रेस में तीसरी बार दून के आसपास लूटपाट की वारदात हुई है .

ट्रेन में नहीं थी पुलिस: ट्रेन में गाजियाबाद से आरपीएफ के जवान चढ़े थे, जो सहारनपुर में उतर गए। इसके बाद ट्रेन में पुलिस नहीं थी

प्लानिंग से डकैती: बदमाशों के कुछ साथी सहारनपुर से स्लीपर में चढ़े,हिंडन पुल से ट्रेन गुजरने पर धड़धड़ाहट से वारदात की जगह चिन्हित की गई। ज्योंहि ट्रेन पुल से गुजरी, बदमाशों ने चेन पुलिंग की। खेतों में ट्रेन रूकी तो वहां खड़े अन्य बदमाश ट्रेन की स्लीपर बोगियों में घुसे और लूटपाट की फरार हो गए.

- - - - - - - - - - - - - - - - -

- दो यात्रियों ने देहरादून पहुंचकर ट्रेन में लूट की तहरीर लिखाई है। एसएसपी जीआरपी के साथ मौके का विजिट किया,वारदात सहारनपुर एरिया में हुई थी, तहरीर वहां भेज दी, बदमाशों की तलाश में सहयोग कर रहे हैं.

दिनेश कुमार , जीआरपी इंचार्ज देहरादून

- करीब 7 यात्रियों ने ज्वैलरी कैश चोरी होने की रिपोर्ट लिखाई है। मौके पर बदमाशों से जुड़े अहम साक्ष्य मिले हैं,तलाश जारी है.

राशिद अली, जीआरपी इंचार्ज,सहारनपुर

inextlive from Dehradun News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.