सरकारी दफ्तरों में गंदे पानी से आदर

2019-06-09T06:00:32+05:30

जमशेदपुर। स्टील सिटी के सरकारी दफ्तरों में लगी पानी की टंकियों में ढक्कन और नियमित सफाई न होने से पानी में बाहर की गंदगी और काई जमा हो गई है। इन्ही टंकियों का पानी कार्यालय में आने वाले फरियादी, मरीज और कर्मचारी पी रहे है। ताज्जुब की बात है जहां एक ओर अधिकारी लोगों को साफ स्वच्छ रहने और दूषित पानी न पीने की सलाह देते है, लेकिन आने ही कार्यालय की व्यवस्था पर उनका कोई ध्यान नहीं है। दैनिक जागरण आईनेक्स्ट के रिपोर्टर प्रतीक पियूष ने शहर के सरकारी कार्यालयों में लगी पानी की व्यवस्था देखी तो चौकाने वाले तथ्य मिले। रिपोर्टर ने शहर के डीसी आफिस, एसएसपी आफिस, एमजीएम और जेएनएसी कार्यालय की टंकियों और पानी की व्यवस्था देखी जो कि बेहद दयनीय मिली। बाताते चले कि जहां जिले के आला अफसर बोतल बंद पानी पीते है वहीं कर्मचारी और आम आदमी खुले ढक्कन वाला दूषित पानी पी रहे है। चारों कार्यालयों में कहीं पर भी आरओ फिल्टर नहीं मिला।

डीसी आफिस में खुली मिली टंकी

शहर के सबसे बड़े और महत्वपूर्ण कार्यालय की छत पर कुल 11 टंकियों में सात के ढक्कन खुले मिले। डीसी आफिस में आरओ और वाटर कूलर न लगा होने से फरियादी इस गर्मी में गर्म पानी पी रहे है। बताते कि अधिकारी बोतल का पानी पी रहे है। बता दे कि शहर के डीसी आफिस में लगभग सारे विभागों के आफिस है, जहां हर दिन हजारों की संख्या में लोग काम कराने आते है, ऐसे में दूषित पानी पीकर लोग बीमार पड़ सकते है। इस संबंध पर डीसी साहब से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उनका फोन नहीं लगा।

एमजीएम अस्पातल में काई लगी मिली टंकियां

कोल्हान के एक मात्र सरकारी अस्पताल एमजीएम मे मरीज काई लगा पानी पी रहे है। एमजीएम के डाक्टर और प्रभारी बोतलबंद पानी पी रहे है, जबकि आम लोगों को बिन आरओ और वाटर कूलर के दूषित और गरम पानी पिलाया जा रहा है। बताते चले कि एमजीएम में 560 बेड के साथ ही हर दिन हजारों की संख्या में ओपीडी में मरीज आते है। जो यहीं गंदा पाते है वहीं इन रोगियों के साथ ही उनके तीमार दार भी यहीं गंदा पानी पी रहे है। इस संबंध में जब एमजीएम सुपरिटेडेंट डा। अरुण कुमार से बात की गई तो उन्होंने सिक्योरिटी गार्ड न होने की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया। लेकिन इस तरह दूषित पानी पीने से लोग बीमार पड़ सकते है।

एसएसपी आफिस में भी खुली मिली पानी की टंकियां

जिले के एसएसपी आफिस में भी इसकी पड़ताल की गई तो टंकियों के ढक्कन ही गायब मिले। बताते चले कि जिले भरके थानों में फरियाद न सुनने पर लोग एसएसपी आफिस में अपनी फरियाद लेकर आते है कार्यालय में पानी सीधे वाटर कूलर में जाता है। इस संबंध में एसएसपी अनूप बिरथरे ने कहा कि जानकारी नहीं है टंकियों के ढक्कर खुले है तो यह गलत है, शनिवार सुबह सभी टंकियों की सफाई कराकर नये ढक्कन लगाये जाएंगे।

पानी से होते है पीलिया जैसे रोग

सिविल सर्जन माहेश्वर प्रसाद ने बताया कि पानी दूषित है तो कई बीमारियां हो सकती है। जिनमें से हैजा, टाइफइड, पेचिश जैसी बीमारीयां आसानी से किसी को भी अपना शिकार बना सकती है इसके अलावा गंदा पानी पीने से वायरल इंफेक्शन भी हो सकता है वायरल इंफेक्शन के कारण हेपेटाइटिस ए फलू काँलरा टायफाइड और पीलिया जैसी खतरनाक बीमारियां होती है।

inextlive from Jamshedpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.