डीजीपी ऑफिस के 250 कदमों की दूरी पर चालीस लाख की चोरी

2018-09-12T12:01:40+05:30

- कृषि विभाग की डिप्टी डायरेक्टर के मकान का ताला तोड़ दिन दहाड़े चोरी

- लॉकर से 40 लाख की ज्वैलरी और 30 हजार कैश चुरा ले गए चोर

- डॉग स्क्वॉयड कॉलोनी के मेंटीनेंस ऑफिस तक पहुंचा

LUCKNOW: डीजीपी ऑफिस के पास अति सुरक्षित मानी जाने वाली सरकारी कॉलोनी में दिन दहाड़े लाखों की चोरी हो गई। पुलिस के सबसे बड़े अफसर के ऑफिस और आवास से महज 250 कदमों की दूरी पर स्थित कृषि विभाग की डिप्टी डायरेक्टर के सरकारी मकान का ताला तोड़ चोर करीब 40 लाख रुपये की ज्वैलरी और 30 हजार कैश चुरा ले गए। चोरी की सूचना पर पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। डिप्टी डायरेक्टर की सूचना पर हजरतगंज पुलिस मौके पर पहुंची। डॉग स्क्वॉयड और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट की टीम ने भी मौके पर जांच पड़ताल की। डॉग स्क्वॉयड कॉलोनी के पीछे स्थित मेंटीनेंस ऑफिस पर जाकर रूक गया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

दोपहर 11 से 1 बजे के बीच हुई चोरी

डालीबाग अफसर कॉलोनी में कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डॉ। शोभा श्रीवास्तव परिवार के साथ रहती हैं। उनके पति रमेश श्रीवास्तव बीकेटी स्थित राजकीय हाई स्कूल में प्रिसिंपल हैं और बेटा मनीष बस्ती में बैंक पीओ है जबकि बेटी प्रज्ञा गुजरात में लॉ की स्टूडेंट है। डॉ। शोभा ने बताया कि उनके पति सुबह 7 बजे चले जाते हैं और वह 10 बजे ऑफिस जाती हैं। मंगलवार सुबह सुबह 10 बजे ड्राइवर वीरू के साथ ऑफिस गई थीं। दोपहर 1.15 बजे लंच के लिए घर आई। तीसरी मंजिल स्थित मकान के मेन गेट के बाहर का ताला टूटा देख वह दंग रह गई.

लॉकर तोड़ उड़ाई ज्वैलरी और कैश

डिप्टी डायरेक्टर डॉ। शोभा ने बताया कि चोर मेन गेट का ताला तोड़ अंदर दाखिल हुए। इसके बाद इंट्रेस गेट का ताला और कुंडी तोड़ी। अंदर दाखिल होने के बाद वह बेडरूम में पहुंचे जहां दो अलमारी रखी थी। चोरों ने अलमारी के लॉकर को तोड़ उसमें रखी करीब चालीस लाख रुपये की ज्वैलरी और तीस हजार कैश चुरा लिया। चोरों ने स्टोर में रखे दो पर्स की भी तलाशी ली। चोरों ने अलमारी में रखे किसी महंगे सामान को हाथ नहीं लगाया। वह केवल ज्वैलरी और कैश ही अपने साथ समेट कर ले गए। डॉ। शोभा ने बताया कि सोने, चांदी और डायमंड की ज्वैलरी थी, जिसे वह लॉकर में रखने वाली थी, लेकिन व्यस्तता के चलते वह बैंक नहीं जा पा रही थी.

मेंटीनेंस ऑफिस तक गया स्नेफर डॉग

डिप्टी डायरेक्टर ने चोरी की सूचना दोपहर करीब 1.30 बजे 100 नंबर पर पुलिस को दी। इसके बाद उन्होंने अपने ऑफिस और पति को जानकारी दी। डीजीपी ऑफिस के पास चोरी की सूचना पर डालीबाग पुलिस चौकी और हजरतगंज थाने की पुलिस पहुंच गई। जांच पड़ताल के लिए डॉग स्क्वॉयड और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को मौके पर बुलाया गया। डॉग स्क्वॉयड सरकारी आवास के पीछे स्थित मेंटीनेंस ऑफिस तक गया।

अफसर कॉलोनी और कैमरा एक भी नहीं

डालीबाग स्थित अफसर कॉलोनी की सुरक्षा भगवान भरोसे है। डॉ। शोभा के सरकारी आवास की सबसे नीचे फ्लोर पर स्थित सरकारी आवास पर एक प्राइवेट सीसीटीवी कैमरा लगा है, लेकिन जांच में वह कैमरा खराब निकला। वहीं कॉलोनी में आस- पास एक भी सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है.

खट पट की आवाज ने उलझाया

सरकारी आवास के आस- पास के लोगों ने बताया कि पीछे मेंटीनेंस ऑफिस है और वहीं एक अपार्टमेंट भी बन रहा है। जहां हर वक्त खट पट की आवाज आती है। मकान का ताला और कुंडी टूटने की आवाज पर उन लोगों ने नजर अंदाज कर दिया था। बताया जा रहा है कि जिस समय वारदात को अंजाम दिया गया है उस समय महज सौ कदमों की दूरी पर स्थित कैंटीन में कई पुलिसकर्मी मौजूद थे। कॉलोनी में मेंटीनेंस का भी काम चल रहा था.

चिराग तले अंधेरा, खड़े हुए सवाल

डीजीपी ऑफिस से 250 कदम और वीआईपी गेस्ट हाउस के सामने अफसर कॉलोनी में चोरी ने हजरतगंज पुलिस की गश्त पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं। दिन दहाड़े चोरी की वारदात को अंजाम देकर चोर फरार हो गए जबकि आवास से निकले के लिए दो ही रास्ते हैं पहला डीजीपी ऑफिस से होकर दूसरा वीआईपी गेस्ट हाउस की से। अफसर कॉलोनी में कई बड़े अधिकारियों का भी आवास है। वहीं वीवीआईपी इलाके में चोरी की वारदात ने सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिये हैं।

वर्जन

डिप्टी डायरेक्टर के यहां चोरी की सूचना पर डॉग स्क्वॉयड और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को मौके पर बुलाकर जांच की गई। उन्होंने चोरी की रकम की अभी कोई लिस्ट नहीं दी है। आस- पास लगे सीसीटीवी कैमरे और कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है

अभय कुमार मिश्रा, सीओ हजरतगंज

inextlive from Lucknow News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.