आपको अपराधी बना सकती है एक अश्लील पोस्ट

2019-04-04T08:56:51+05:30

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट से रहे सावधान

- हनीट्रैप के शहर में आ चुके हैं कई मामले

agra@inext.co.in
AGRA:
अगर आप सोशल मीडिया पर हैं और आपकी प्रोफाइल पर कोई अश्लील पोस्ट आती है तो उसे तुरंत डिलीट कर दें। अपने पास सुरक्षित न करें, अन्यथा आप भी अपराधियों की श्रेणी में आ जाएंगे। अश्लील पोस्ट को शेयर करना भी अपराध है। अपने मोबाइल और लैपटॉप में इस तरह का डेटा रखना खतरे से खाली नहीं है।

सुरक्षित न करें अश्लील पोस्ट
साइबर एक्सपर्ट अनुज अग्रवाल के मुताबिक यदि आपके पास कोई अज्ञात अश्लील पोस्ट भेजता है या फिर मैसेंजर से मैसेज भेजता है तो सतर्क हो जाएं। अगर आपने उस पोस्ट को अपने पास सुरक्षित कर लिया या फिर उसको कहीं और शेयर कर दिया तो आप भी भेजने वाले के बराबर अपराधी माने जाएंगे। अपने मोबाइल और लैपटॉप में कभी भी आपत्तिजनक पोस्ट को सुरक्षित नहीं करना चाहिए।

तीन से पांच साल की हो सकती है सजा
साइबर एक्सपर्ट के मुताबिक पोस्ट को शेयर, सेव, सेल, डिस्प्ले करना अपराध है। इस तरह की पोस्ट को डाउनलोड करना भी अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसे मामलों में 66 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हो सकता है, जिसमें 3 से 5 साल तक की सजा का प्रावधान है। अगर मामला नाबालिग से जुड़ा है तो 66बी में मुकदमा दर्ज हो जायेगा, जिसमें सात साल की सजा का नियम है। इसके अलावा किसी की बॉडी के प्राइवेट पार्ट के फोटो को बिना उसकी मर्जी के ट्रांसफर और शेयर करना 66ई के अपराध में आता है। इसमें भी तीन साल की सजा दी जा सकती है।

हनी ट्रैप के आए हैं दो मामले
सिटी में हनीट्रैप के दो मामले आ चुके हैं। कमला नगर के व्यापारी के साथ घटना हुई। व्यापारी ने अपने अश्लील फोटो व्हाट्सअप पर शेयर किए थे। बाद में उसके फोटो को वायरल करने की धमकी दी गई, जिसके बाद उसने 50 हजार रुपये एकाउंट में जमा कराए। दूसरा मामला बीएसएनएल अधिकारी से जुड़ा है। इनके फेसबुक पर रिक्वेस्ट आई थी। इन्होने कुछ दिन चैटिंग के बाद अपने उत्तेजक फोटो भेजे। इसके बाद 20 हजार रुपये जमा कराने की धमकी दी गई।

क्या करें, क्या न करें

किसी भी अश्लील पोस्ट को डाउनलोड न करें।

मोबाइल गैलरी या लैपटॉप में रखे आपत्तिजनक फोटो तुरंत डिलीट करें।

किसी भी आपत्तिजनक पोस्ट को सेल, शेयर न करें।

चाइल्ड पोनोग्राफी से हमेशा दूर रहें। न डाउनलोड करें, न किसी को ट्रांसफर करें

किसी भी अज्ञात रिक्वेस्ट को असेप्ट न करें

रिक्वेस्ट भेजने वाले की प्रोफाइल को ब्लॉक कर दें

लगातार रिक्वेस्ट आने पर पुलिस को सूचना दें

यदि किसी ने आपत्तिजनक पोस्ट को सेव किया है तो उस पर कार्रवाई का प्रावधान है। यदि कोई आपत्ति दर्ज कराता है तो निश्चित कार्रवाई की जाती है। साथ ही 18 साल से कम आयु के मामलों में तुरंत कार्रवाई है। चाहे कोई शिकायत करे या न करे।
- राजेश कुमार सोनकर, एसपी क्राइम

किसी भी कारण में आपके लैपटॉप और मोबाइल की जांच होती है और उसमें अश्लील सामग्री मिलती है तो आप अपराधी की श्रेणी में आ जाएंगे। विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जा सकता है। किसी भी अश्लील फोटो को सेव न करें और न ही किसी को शेयर करें।
- अनुज अग्रवाल, साइबर एक्सपर्ट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.