आज ही हुई थी रेडियम की खोज जिसने कैंसर का इलाज बना दिया आसान

2018-12-21T08:52:55+05:30

मैरी क्यूरी और उनके पति पियरे क्यूरी ने 21 दिसंबर 1898 को रेडियम की खोज की। आइये इसके बारे में कुछ खास बातें जानें।

कानपुर। अंधेरे में उजाला फैलाने एवं मेडिकल क्षेत्र में क्रांति लाने वाले रेडियम की खोज इतिहास में आज ही के दिन हुई थी। नोबल प्राइज की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, 21 दिसंबर, 1898 को मैरी स्क्लाडोवका क्यूरी ने अपने पति पियरे क्यूरी के साथ मिलकर रेडियम की खोज की थी। रेडियम ने उस दौर में कैंसर का इलाज आसान बना दिया। रेडियम आमतौर पर रेडियम क्लोराइड या रेडियम ब्रोमाइड के रूप में होता है, जिसका उपयोग दवा में रेडॉन गैस का उत्पादन करने के लिए किया जाता है और यह कैंसर के उपचार को बहुत ही आसान बना देता है। बता दें कि कैंसर की इलाज के लिए दवाओं में आज भी रेडियम का उपयोग किया जाता है। रेडियम एक धातु है, जो नमक के समान दिखता है लेकिन चमकता है। खास बात यह है कि रेडियम धरती पर बहुत कम मात्रा में ही पाया जाता है। वायर न्यूज के मुताबिक, जब मैरी और उनके पति यूरेनियम का अध्ययन कर रहे थे, तभी उन्हें यूरेनियम में से काफी ज्यादा मात्रा में एक अलग तरह की रेज निकलती हुई दिखीं, ये देखकर उन्हें पता चल गया कि इन रेज का अभी तक खोज नहीं किया गया है।
विज्ञान के दो शाखा में मिला नोबेल
इसके बाद मैरी और उनके पति ने जब यूरेनियम में से उस रेज को अलग करके उसपर जांच पड़ताल शुरू की तो उन्हें पीरिऑडिक टेबल के लिए दो नायाब तत्व मिलें। इसमें से एक तत्व का नाम उन्होंने अपने देश पोलैंड के ऊपर पॉलोनियम रखा और दूसरे का नाम 'रेडियम' रखा क्योंकि यह पॉलोनियम से काफी पॉवरफुल था। इसी तरह दुनिया में रेडियम की खोज हुई। 1903 में मैरी और पियरे को रेडियोऐक्टिविटी के लिए फिजिक्स का नोबेल और 1911 में मैरी को पॉलोनियम -रेडियम के लिए केमिस्ट्री का नोबेल मिला था। विज्ञान की दो शाखाओं में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित होने वाली मैरी पहली वैज्ञानिक हैं।
कैंसर से हुआ था निधन
बता दें कि दुनिया की फेमस वैज्ञानिक मैरी क्यूरी का जन्म पोलैंड के वर्षाव में 7 नवंबर, 1867 को हुआ था। उनके माता-पिता दोनों ही अध्यापक थे। कहा जाता है कि मैरी पढ़ाई में काफी तेज थीं। 4 जुलाई, 1934 को 67 वर्ष की उम्र में कैंसर से मैरी का निधन हो गया था।

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत को कहा 'सच्चा दोस्त'

गुप्त तरीके से यूजर्स का डेटा बेचने के लिए इटली ने फेसबुक पर लगाया 81 करोड़ रुपये का जुर्माना


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.