कुंभ मेले पर आतंकी साया! डीजीपी ने सतर्क रहने को कहा

2018-12-02T11:59:00+05:30

संगम की रेती पर लगने वाले कुंभ मेला के दौरान आतंकी बड़ी साजिश को अंजाम दे सकते हैं। पुलिस के अलावा अन्य एजेंसियां भी सर्तक हैं। आपको भी चैतन्य रहने की जरूरत है। वेरीफिकेशन में कोई लापरवाही न करें। प्रत्येक संदिग्ध गतिविधियों वाले व्यक्ति को ट्रैक करें।

allahabad@inext.co.in
ALLAHABAD: एक दिवसीय दौरे पर शनिवार को प्रयागराज के दौरे पर आये डीजीपी ओपी सिंह ने एसएसपी कुंभ मेला कार्यालय का शुभारम्भ करने के बाद विभागीय अफसरों से मुखातिब होते हुए ये बातें कहीं। मीडिया से बात करते हुए कहा कि कुंभ को सकुशल संपन्न कराना बड़ी चुनौती है। मेला में एटीएस, एसटीएफ, कमांडों के अलावा कई बड़ी एजेंसियों को लगाया जा रहा है।
37 घाट से नहीं चलेगी नाव
उन्होंने यह भी बताया कि इस बार मेला क्षेत्र में बने 41 घाटों में से 37 पर नाव नहीं चलेगी। इस बार सभी अखाड़ा गंगापार एरिया में लग रहे हैं। स्नान पर्व पर भीड़ एकत्र न हो इसके लिए विशेष प्रबंध किया जा रहा है। बैठक में एडीजी एसएन साबत, आईजी मोहित अग्रवाल, एसएसपी कुंभ मेला कवीन्द्र प्रताप सिंह, एसएसपी नितिन तिवारी, सुरक्षा अधिकारी आशुतोष मिश्रा, आईपीएस सुकीर्ति माधव समेत अन्य अफसर मौजूद रहे।

पांच दिसंबर से तीसरा चरण

डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि इस बार कुंभ पुलिस विभाग के लिए एक बड़ा चैलेंज है। मेला पर आतंकियों की नजर है। इसे देखते हुए दस हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। दो चरण का पुलिस प्रशिक्षण समाप्त हो चुका है। पांच दिसम्बर से तीसरे चरण की शुरूआत हो जाएगी। मेला को व्यवसायिक दक्षता के साथ ही डिजिटल किया गया है। इसके अलावा गजटेड व नान गजटेड आफिसर के लिए हास्टल का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। बताया कि मेला में आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए यातायात विभाग को दस दिसम्बर तक क्राउड मैनेजमेंट मैनेज करने के लिए खाका तैयार करने का समय दिया गया है।
गई है एटीएस की तैनाती
डीजीपी ने बताया कि एटीएस समेत कई बड़ी एजेंसियों को लगा दिया गया है। वे संदिग्धों की हर गतिविधि पर नजर रख रहे हैं। जल्द ही सेना को जोड़कर स्पेशल प्रशिक्षण पुलिस कर्मियों को दिया जाएगा। सोशल मीडिया सेल का शुभारम्भ सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 15 दिसम्बर तक सभी काम पूरे कर लें क्योंकि इसके बाद 194 देशों के लोग यहां आएंगे।

एक पखवारे में बदल जाएगा प्रयागराज

कुंभ के दौरान उद्योग बंद करने के लिए रोस्टर जारी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.